लाइव टीवी

विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक विजेता रवि दहिया का गांव नाहरी में भव्य स्वागत

Nitin Antil | News18 Haryana
Updated: October 14, 2019, 3:10 PM IST
विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में कांस्य पदक विजेता रवि दहिया का गांव नाहरी में भव्य स्वागत
ग्रामीणों ने कहा कि उन्हें रवि दहिया से उम्मीद थी कि गांव का बेटा वर्ल्ड चैंपियनशिप में देश के लिए मेडल जरूर जीतेगा

रवि दहिया ने कहा कि गांव के लोगों द्वारा स्वागत किए जाने के बाद उनकी जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ गई है. वह ओलिंपिक में मेडल जीतने के लिए पूरी तैयारी कर रहे हैं. उनके कोच उनपर पूरा ध्यान दे रहे हैं. उन्हें किसी चीज की कमी नहीं है.

  • Share this:
सोनीपत. विश्व कुश्ती चैंपियनशिप (World Wrestling Championship) में कांस्य पदक विजेता (Bronze Medalist) पहलवान रवि दहिया (Ravi Dahiya) का नाहरी गांव में जोरदार स्वागत किया गया. इस दौरान कोच महाबली सतपाल (Coach Satpal) ने भी पहलवान रवि को बधाई दी. उन्होंने कहा कि ओलिंपिक (Olympic) क्वालीफाई करने के बाद अब रवि ओलिंपिक में भी देश का नाम रोशन करेंगे. वहीं योगेश्वर (Yogeshwar) के राजनीति ज्वाइन करने पर सतपाल पहलवान ने उन्हें बधाई दी. उन्होंने कहा कि अगर योगेश्वर जीतते हैं तो मेरी ही जीत होगी.

मकसद है ओलिंपिक में गोल्ड मेडल जीतना

विश्व कुश्ती चैंपियनशिप में रवि दहिया के कांस्य पदक जीतने पर ग्रामीणों ने खुशी जाहिर की. ग्रामीणों ने कहा कि उन्हें रवि दहिया से उम्मीद थी कि गांव का बेटा वर्ल्ड चैंपियनशिप में देश के लिए मेडल जरूर जीतेगा. रवि ने भी किसी की उम्मीद को नहीं तोड़ा. रवि ने ब्रोंज मेडल जीतकर गांव का नाम रोशन किया. रवि को सैकड़ों वाहनों के काफिले के साथ जुलूस में गांव लाया गया. रवि दहिया ने कहा कि गांव के लोगों द्वारा स्वागत किए जाने के बाद उनकी जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ गई है. वह ओलिंपिक में मेडल जीतने के लिए पूरी तैयारी कर रहे हैं. उनके कोच उनपर पूरा ध्यान दे रहे हैं. उन्हें किसी चीज की कमी नहीं है.

रवि दहिया ने कहा कि गांव के लोगों द्वारा स्वागत किए जाने के बाद उनकी जिम्मेदारी और ज्यादा बढ़ गई है.


पूरी दुनिया के पहलवान रवि दहिया का नाम ले रहे थे

कोच सतपाल ने कहा कि जब विश्व कुश्ती चैंपियनशिप का समापन हुआ तब पूरी दुनिया के पहलवान रवि दहिया का नाम ले रहे थे. सभी ने कहा कि रवि इंडिया की बहुत बड़ी धरोहर हैं. वह ओलिंपिक में मेडल जीतेगा. उन्होंने कहा कि रवि को लेकर गांव के लोगों ने जो जज्बा दिखाया उससे बहुत खुशी हुई. ऐसे प्रोग्राम होने चाहिए, क्योंकि गांव के छोटे बच्चों, मां-बाप में एक जज्बा बनता है. उन्हें अपने बच्चों को नशों और बुराइयों से बचाते हुए उन्हें खेलने में डालने की प्रेरणा मिलती है. उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि इस बार वे देश को 3 से 4 ओलंपिक मेडल दिला पाएंगे.

कोच सतपाल ने कहा कि उम्मीद है कि इस बार देश के पहलवान 3 से 4 ओलिंपिक मेडल जीतेंगे.

Loading...

ओलिंपिक में गोल्ड मेडल की ख्वाहिश है

सतपाल ने कहा कि रवि ने बेहतर खेल का प्रदर्शन किया. वह ओलिंपिक में देश को पदक दिलाएंगे. साथ ही उन्होंने कहा कि योगेश्वर देश का बहुत बड़ा पहलवान रहा है. हमारा सभी बच्चों को आशीर्वाद है कि वे आगे बढ़ें. जब बच्चें आगे बढ़ते हैं तब खुशी होती है. अगर योगेश्वर जीतते हैं तो हम ही जीतेंगे, क्योंकि योगेश्वर हमारा शिष्य है. सतपाल ने कहा कि वह राजनीति से दूर रहते हैं और उनके पास राजनीति ज्वाइन करने के लिए राजनीतिक पार्टियों के ऑफर आते रहे हैं. उन्होंने कहा कि उन्हें 1976 से राजनीति ज्वाइन करने का आमंत्रण मिल रहे हैं. फिर उन्होंने कहा कि मेरी राजनीति ये है जो आज आपने देखी है. इसके लिए मैंने 52 साल लगा दिए हैं. ओलिंपिक में सिल्वर और ब्रोंज मेडल आ चुके हैं. उन्होंने कहा कि उम्मीद है कि इस बार वे देश को 3 से 4 ओलिंपिक मेडल दिला पाएंगे. बस मेरी गोल्ड मेडल की ख्वाहिश है.



ये भी पढ़ें - जब BJP की सरकार ही नहीं बननी तो उनके घोषणा पत्र टिप्पणी क्या करें: सुखबीर बादल

ये भी पढ़ें - हरियाणा विधानसभा चुनाव 2019: इस चुनाव में किसकी नैया पार लगाएगी जाट बिरादरी?

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सोनीपत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: October 14, 2019, 1:22 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...