युवती से गैंगरेप के मामले में तीन दोषियों को मिली 20-20 साल कैद

युवती के ताऊ की शिकायत पर पहले राई थाना में दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज हुआ था. जिन युवकों पर आरोप लगा था उसके परिजनों ने सामान्य अस्पताल की एक वीडियो को वायरल कर दिया था. जिसमें युवती के परिजनों को आरोपी की पिटाई करते दिखाया गया था.

Nitin Antil | News18 Haryana
Updated: September 11, 2019, 5:24 PM IST
युवती से गैंगरेप के मामले में तीन दोषियों को मिली 20-20 साल कैद
3 दोषियों को 20-20 साल की कैद
Nitin Antil | News18 Haryana
Updated: September 11, 2019, 5:24 PM IST
सोनीपत. अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश (फास्ट ट्रैक कोर्ट) डीआर चालिया की अदालत ने राई थाना क्षेत्र के गांव की युवती संग गैंगरेप (Gangrape) व उसके अश्लील फोटो वायरल (Photo Viral) करने के मामले में तीन आरोपियों को दोषी करार दिया है. तीनों दोषियों को 20-20 साल कैद की सजा सुनाई है. मामले में प्रत्येक दोषी पर 7.31 लाख रुपये जुर्माना किया गया है. जुर्माना न देने पर पांच साल अतिरिक्त कैद की सजा भुगतनी होगी. दोषियों पर सात-सात लाख रुपये का जुर्माना महज आईटी एक्ट में किया गया है. युवती का ताऊ मामले में न्याय की मांग को लेकर चार दिन तक टावर पर चढ़ा रहा था.

बता दें कि राई थाना क्षेत्र के गांव की युवती ने 5 सितंबर, 2015 को महिला थाना में तीन युवकों व अपनी सहेली पर गैंगरेप और षड्यंत्र रचने का मुकदमा दर्ज कराया था. महिला थाना पुलिस को दी शिकायत में 21 वर्षीय युवती ने आरोप लगाया था कि वह कालेज में बीए फाइनल इयर की छात्रा थी. उसके गांव की लडक़ी उसे किताब लाने के बहाने अपने साथ सोनीपत ले गई थी. जहां उसके भाई ने उसे शीतल पेय में नशीला पदार्थ पिलाया था. जब उसे होश आया था तो उसका शरीर दुख रहा था और उसके शरीर पर कोई कपड़ा नहीं था. उसके अश्लील फोटो खींचे गए थे.

उनके गांव के संजय व मनोज तथा पड़ोसी गांव के सतपाल ने उसके साथ गैंगरेप किया था. वह अश्लील फोटो इंटरनेट पर वायरल करने की धमकी देते थे. बाद में उन्होंने उसके साथ कई बार दुष्कर्म किया था. जब उसने तीन-चार बार जाने के बाद मना कर दिया था तो उसके फोटो सोशल मीडिया पर वायरल कर दिए गए थे. जिसके बाद पुलिस ने युवती के बयान पर तीन युवकों व उसकी सहेली के खिलाफ गैंगरेप, षड्यंत्र व अन्य धाराओं में मुकदमा दर्ज किया था.

मामले की सुनवाई करते हुए अतिरिक्त जिला एवं सत्र न्यायाधीश (फास्ट ट्रैक कोर्ट) डीआर चालिया की अदालत ने संजय, मनोज व सतपाल को दोषी करार दिया है. तीनों दोषियों को भादसं की धारा 376डी में 20 साल कैद व 10 हजार रुपये जुर्माना, 120बी में 20 साल कैद व 10 हजार रुपये जुर्माना, 506 में तीन साल कैद व पांच हजार रुपये जुर्माना, 342 में एक हजार रुपये जुर्माना, 452 में पांच साल कैद व पांच हजार रुपये जुर्माना तथा 67ए आईटी एक्ट में 5 पांच साल कैद व सात लाख रुपये जुर्माना की सजा सुनाई है.

कोर्ट ने सुनाई ये सजा

जुर्माना न देने पर करीब पांच साल अतिरिक्त कैद की सजा सुनाई है. युवती ने सितंबर, 2015 में दूसरी बार गैंगरेप का मुकदमा दर्ज कराया था. इससे पहले आरोपियों के खिलाफ लडक़ी के ताऊ ने मुकदमा दर्ज कराया था. बाद में युवती ने कोर्ट में 164 के तहत अपने बयान बदल दिए थे और गैंगरेप से इंकार किया था. उसके बाद न्याय के लिए युवती का ताऊ चार दिन तक टॉवर पर चढ़ा रहा था. जिस पर पुलिस ने युवती के बयान पर दोबारा गैंगरेप का मामला दर्ज किया था. महिला थाना पुलिस ने युवती के जो अश्लील फोटो सोशल मीडिया पर भेजे गए थे उन्हें कब्जे में ले लिया था.

आरोपी पक्ष ने युवती के ताऊ पर भी दर्ज कराया था मुकदमा 
Loading...

युवती के ताऊ की शिकायत पर पहले राई थाना में दुष्कर्म का मुकदमा दर्ज हुआ था. जिन युवकों पर आरोप लगा था उसके परिजनों ने सामान्य अस्पताल की एक वीडियो को वायरल कर दिया था. जिसमें युवती के परिजनों को आरोपी की पिटाई करते दिखाया गया था. इस वीडियो के आधार पर रेप के एक आरोपी की पत्नी के बयान पर तब युवती के ताऊ व अन्य पर 341, 323 व 506 के तहत मुकदमा दर्ज किया गया था. इस मामले में बहालगढ़ चौकी ने युवती के ताऊ को गिरफ्तार किया था. जमानत पर आने के बाद वह टावर पर चढ़ गया था.

ये भी पढ़ें:- इनेलो के पांच विधायको की सदस्यता रद्द, JJP का समर्थन करना पड़ा महंगा

ये भी पढ़ें:-  हरियाणा पुलिस की गांधीगिरी: विधानसभा चुनाव नजदीक, इसलिए नहीं काट रही चालान

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सोनीपत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: September 11, 2019, 3:58 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...