Home /News /haryana /

'मेंढक' ने सिरसा जेल में लगाई फांसी, गर्लफ्रेंड को गिफ्ट देने के लिए करता था चेन स्नेचिंग

'मेंढक' ने सिरसा जेल में लगाई फांसी, गर्लफ्रेंड को गिफ्ट देने के लिए करता था चेन स्नेचिंग

आरोपी मेंढक झपटमारी करता था. (सांकेतिक फोटो)

आरोपी मेंढक झपटमारी करता था. (सांकेतिक फोटो)

Sirsa Jail Suicide: CIA पुलिस के अनुसार, अनिल उर्फ मेंढक ने कुछ दिन पहले ही अपने 3 नाबालिग दोस्तों के साथ एक गिरोह बनाया था. इन सभी की गर्लफ्रेंड हैं. उनके शौक पूरे करने के लिए ये मोबाइल छीनने और बाइक चोरी करने में शामिल रहे. गिरोह मोबाइल, पर्स और बाइक छीनने की तीन वारदात कर चुका था. चारों आरोपियों में से तीन नाबालिग थे. मेंढक को जेल और तीन अन्य को बाल सुधार गृह में भेजा गया था.

अधिक पढ़ें ...

    सिरसा. हरियाणा के सिरसा में गर्लफ्रेंड को गिफ्ट देने के लिए स्नेचिंग और मोबाइल चोरी करने आरोप में गिरफ्तार किए गए अनिल उर्फ मेंढक ने जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. उसकी मौत की सूचना पर पहुंचे परिजनों ने हालांकि उसकी हत्या के आरोप लगाए हैं. मेंढ़क की मौत की जांच मजिस्ट्रेट द्वारा की जा रही है. शव पोस्टमार्टम के बाद वारिसों को सौंप दिया गया है.

    CIA सिरसा पुलिस ने पीर बस्ती कॉलोनी निवासी अनिल उर्फ मेंढ़क को 10 दिन पहले ही 3 अन्य नाबालिग साथियों के साथ गिरफ्तार किया था. उस पर स्नेचिंग के केस हैं. CIA ने बताया था कि वह अपनी गर्लफ्रेंड को महंगे गिफ्ट देने के लिए मोबाइल फोन छीनता है. पुलिस के अनुसार उसने अपना गिरोह बनाया है और वह इसका सरगना है.

    एक दिन पहले ही परिजनों से बात की थी, जमानत में देरी से परेशान था

    अनिल उर्फ मेंढक ने जेल में फांसी लगाकर आत्महत्या कर ली. घटना के एक दिन पहले बुधवार को दिन में मेंढक ने अपने परिजनों से बात की थी. उसके पिता सोमनाथ ने बताया कि उसने जमानत कराने को कहा था. परिजनों ने तब उससे कहा कि उसकी जमानत में अभी 2 महीने लगेंगे. इसके बाद रात को परिजनों को सूचना मिली कि मेंक ने जेल में बने अस्पताल के बाथरुम में जाकर फंदा बनाकर फांसी लगा ली.

    आरोपी के पिता ने कहा- बेटा मरा नहीं, मारा गया 

    मेंढ़क के पिता सोमनाथ ने बताया कि उसका बेटा मरा नहीं, मारा गया है. उसे बेटे का फोन आया था कि जमानत करवा दो. इस मामले में निष्पक्ष जांच हो. उन्होंने मजिस्ट्रेट को भी बयान दर्ज कराए हैं. वहीं, इस मामले के जांच अधिकारी लेखराज ने बताया कि ड्यूटी मजिस्ट्रेट की मौजूदगी में बयान दर्ज किए गए हैं. शव का पोस्टमार्टम कर शव परिजनों को सौंप दिया है. मामले की जांच की जाएगी. जांच के आधार पर आगामी कार्रवाई की जाएगी.

    3 नाबालिगों के साथ मिलकर बनाया था गिरोह

    CIA पुलिस के अनुसार, अनिल उर्फ मेंढक ने कुछ दिन पहले ही अपने 3 नाबालिग दोस्तों के साथ एक गिरोह बनाया था. इन सभी की गर्लफ्रेंड हैं. उनके शौक पूरे करने के लिए ये मोबाइल छीनने और बाइक चोरी करने में शामिल रहे. गिरोह मोबाइल, पर्स और बाइक छीनने की तीन वारदात कर चुका था. चारों आरोपियों में से तीन नाबालिग थे. मेंढक को जेल और तीन अन्य को बाल सुधार गृह में भेजा गया था.

    Tags: Haryana news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर