कृषि अध्यादेश से किसानों को होगा नुकसान, बड़े-बड़े पूंजीपतियों को फायदा: अशोक तंवर

कृषि अध्यादेशों पर अशोक तंवर ने कही ये बात
कृषि अध्यादेशों पर अशोक तंवर ने कही ये बात

अशोक तंवर (Ashok Tanwar) ने विपक्ष पर भी साधा निशाना, कहा- किसानों (Farmers) के पक्ष में एक साथ खड़ा नहीं हो रहा विपक्ष.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 23, 2020, 10:22 AM IST
  • Share this:
सिरसा. केंद्र सरकार द्वारा लाये  गए कृषि अध्यादेश  MSP ख़त्म करने की एक प्रकिर्या है और इससे और किसानों को नुकसान होगा और बड़े बड़े पूंजीपतियों  को फायदा होगा. ये कहना है कांग्रेस के पूर्व संसाद अशोक तंवर (Ashok Tanwar) का. अशोक तंवर मंगलवार को सिरसा के लघु सचिवालय के बाहर पिछले 15 दिनों से अपनी मांगो  को लेकर धरने पर बैठे किसानों (Farmers) को अपना समर्थन देने पहुंचे थे. साथ ही अशोक तंवर ने मोदी सरकार पर फूट डालो और राज करने की नीति पर काम करने का आरोप भी लगाया.

साथ ही तंवर ने कहा कि जिस जिस को लगता है कि किसानों के साथ गलत हुआ है उन सबको इस्तीफा देना चाहिए. अशोक तंवर ने कहा कि केंद्र सरकार हो या प्रदेश की खट्टर सरकार हो दोनों ही सरकार अहंकारी हो चुकी है और इसे किसी का डर  नहीं है. साथ ही किसानों के मुद्दे पर विपक्ष भी कही दिखाई नहीं दे रहा है.

विपक्ष नहीं दे रहा किसानों का साथ



अशोक तंवर ने कहा कि किसान अपने दम पर सरकार के खिलाफ लामबंद हो रहे हैं लेकिन विपक्ष को जिस तरह से इनका एक होकर  साथ देना चाहिए वो कही नजर नहीं आ रहा. साथ ही अशोक तंवर ने कहा कि सरकर किसानो संगठनो के दबाव में ये कह रही है कि MSP ख़त्म नहीं की जा रही लेकिन असल में ये तीनो अध्यादेश  MSP ख़त्म करने की दिशा में एक कदम है.
जमाखोरी औऱ महंगाई बढ़ेगी

तंवर ने कहा कि इससे जमाखोरी होगी और महंगाई बढ़ेगी, काला  बजरी होगी और मंडी सिस्टम ख़त्म हो जायेगा. किसान और गरीब को इसका नुक्सान झेलना पड़ेगा. तंवर ने विपक्ष पर भी सरकार के साथ मिले होने का आरोप भी लगाया. साथ ही तंवर ने कहा कि जिनको लगता है कि  किसानों के साथ गलत हुआ है उन सबको इस्तीफा देना चाहिए, नहीं तो समय आने पर जनता उसे जवाब देने के लिए तैयार है.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज