लाइव टीवी

दो महीने का बिजली बिल 5 लाख 52 हजार, उपभोक्ता के उड़े होश
Sonipat News in Hindi

Virender Puri | ETV Haryana/HP
Updated: January 10, 2018, 11:51 AM IST
दो महीने का बिजली बिल 5 लाख 52 हजार, उपभोक्ता के उड़े होश
प्रतीकात्मक तस्वीर

बिजली निगम की बड़ी लापरवाही सामने आई है. निगम ने एक उपभोक्ता केघर का बिल 5 लाख 52 हजार 45 रुपये भेज दिया, जबकि दो माह पहले पांच हजार के करीब बिल आया था. बिल में मीटर की पुरानी रीडिंग 7325 थी, जबकि दो माहकी 79 हजार 766 रीडिंग दिखाई गई है. ऐसे में बिल की भारी भरकम राशि को देख उपभोक्ता के होश उड़ गए.

  • Share this:
बिजली निगम की बड़ी लापरवाही सामने आई है. निगम ने एक उपभोक्ता के घर का बिल 5 लाख 52 हजार 45 रुपये भेज दिया, जबकि दो माह पहले पांच हजार के करीब बिल आया था. बिल में मीटर की पुरानी रीडिंग 7325 थी, जबकि दो माह की 79 हजार 766 रीडिंग दिखाई गई है. ऐसे में बिल की भारी भरकम राशि को देख उपभोक्ता के होश उड़ गए.

बालाजी कॉलोनी निवासी सतबीर सिंह ने बताया कि दो माह से उसके घर में लगे हुए मीटर का बिल नहीं आया. जब उसने पेटीएम से भरने के लिए बिल को देखा तो बिल की भारी-भरकम राशि को देख वह हैरान रह गया.

उपभोक्ता ने बताया कि वह बिल निकलवाने के लिए कार्यालय पहुंचा. जब मिले हुए बिल को देखा तो 5 लाख 52 हजार 45 रुपये की राशि थी. भारी-भरकम बिल की राशि को देख जब उसने बिजली कर्मचारियों के बात की तो कर्मचारियों ने कहा यह गलती से हुआ है, पर ठीक कोई नहीं कर रहा है केवल आश्वासन दे रहे है.

उपभोक्ता ने कहा निगम अधिकारियों व कर्मचारियों की यह बड़ी लापरवाही है. पिछले दो माह से उपभोक्ताओं के घर बिल नहीं पहुंच रहे हैं. जब वे भरने के लिए जाते हैं तो जुर्माना उन्हें लगाया जा रहा है. जब बिल ही नहीं पहुंच रहे तो जुर्माना राशि उपभोक्ता से क्यों वसूली जा रही है.



गलत बिल को ठीक करवाने के लिए पहुंच रहे कार्यालय

बिजली निगम कार्यालय में इन दिनों गलत बिलों को ठीक करवाने के लिए उपभोक्ता पहुंच रहे हैं. उपभोक्ताओं का कहना है कि बिल दो माह से नहीं भेजे जा रहे हैं. लोग बिल की राशि जमा करवाने के लिए लोग बिल निकलवा रहे हैं तो राशि कई गुणा दी जा रही है, इस कारण लोगों में बिजली निगम के प्रति रोष है. बिल को देख लोगों को झटका लगता है.

क्या कहते है अधिकारी

इस बारे जब बिजली विभाग के एसडीओ मनोज कुंडू से बात की गई तो उन्होंने कहा कि मामला संज्ञान में आया है कुछ टेक्निकल गलती हुई है और ऐसे काफी बिल है इसलिए इनके बिल रोक दिए गए हैं और जल्दी ही इन्हें ठीक  कर दिया जाएगा.

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सोनीपत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: January 10, 2018, 11:51 AM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर