लाइव टीवी

हरियाणा में हुआ था देश का सबसे भीषण अग्निकांड, 442 लोगों गंवानी पड़ी थी जान

News18 Haryana
Updated: December 9, 2019, 3:08 PM IST
हरियाणा में हुआ था देश का सबसे भीषण अग्निकांड, 442 लोगों गंवानी पड़ी थी जान
देश का सबसे बड़ा अग्निकांड

इस हादसे (Accident) में कुल 442 लोगों (442 People) ने अपनी जान गंवाई थी, जिसमें सिरसा (Sirsa) के तत्कालीन डीएसपी अनिल राव की बेटी की भी मौत हो गई थी.

  • Share this:
सिरसा. दिल्ली के रानी झांसी रोड (Jhansi Road) स्थित एक बैग बनाने वाली फैक्‍ट्री (Factory) में रविवार (8 दिसंबर 2019) सुबह तकरीबन साढ़े चार बजे आग लगने से 43 लोगों की मौत हो गई, कई अन्‍य लोग घायल हैं. इस अग्निकांड ने हरियाणा (Haryana) में 24 साल पहले हुई उस घटना की याद दिला दी जिसमें 442 लोगों की मौत हो गई. इस हादसे में 250 के लगभग बच्चों की जान चली गई थी.

ये हादसा 23 दिसंबर 1995 को सिरसा जिले में हुआ था. डबवाली के डीएवी स्कूल के वार्षिकोत्सव में पंडाल में आग लगने से स्कूल में मौजूदर बच्चों समेत कुल 442 लोगों की आग से झुलस जाने से मौत हो गई थी. इस हादसे के बाद शवों के अंतिम संस्कार के लिए श्मशान घाट भी छोटा पड़ गया था.

तत्कालीन डीएसपी के बेटी की भी मौत

इस हादसे में कुल 442 लोगों ने अपनी जान गंवाई थी, जिसमें सिरसा के तत्कालीन डीएसपी अनिल राव की बेटी की भी मौत हो गई थी. बता दें के स्कूल का वार्षिक उत्सव एक मैरिज पैलेस में आयोजित करवाया जा रहा था. इस दौरान पंडाल के गेट पर शार्ट सर्किट होने पर आग पूरे पंडाल को अपनी चपेट में ले लिया और चंद ही मिनटों में सब कुछ राख कर दिया.

जनरेटर में डीजल होने से और भड़की आग

इस दौरान पंडाल के ऊपर तिरपाल की छत बिछाई गई थी. तिरपाल की पॉलिथीन में आग लग जाने से वो पिघलती हुई लोगों पर गिरी और देखते ही देखते लाशों का ढेर बिछ गया. वहीं पंडाल के पास ही खाना बनाने के लिए गैस सिलेंडर रखे थे, जो आग से जल उठे. पास रखे जनरेटर में भी डीजल होने के कारण आग और भड़क गई. बिजली के तारों ने भी आग पकड़ ली और चंद मिनटों सब कुछ तबाह हो गया.

यह भी पढ़ें- हरियाणा में स्टेडियम की नहीं बल्कि ट्रेनिंग सेंटरों और खेल के मैदान की है जरूरत- संदीप सिंहयह भी पढ़ें- पति ने पत्नी की कुल्हाड़ी से काटकर की हत्या, फिर खुद भी जहर खाकर दे दी जान

ये भी पढ़ें- फरीदाबाद में दुकानदारों ने पुलिसकर्मी को पीटा, Video Viral

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सिरसा से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 9, 2019, 3:05 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर