कैंसर मरीजों के फर्जी पोस्‍टमार्टम मामले में आरोपी डॉक्‍टर गिरफ्तार, 7 और STF के रडार पर

कैंसर मरीजों के फर्जी पोस्‍टमार्टम मामले में सोनीपत जिले में जनरल अस्पताल के डॉक्टर अंबुज जैन को स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी को हिमाचल प्रदेश के नाहन से गिरफ्तार किया गया है.

Nitin Antil | News18 Haryana
Updated: July 17, 2019, 7:34 AM IST
कैंसर मरीजों के फर्जी पोस्‍टमार्टम मामले में आरोपी डॉक्‍टर गिरफ्तार, 7 और STF के रडार पर
कैंसर मरीजों के फर्जी पोस्‍टमार्टम मामले में आरोपी डॉक्‍टर गिरफ्तार, 7 और STF के रडार पर
Nitin Antil | News18 Haryana
Updated: July 17, 2019, 7:34 AM IST
हरियाणा के सोनीपत जिले में जनरल अस्पताल के डॉक्टर अंबुज जैन को स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने गिरफ्तार कर लिया है. आरोपी को हिमाचल प्रदेश के नाहन से गिरफ्तार किया गया है. मामला कैंसर पीड़ितों का बीमा कराकर उनकी मौत के बाद में हादसा दिखाकर क्लेम लेने का है. वहीं आरोपी डॉक्टर को अदालत में पेश करने के बाद 3 दिन के लिए रिमांड पर लिया गया है.

कैंसर से मौत को हादसा बताकर पोस्टमार्टम करने का आरोप

डॉक्टर पर आरोप है कि वह कैंसर पीड़ितों की मौत के बाद उसे हादसा दिखाने के लिए पोस्टमार्टम करता था. वह एक पोस्टमार्टम के लिए डेढ़ लाख रुपए लेता था. आरोपी डॉक्टर की गिरफ्तारी से जनरल अस्पताल के 7 डॉक्टरों पर संलिप्तता का शक गहरा गया है. डॉक्टर सोनीपत के साथ ही रोहतक और बहादुरगढ़ के डॉक्टरों से भी इसके लिए सेटिंग करता था.

बीमा कंपनी की शिकायत से हुआ खुलासा

आपको बता दें कि बीमा कंपनी के पदाधिकारी ने पुलिस अधिकारियों को इसकी शिकायत दी थी कि कुछ लोग कैंसर पीड़ित की मौत के बाद उसे सड़क हादसा दिखाकर करोड़ों रुपए का क्लेम कर हड़प लेते हैं. इस पर एसटीएफ की सोनीपत इकाई ने बीते 19 अप्रैल को गिरोह के 3 सदस्यों को पकड़ा था, जिसमें सरगना गांव सेवली निवासी पवन, रिंढाना निवासी मोहित और गुमाना निवासी विकास शामिल थे.

एसटीएफ-STF
सोनीपत जिले में जनरल अस्पताल के डॉक्टर अंबुज जैन को स्पेशल टास्क फोर्स (एसटीएफ) ने गिरफ्तार कर लिया है


इसी क्रम में कैंसर पीड़ित महिला की मौत के बाद उसका क्लेम ले चुके आरोपी बेरी गांव निवासी चांद, मूलरूप से हिसार के गांव धर्मखेड़ी फिलहाल रोहतक के सेक्टर-2 का रहने वाले पदम खर्ब, धर्मखेड़ी के रहने वाले नरेश और लिवासपुर के रहने वाले जोनी सरोहा को पकड़ा था. साथ ही पदम खर्ब के गांव के रहने वाले हिसार के जनरल अस्पताल के डॉक्टर अमित को भी मामले में पुलिस ने गिरफ्तार किया था.
Loading...

अब इसी मामले में एसटीएफ की टीम ने सोनीपत जनरल अस्पताल के डॉक्टर अंबुज जैन को गिरफ्तार किया है. मामले में मुख्य आरोपियों में शामिल अंबुज जैन की गिरफ्तारी के लिए एसटीएफ बीते 2 माह से प्रयास कर रही थी.

आरोपी डॉक्टर से पूछताछ में सामने आई ये बात

इधर, आरोपी अंबुज जैन की गिरफ्तारी के बाद एसटीएफ की पूछताछ में ये बात सामने आई है कि वह एक पोस्टमार्टम के लिए डेढ़ लाख रुपए लेता था. सरगना पवन से डॉक्टर अंबुज जैन के लिए कंप्यूटर ऑपरेटर प्रदीप ने डील की थी. उसके माध्यम से ही रुपए ली जाती थीं. पुलिस टीम अब उन डॉक्टरों का भी पता लगाएगी, जो इसमें शामिल हैं. वहीं पूछताछ के दौरान उन डॉक्टरों के नाम सामने लाने के साथ ही पोस्टमार्टम के बदले ली गई रकम को भी बरामद किया जाएगा.

पकड़े जाने के डर से झारखंड में जाकर छिपा डॉक्टर चला गया हिमाचल

आपको बता दें कि आरोपी डॉक्टर ने पहले कोर्ट में अग्रिम जमानत याचिका लगा दी थी, लेकिन सेशन कोर्ट से याचिका खारिज होने के बाद वह अपने ससुराल झारखंड में जाकर छिप गया था. वहां भी पकड़े जाने का भय होने पर वह हिमाचल पहुंच गया.

हिमाचल में MBBS की पढ़ाई कर रहे छात्रों के साथ रह रहा था डॉक्टर

हिमाचल में वह अपने साथ एमबीबीएस की पढ़ाई करने वाले डॉक्टरों के पास रहा, जहां से पुलिस ने अब उसे गिरफ्तार कर लिया है. बहरहाल, पूछताछ में कई तथ्य सामने आने की उम्मीद है.

ये भी पढ़ें:- अंबाला में बस और कार की टक्कर, 2 युवकों की मौत, 16 घायल 

ये भी पढ़ें:- झज्जर: कुल्हाड़ी से काटकर एक शख्स की बेरहमी से हत्या
First published: July 17, 2019, 7:25 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...