सोनीपत: स्कूल को 8वीं तक मान्यता दिलाने के नाम पर ली 3 लाख रुपये की रिश्वत, आरोपी ने खुद किया सरेंडर
Sonipat News in Hindi

सोनीपत: स्कूल को 8वीं तक मान्यता दिलाने के नाम पर ली 3 लाख रुपये की रिश्वत, आरोपी ने खुद किया सरेंडर
आरोपी को कोर्ट ले जाती विजिलेंस की टीम

विजिलेंस टीम (Vigilance Team) ने 9 मार्च को मॉडल टाउन स्थित डीईईओ कार्यालय में क्लर्क पवन को रिश्वत (Bribe) की राशि दी तो टीम ने उसे रंगेहाथ काबू कर लिया था.

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
सोनीपत. जिले के गांव कथूरा में स्कूल को 8वीं की मान्यता दिलाने के नाम पर शिक्षा विभाग के अधिकारियों द्वारा रिश्वत (Bribe) मांगने का मामला सामने आया था. जिसमें विजलेंस टीम के सामने तीन महीने से फरार चल रहे डीईईओ रामफल धनखड़ ने सरेंडर (Surrender) किया है. होली के दिन 3 लाख रुपये की रिश्वत लेते हुए रामफल धनखड़ के सहायक क्लर्क को विजलेंस ने रंगे हाथों गिरफ्तार किया था. सोनीपत विजलेंस टीम ने डीईईओ को कोर्ट में पेशकर जेल भेज दिया है. गांव कथूरा की रहने वाली अधिवक्ता मीना कुमारी ने बताया कि उनके पति गांव कथूरा में किड्स वैली नाम से स्कूल चलाते हैं. स्कूल में आठवीं कक्षा तक की मान्यता लेने के लिए जिला मौलिक शिक्षा अधिकारी रामफल धनखड़ के कार्यालय में दिसंबर, 2019 में आवेदन किया था.

उनका आरोप था कि मान्यता देने की एवज में उनसे 29 फरवरी को तीन लाख रुपये मांगे गए थे. उसके बाद बार-बार कॉल कर जल्द नकदी देने की बात कही थी. मामले को लेकर विजिलेंस रोहतक की टीम से संपर्क किया था. जिसके बाद इंस्पेक्टर प्रदीप कुमार की टीम बनाई थी. साथ ही तहसीलदार सोनीपत विकास कुमार को ड्यूटी मजिस्ट्रेट नियुक्त किया था.

9 मार्च को ली थी रिश्वत
टीम ने 9 मार्च को मॉडल टाउन स्थित डीईईओ कार्यालय में क्लर्क पवन को रिश्वत की राशि दी तो टीम ने उसे रंगेहाथ काबू कर लिया था. इस दौरान डीईईओ कार्यालय से निकल गया था. अब मामले में आरोपी डीईईओ गांव करौथा निवासी रामफल धनखड़ ने विजिलेंस के सामने सरेंडर कर दिया है. टीम ने आरोपी की कार से स्कूल द्वारा मान्यता लेने के लिए भेजी गई फाइल को बरामद किया है. विजिलेंस कई माह से उसकी गिरफ्तारी के लिए दबिश दे रही थी.



न्यायिक हिरासत में भेजा गया


विजिलेंस के इंस्पेक्टर जगत सिंह ने बताया कि स्कूल को मान्यता देने की एवज में तीन लाख रुपये की रिश्वत मांगने के मामले में आरोपी डीईईओ ने विजलेंस कार्यालय में सरेंडर किया हैं. आरोपी की कार से फाइल बरामद की है. आरोपी को अदालत में पेश किया, जहां से उसे न्यायिक हिरासत में भेज दिया गया.

First published: May 11, 2020, 12:34 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading