Home /News /haryana /

हरियाणा: करवा चौथ के दिन पति की मौत, जीवित होने की आस में परिजनों ने गोबर में दबाया शव

हरियाणा: करवा चौथ के दिन पति की मौत, जीवित होने की आस में परिजनों ने गोबर में दबाया शव

करवा चौथ के दिन उजड़ा सुहाग

करवा चौथ के दिन उजड़ा सुहाग

Sirsa News: करंट लगने के बाद युवक को चिकित्सक के पास ले जाया गया. जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया, लेकिन युवक के परिजन यह मानने को तैयार नहीं थे. किसी ने उन्हें कह दिया कि गोबर में दबाने से करंट का असर खत्म हो सकता है. इसके बाद उन्होंने पास में ही स्थित किसान के मकान में रखे गोबर में युवक के शरीर को दबा दिया. मृतक युवक निजी लैब पर काम करता था. उसका चार साल का एक बेटा है. वहीं, करवा चौथ (karva chauth 2021) के दिन पति को मृत देखते हुए पत्नी की तबीयत खराब हो गई, लेकिन व्रत की बात कहते हुए उसने दवाई नहीं ली.

अधिक पढ़ें ...

    सिरसा. हरियाणा के सिरसा जिले में करवा चौथ (karva chauth 2021) के दिन एक महिला का सुहाग उजड़ गया. पत्नी ने जिसकी लंबी आयु के लिए करवा चौथ पर व्रत रखा था उसने उसकी आंखों के सामने दम तोड़ गया. पति को मृत (Husband Death) देखते हुए पत्नी की तबीयत खराब हो गई, लेकिन व्रत की बात कहते हुए पत्नी ने दवाई नहीं ली. मामला मंडी कालांवाली का है, जहां रविवार सुबह देवीलाल पार्क के पास रहने वाले एक युवक को करंट लग गया. बाथरूम से नहाकर निकलने युवक ने जैसे ही लोहे की तार पर गीला तौलिया सूखाने के लिए डाला तो उसे करंट लग गया. जिससे उसकी हालात बिगड़ गई.

    परिजन उसे तुरंत चिकित्सक के पास लेकर गए जहां चिकित्सक ने उसे मृत घोषित कर दिया. बाद में परिजन उसे घर लेकर आ गए. युवक के जीवित होने की आस में उसके शरीर को गोबर की खाद में दबा कर रखा गया है. किसी ने स्वजनों को बताया कि गोबर में छह सात घंटे तक दबा कर रखने से करंट का असर खत्म हो जाएगा और युवक जीवित हो जाएगा.

    जानकारी मुताबिक, देसू रोड पर निजी लैब में काम करने वाला 32 वर्षीय जगजीत सिंह रविवार सुबह अपने घर में बाथरूम में से नहा कर निकला. स्वजनों के मुताबिक, उसने गीला तौलिया आंगन में बंधे तार पर सूखाने के लिए डाला. इस दौरान उसे कंटर का झटका लग. संभवत लोहे की तार बिजली की तारों से छू गई थी, जिस कारण उसे करंट लग गया.

    गोबर में दबा दिया शव

    जगजीत सिंह जग्गी को निजी अस्पताल के चिकित्सकों द्वारा मृत घोषित करने के बाद परिजन उसे घर वापस ले आए. परिजनों ने मोहल्ले के लोगों के कहने पर जिंदा होने की आस पर अग्रवाल पीरखाना के पीछे खुली जगह पर शव को मिट्टी में करीब दो घंटे तक दबाए रखा और देसी घी से मालिश की. लेकिन जगजीत सिंह जग्गी के शरीर में कोई हलचल न होने के बाद उन्होंने मिट्टी बारिश के कारण गीली होने की बात कहते हुए वहां से निकालकर दूसरी जगह गोबर में दबा दिया.

    गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार

    कई घंटों तक दबाने के बाद शरीर में हलचल होने की बात कहते हुए उसे दोबारा से सिरसा के निजी अस्पताल में ले गए. जहां पर भी चिकित्सकों ने उसे मृत घोषित कर दिया. इसके बाद शाम को करीब साढे़ 3 बजे बिना पुलिस कार्रवाई किए गमगीन माहौल में अंतिम संस्कार कर दिया गया.

    Tags: Haryana Hospital, Haryana police, Husband, Husband and wife, Karva Chauth 2021

    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर