COVID-19: सोनीपत में फंसे ट्रक ड्राइवरों ने कहा-कई दिनों से खाली हैं पेट, सरकार ध्यान दे
Sonipat News in Hindi

COVID-19: सोनीपत में फंसे ट्रक ड्राइवरों ने कहा-कई दिनों से खाली हैं पेट, सरकार ध्यान दे
ट्रक ड्राइवर भूखे सोनीपत में फंसे हुए हैं

सोनीपत जीटी रोड से दिल्ली को उत्तर भारत को जोड़ने वाला हरियाणा का पहला जिला है और यहाँ लॉक डाउन के बाद सड़क किनारे खड़े ट्रक चालकों की हालत बहुत खराब हो चुकी है.

  • Share this:
सोनीपत. कोरोना वायरस (Coronavirus) के प्रकोप के चलते पूरा देश में लॉकडाउन (Lockdown)  लागू है. हरियाणा के 7 जिलों को हरियाणा सरकार ने 22 मार्च को ही लॉकडाउन कर दिया था. इसके बाद 24 मार्च को पीएम नरेंद्र मोदी (Pm Narendra Modi) ने देश को लॉकडाउन कर दिया. हरियाणा के जिन सात जिलों को सीएम ने 22 मार्च को लॉकडाउन किया उनमें सोनीपत भी था और सोनीपत जीटी रोड से दिल्ली को उत्तर भारत को जोड़ने वाला हरियाणा का पहला जिला है और यहाँ लॉक डाउन के बाद सड़क किनारे खड़े ट्रक चालकों (Truck Driver) की हालत बहुत खराब हो चुकी है.

नेशनल हाईवे-1 को देश की लाइफलाइन कहा जाता है, लेकिन कोरोना वायरस के प्रकोप से देश की जनता को बचाने के लिए पूरा देश लॉक डाउन है. 22 मार्च से हरियाणा के सात जिलों में और 24 मार्च से पूरे देश में ही लॉकडाउन लागू हो चुका है. हरियाणा से अलग-अलग राज्यों में आने जाने वाले ट्रक चालक यहां भूखे प्यासे ही आपने ट्रकों में बैठे हैं. उनके पास खाने पीने का सामान धीरे धीरे खत्म होता जा रहा है, अब तो उनको सरकार से ही आस है कि वह कोई बड़ा कदम उनके लिए भी उठाए.

ट्रक से बाहर निकलते ही भगा देते हैं पुलिस वाले



ये ट्रक ड्राइवर ट्रकों के अंदर अपना खाना बना रहे थे लेकिन अब तो इनके पास ना रशद बचा है और ना ही ज्यादा पैसा. एक ड्राइवर तो केले खाकर ही अपना पेट भर रहा है. ट्रक ड्राइवर ने बताया कि वे ज्योंहि ट्रक से बाहर निकलते हैं तो पुलिस वाले भगा देते हैं. उन्हें राशन की दुकानों पर नहीं जाने दिया जा रहा है.



ट्रक चालक अरुण शर्मा महाराष्ट्र का रहने वाला है. दिल्ली में माल खाली करके वह हरियाणा के सोनीपत के कुंडली में गाड़ी में माल भरने आया था. देश में 24 मार्च को लॉकडाउन हुआ तो तब से हम यही खड़े हैं घर जाने का रास्ता नही है और कहीं जाने का रास्ता दिखाई नहीं दे रहा है.

truck
ये ट्रक कई दिनों से सोनीपत में ही खड़े हैं और इनके अंदर ड्राइवर फंसे पड़े हैं.


गाड़ी चालकों पर नहीं है किसी का ध्यान

अरुण ने बताया कि दो दिन तक भूखे रहने के बाद कहीं राशन की दुकान मिली तो सामान लाकर गाड़ी में ही दाल और चावल पकाता रहा. गाड़ी चालकों की तरफ कोई ध्यान नहीं देता है. हम यहां कई दिनों से खड़े हैं, हमारा कोई हाल तक पूछने भी नहीं आता है. हम पानी पी कर टाइम काट रहे हैं. इधर चाय भी नहीं मिलती है.

मिर्ची लेकर हैदराबाद से सोनीपत आया था संजीव

ट्रक चालक संजीव कुमार हैदराबाद का रहने वाला है और कुंडली बॉर्डर पर खड़ा हूं. मिर्ची लेकर आया था और गाड़ी को सोनीपत में खाली कर दिया है सब कुछ बंद होने से कहीं आ जा नहीं सकते हैं. गाड़ी में छोटा सिलेंडर तो है पर गैस खत्म हो गयी है.

केले पर कर रहे हैं गुजारा

बिहार के रहने वाले अंग्रेज प्रसाद सोनीपत में ट्रक लिए खड़े हैं. उन्होंने बताया कि वे ट्रक में माल लेकर सोनीपत आये थे. ट्रक के खाली होने के बाद उन्हें दिल्ली वापिस नहीं जाने दिया और हरियाणा दिल्ली के कुंडली बॉर्डर पर खड़े हैं. उनका कहना है कि यहां सभी होटल बंद है. खाने के लिए केले व अन्य फलों का ही सहारा है.

ये भी पढ़ें: कुरुक्षेत्र के कोरोना संदिग्ध युवक की अमेरिका में मौत, दोस्त भी है भर्ती

लॉकडाउन में फंसे 10 कश्मीरी छात्रों को दुष्यंत चौटाला ने मुहैया करवाई मदद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज

corona virus btn
corona virus btn
Loading