पुलिस को चकमा देकर हॉस्पिटल से फरार हुआ लूट का आरोपी, SI और ASI सस्पेंड
Sonipat News in Hindi

पुलिस को चकमा देकर हॉस्पिटल से फरार हुआ लूट का आरोपी, SI और ASI सस्पेंड
पुलिस की कस्टडी में एक आरोपी को मेडिकल जांच के लिए सरकारी अस्पताल में लेकर आई थी. आरोपी चकमा देकर फरार हो गया. (सांकेतिक तस्वीर)

सोनीपत पुलिस एक आरोपी का मेडिकल जांच (Medical Test) कराने के लिए सरकारी अस्पताल में लेकर आई थी. आरोपी चकमा देकर फरार हो गया.

  • Share this:
सोनीपत. सोनीपत की सिटी थाने की पुलिस की कस्टडी में एक आरोपी (Accused) को मेडिकल जांच (Medical Test) कराने  के लिए सरकारी अस्पताल में लेकर आई थी. आरोपी पुलिस टीम को चकमा देकर फरार हो गई. फरार हुआ आरोपी बैंक के सुरक्षाकर्मी से मारपीट करने व निजी बस चालक से 7 हजार रुपये की लूट के आरोप में गिरफ्तार किया गया था. पुलिस ने आरोपी को रविवार की रात में ही गिरफ्तार किया था. इस मामले में डीएसपी ने लापरवाही बरतने के चलते एसआई और एएसआई को निलंबित कर दिया है.

आरोपी का मेडिकल कराने के लिए उसे अस्पताल लाया गया था

लूट व मारपीट के दो मामलों में आरोपी को सोनीपत पुलिस ने रविवार की रात को गिरफ्तार किया था. आरोपी गांव रिढाऊ निवासी मोहित को गिरफ्तार किया था. पुलिस ने सोमवार को आरोपी को अदालत में पेश कर रिमांड (Remand) पर लिया था. सोमवार की शाम एसआई नरेश कुमार और एएसआई विकास की टीम आरोपी को अदालत से सामान्य अस्पताल में मेडिकल कराने के लिए लेकर आई थी.



Ravindra, DSp
डीएसपी रविंदर कुमार ने बताया कि पुलिस ने नकदी छीनने व मारपीट के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया था.

पुलिसकर्मी की लापरवाही से फरार हुआ आरोपी

आरोपी के हाथ में चोट लगी हुई थी और उसके हाथ में पट्टी बंधी हुई थी. पुलिस कर्मी लापरवाही करते हुए डॉक्टर के कमरे में चले गए. इसी दौरान मौके का फायदा उठाकर आरोपी मोहित सामान्य अस्पताल से फरार हो गया. पुलिस कर्मी जब डॉक्टर के कमरे से बाहर आए तो उन्हें गलती का अहसास हुआ और इस बारे में पुलिस अधिकारियों को अवगत कराया गया. इस मामले का पता लगते ही हड़कंप मच गया. पुलिस ने जिले भर में नाकेबंदी कर उसकी तलाश शुरू कर दी. हालांकि अभी तक आरोपी का सुराग नहीं लग सका था.

आरोपी को पकड़ने के लिए पुलिस दे रही दबिश

इस मामले की जांच कर रहे डीएसपी रविंदर कुमार ने बताया कि पुलिस ने नकदी छीनने व मारपीट के मामले में एक आरोपी को गिरफ्तार किया था. उसे अदालत में पेश कर रिमांड पर लिया गया था. उसे अस्पताल में मेडिकल के लिए ले जाया गया, जहां से वह फरार हो गया. इस मामले में एसआई नरेश और एएसआई विकास की लापरवाही सामने आई है. दोनों को निलंबित कर दिया गया है. आरोपी की गिरफ्तारी के लिए पुलिस टीमों का गठन कर दबिश दी जा रही है.

यह भी पढ़ें:  जेल की सजा काट रहे रामपाल के समर्थन में सत्संग के आयोजन पर बवाल, आयोजक ने महिला पर उठाया हाथ

VIDEO: इस स्कूल ने बढ़ाई फीस, जमा नहीं कराने वाले बच्चों को क्लास से बाहर बैठाया
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज