हरियाणा: पहले कोरोना की मार, अब डेंगू भी बना रहा शिकार

कोरोना के बाद अब डेंगू का कहर (प्रतीकात्मक तस्वीर)

कोरोना के बाद अब डेंगू का कहर (प्रतीकात्मक तस्वीर)

लोग ये शिकायत (complaints) लेकर पहुंच रहे हैं कि सरकारी अस्पतालों (Government Hospital) में उनका इलाज नहीं हो रहा है. वहीं, प्रशासन यह मानने को तैयार नहीं कि डेंगू के मामले सामने आए हैं.

  • News18Hindi
  • Last Updated: September 4, 2020, 6:58 AM IST
  • Share this:
सोनीपत. पहले कोरोना की मार, अब डेंगू बना रहा शिकार. जी हां! हमारे देश में पहले ही कोरोना वायरस (Coronavirus) के संक्रमण की रफ्तार रुक नहीं रही. अब डेंगू (Dengue) के मामले सामने आने से गोहाना स्वास्थ्य विभाग (Health Department) की नींद उड़ी हुई है. मजबूरी यह है कि यहां अस्पताल में आए डेंगू के मरीजों का कोरोना टेस्ट करा कर घर भेज दिया जा रहा है और उन्हें निजी अस्पताल में महंगा इलाज कराना पड़ रहा है.

हरियाणा के सोनीपत जिले के गोहाना में कोरोना के बढ़ते लगातार मामलों के बाद अब शहर में डेंगू ने डेरा डाल दिया है. शहर में एक साथ 21 डेंगू के संदिग्ध मामले सामने आए हैं. इन सबके के बीच मजबूरी ये है कि डेंगू का इलाज कराने वालों को अस्पताल में बेड तक नहीं मिल रहे.

सरकारी अस्पतालों में नहीं हो रहा इलाज

नागरिक अस्पताल के एसएमओ की माने तो अब तक शहर में एक भी डेंगू का केस सामने नहीं आय़ा है. स्थानीय कांग्रेस विधायक जगबीर मलिक की मानें तो उनके पास कई लोग ये शिकायत लेकर पहुंच रहे हैं कि सरकारी अस्पतालों में उनका इलाज नहीं हो रहा है. कोरोना के चलते ज्यादातर लोगों की आय पहले ही कम हो चुकी है और अब जब डेंगू होने पर उन्हें निजी अस्पतालों में इलाज कराना पड़ रहा है.
लोगों ने की ये मांग

गोहाना के चोपड़ा कॉलोनी में डेंगू के संदिग्ध रोगियों के परिजनों और आम लोगों ने बैठक की. इस बैठक में निजी अस्पतालों में उपचार करवा रहे डेंगू संदिग्ध रोगियों की सूची तैयार की गई. बैठक में लोगों ने कहा कि जब वो अपना टेस्ट करवाने के लिए सरकारी अस्पताल में जा रहे है तो वहा उनका कोरोना का टेस्ट कर घर भेज दिया जाता है जिस के चलते वो अपना ईलाज प्राइवेट हस्पताल में करवाने पर मजबूर है. लोगों ने आरोप लगाया कि प्राइवेट क्लीनिक उपचार के नाम पर हजारों रुपये ले रहे हैं. लोगों ने स्वास्थ्य विभाग से मांग की कि चोपड़ा कॉलोनी में विशेष कैंप लगा कर संदिग्ध डेंगू रोगियों की जांच की जाए.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज