लाइव टीवी

हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: हुड्डा के गढ़ को नहीं भेद पाई भाजपा

Sunil Jindal | News18 Haryana
Updated: October 24, 2019, 4:46 PM IST
हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: हुड्डा के गढ़ को नहीं भेद पाई भाजपा
हुड्डा के गढ़ में भाजपा फेल

गोहाना से भाजपा ने तीर्थ राणा यानि नये चेहरे पर पहली बार दांव खेला, जिसे भाजपा के पदाधिकारियों से लेकर आम कार्यकर्ताओं को रास नहीं आया.

  • Share this:
सोनीपत. प्रदेश में एक माह पहले हुए विस चुनाव की घोषणा के बाद वीरवार को आये नतीजों ने एक बार फिर साबित कर दिया कि रोहतक और सोनीपत आज भी हुडा का गढ़ है तथा भाजपा की तमाम राजनैतिक रणनीति गोहाना से लेकर बरोदा और सोनीपत तक काम नहीं आ सकी. हालांकि राई और गन्नौर की सीट कांग्रेस ने भले ही गंवा दी हो मगर इसके बदले सोनीपत शहर में दो बार भाजपा की विधायक बनी कविता जैन को कांग्रेस की टिकट पर पहली बार चुनाव लडऩे वाले सुरेन्द्र पंवार ने रिकॉर्ड तोड़ मतों से जीत कर हुड्डा के गढ़ की जीत की खुशी को दोगना कर दिया.

सबसे रोमांचक मुकाबला गोहाना विस क्षेत्र की सीट पर रहा. पूरे हरियाणा में हाट बनकर उभरी गोहाना की सीट पर आखिर में बाहरवें राउंड में कांग्रेस के प्रत्याशी ने जब लोसूपा के राजकुमार को करीब चार हजार से ज्यादा मतों से पछाड़ा तब जाकर कांग्रेसियों के चेहरे पर रौनक आई. इससे यह भी साफ जाहिर हो गया कि जाटों की वोटों का ध्रुवीकरण करना इतना आसान नहीं हो पाया जो सोचकर राजकुमार सैनी ने यंहा से चुनाव लडऩा सुरक्षित समझा था.

बरोदा में भैंसवाल के अन्र्तराष्ट्रीय पहलवान योगेश्वर दत को कांग्रेस के 80  साल के बुर्जग श्रीकृष्ण हुड्डा ने चित करते हुए मामूली से अंतर से जीत हासिल की तथा लगातार तीसरी बार विधायक बनने में कामयाब हो गये.  हांलाकि जजपा के उमीदवार भूपेन्द्र सिंह मलिक ने भी आशा के अनुरुप वोट ली. बरोदा से भाजपा ने गैर जाट का कार्ड खेलकर एक नई रणनीति अपनाई मगर जजपा प्रत्याशी भूपेन्द्र मलिक कांग्रेस और भाजपा को बराबर का नुकसान करके लड़ाई को आखिरी दम तक रोमाचंक बनाए रखा.

गोहाना से भाजपा ने तीर्थ राणा यानि नये चेहरे पर पहली बार दांव खेला, जिसे भाजपा के पदाधिकारियों से लेकर आम कार्यकर्ताओं को रास नहीं आया. शहर के मतदाताओं ने राजकुमार सैनी के मैदान में आते ही हाथों हाथ ले लिया तथा बिना मांगे उनकी झोली में जमकर वोट डाले. मगर गोहाना के विधायक जगबीर मलिक के बारे में एक कहावत बन चुकी है कि जगबीर भाग का धनी है और उसे हराना मुश्किल ही नहीं नामुमकिन है लगातार चौथी बार विधायक बनने वाले गोहाना के पहले विधायक बन गये हैं.

बरोदा के प्रत्याशी हुड्डा को बाहरी बताने वाले भी तमाम कांग्रेसी नेताओं को खुद भूपेन्द्र सिंह हुड्डा ने दूर रखा और दीपेन्द्र तथा भूपेन्द्र हुड्डा यानि बाप बेटा ने बरोदा और गोहाना की स्थित को भांपते हुए जमकर गांव-गांव प्रचार किया तथा कहा कि वोट काटूओं से बच लियो अपनी चौधर तो राख लो तथा आखिरी दिनों में चुनाव की बाजी कांग्रेसियों के पक्ष में नजर आती दिखाई दी. जीत के बाद दोनों कांग्रेसियों के समर्थकों ने खुशी मनाई तथा ढ़ोल की थाप पर थिरकते नजर आये.

 

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सोनीपत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 24, 2019, 4:46 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...