Home /News /haryana /

हरियाणा: कुंडली बॉर्डर पर 32 जत्थेबंदियों की बैठक खत्म, 4 दिसंबर को हो सकता है कोई बड़ा फैसला

हरियाणा: कुंडली बॉर्डर पर 32 जत्थेबंदियों की बैठक खत्म, 4 दिसंबर को हो सकता है कोई बड़ा फैसला

बैठक खत्म होने के बाद किसान नेता सतनाम सिंह का बड़ा बयान सामने आया है. उन्होंने कहा है कि सरकार ने हमारी सभी मांगे मान ली है. (सांकेतिक फोटो)

बैठक खत्म होने के बाद किसान नेता सतनाम सिंह का बड़ा बयान सामने आया है. उन्होंने कहा है कि सरकार ने हमारी सभी मांगे मान ली है. (सांकेतिक फोटो)

Kisan Andolan: किसान आंदोलन के चलते हरियाणा में जो मामले दर्ज हुए हैं उन पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल से चर्चा होगी. कहा जा रहा है कि कल मुख्यमंत्री से कई किसान संगठन के नेता मिल सकते हैं. साथ ही कहा जा रहा है कि मुकदमे वापसी पर भी चर्चा होगी. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसान नेताओं को कल सुबह 11:00 बजे मीटिंग के लिए बुलावा भेजा है. किसान नेता अभी इस पर विचार कर रहे हैं.

अधिक पढ़ें ...

सोनीपत. सोनीपत (sonipat) स्थित कुंडली बॉर्डर (Kundli Border) पर 32 जत्थेबंदियों की बैठक ख़त्म हो गई है. वहीं, खबर है कि केंद्र सरकार ने संयुक्त किसान मोर्चा (Sanyukt Kisan Morcha) से एमएसपी पर गारंटी कानून पर पांच नाम मांगे हैं. साथ ही गृह मंत्रालय ने सभी प्रदेश के मुख्यमंत्रियों को मुकदमे वापिस लेने का प्रस्ताव भेजा है. अब 1 व 4 दिसंबर को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठकें होंगी.

वहीं, बैठक खत्म होने के बाद किसान नेता सतनाम सिंह का बड़ा बयान सामने आया है. उन्होंने कहा है कि सरकार ने हमारी सभी मांगे मान ली है. साथ ही उन्होंने कहा कि 4 दिसंबर को आंदोलन वापिसी का फैसला वापिस लिया जा सकता है. वहीं, हरियाणा के किसान नेता कल मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर के साथ बैठक करेंगे.

किसान नेता अभी इस पर विचार कर रहे हैं
जानकारी के मुताबिक, किसान आंदोलन के चलते हरियाणा में जो मामले दर्ज हुए हैं उन पर मुख्यमंत्री मनोहर लाल से चर्चा होगी. कहा जा रहा है कि कल मुख्यमंत्री से कई किसान संगठन के नेता मिल सकते हैं. साथ ही कहा जा रहा है कि मुकदमे वापसी पर भी चर्चा होगी. हरियाणा के मुख्यमंत्री मनोहर लाल खट्टर ने किसान नेताओं को कल सुबह 11:00 बजे मीटिंग के लिए बुलावा भेजा है. किसान नेता अभी इस पर विचार कर रहे हैं.

विपक्ष को बोलने की इजाजत नहीं दी गई
मालूम हो कि संसद के शीतकालीन सत्र के पहले दिन सोमवार को लोकसभा और राज्य सभा दोनों ही सदनों से तीनों कृषि कानूनों को वापस लेने का विधेयक पास हो गया. विपक्ष ने सरकार पर बिना चर्चा के इस विधेयक के पास कराने का आरोप लगाया था. कांग्रेस नेता राहुल गांधी ने तो सरकार पर चर्चा से डरने का आरोप भी लगा दिया. वहीं सपा सांसद जया बच्चन ने कहा कि उन्होंने संसद में ऐसा माहौल कभी नहीं देखा, जहां विपक्ष को बोलने की इजाजत नहीं दी गई.

Tags: Haryana news, Kisan Andolan, Manohar Lal Khattar, Sonipat news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर