लाइव टीवी

किसान की बेटी ने किया कमाल, मलेशिया में आयोजित योग प्रतियोगिता में जीता गोल्ड
Sirsa News in Hindi

News18 Haryana
Updated: February 13, 2020, 3:51 PM IST
किसान की बेटी ने किया कमाल, मलेशिया में आयोजित योग प्रतियोगिता में जीता गोल्ड
किसान की बेटी ने जीता गोल्ड मेडल

स्कूल गेम्स एंड एक्टिविटी डेवलपमेंट फाऊंडेशन (Foundation) द्वारा आयोजित प्रतियोगिता (Competition) में तीन राऊंड थे. चार देशों के 18 योग प्रतियोगियों में सीधा मुकाबला था.

  • Share this:
सिरसा. ज़िले के एक छोटे से गांव पन्नीवाला मोरिकां के खेतों में मेहनत करने वाले जगसीर सिंह की बेटी किरणजीत अब गोल्डन गर्ल बन गई है. बीते दिनों मलेशिया (Malaysia) के कुआलालामपुर में आयोजित अंतरराष्ट्रीय चैंपियनशिप (Championship) में थाईलैंड, नेपाल तथा मलेशिया के योग खिलाडिय़ों को हराकर किरणजीत ने स्वर्ण पदक जीता है.

स्कूल गेम्स एंड एक्टिविटी डेवलपमेंट फाऊंडेशन द्वारा आयोजित प्रतियोगिता में तीन राऊंड थे. चार देशों के 18 योग प्रतियोगियों में सीधा मुकाबला था. पहला राऊंड में 9 प्रतिभागी बाहर हो गए. दूसरे राऊंड में पांच को स्थान मिला. इसी राऊंड में किरण ने सफलता की पटकथा लिखी. किरण की इस उपलब्धि पर पूरे गांव में ख़ुशी की लहर देखने को मिली डबवाली पहुंचने पर किरण का जोरदार स्वागत किया.

बता दें, गांव पन्नीवाला मोरिकां (सिरसा) पंजाब के जिला बठिंडा से सटा हुआ है. इस गांव में बस सेवा नाममात्र है तो वहीं मोबाइल सुनने के लिए लोगों को घरों की छत पर चढ़ऩा पड़ता है. मूलभूत सुविधाएं इस गांव से बहुत दूर हों, लेकिन गांव की पहचान अंतरराष्ट्रीय स्तर पर है. अंतरराष्ट्रीय क्रिकेटर बरिंदर सरां इसी गांव के रहने वाले हैं.

किरणजीत कौर




आईपीएस बनना सपना

मशहूर कवी हरिवंश राय बच्चन की कविता लेहरों से डरकर नौका पार नहीं होती कोशिश करने वाले को कभी हार नहीं होती सुनाते गोल्ड मेडलिस्ट किरणजीत बताती है की जब मैं 6ठी क्लास में थी तभी से मेरा लक्ष्य गोल्ड हासिल करने का था. स्कूल के वक़्त से मेरी स्कूल टीचर ने मेरी मदद की. लोगो की सोच को बदलने के लिए भी मैंने टारगेट बनाया की कुछ बनकर दिखाना है, जो मैंने किया. अब पुर्तगाल में होने वाली वर्ल्ड चैंपियनशिप में खेलने जाउंगी. किरणजीत कौर कहती है की खेल के साथ-साथ आईपीएस बनना मेरा सपना है.

बेटी पैदा होने पर था मायूसी का माहौल

किरणजीत की मासी बताती है की जब किरणजीत पैदा हुई थी तो परिवार में मायूसी का माहौल था की लड़की पैदा हुई है. लेकिन आज उसकी इस उपलब्धि से पूरे परिवार में ख़ुशी का माहौल है. गरीब परिवार होने के चलते एक चिंता हुई थी की लड़की पैदा हुई है, लेकिन अब हमें गर्व है.

ये भी पढ़ें - बिजली व्यवस्था को सुधारने के बड़े स्तर पर किए जा रहे प्रयास: रणजीत चौटाला

ये भी पढ़ें - एंटी नारकोटिक्स सेल की कार्रवाई में दो नशा तस्कर गिरफ्तार,स्मैक व हेरोइन बरामद

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सिरसा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: February 13, 2020, 3:51 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर