Home /News /haryana /

Sonipat Wrestler Murder Case: पुलिस ने आरोपियों पर रखा इनाम, गिरफ्तारी तक नहीं होगा अंतिम संस्कार

Sonipat Wrestler Murder Case: पुलिस ने आरोपियों पर रखा इनाम, गिरफ्तारी तक नहीं होगा अंतिम संस्कार

सोनीपत में पहलवान की हत्या मामले में गांव वालों ने पंचायत की है.

सोनीपत में पहलवान की हत्या मामले में गांव वालों ने पंचायत की है.

Sonipat Wrestler murder Case: हलालपुर गांव में आरोपी पवन नामक शख्स एके कुश्ती एकेडमी चलाता है, जिसमें हलालपुर गांव की रहने वाली राष्ट्रीय स्तर की कुश्ती खिलाड़ी निशा प्रैक्टिस करने के लिए आती थी. बुधवार शाम को भी वह अपने भाई सूरज के साथ एकेडमी पहुंची. उसकी मां धनपति भी साथ ही थी. इसी दौरान इन तीनों पर फायरिंग कर दी गई. निशा और सूरज ने तो मौके पर ही दम तोड़ दिया, जबकि मां धनपति गंभीर रूप से घायल है. महिला का दिल्ली में निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है.

अधिक पढ़ें ...

सोनीपत. हरियाणा के सोनीपत (Sonipat) के गांव हलालपुर में पहलवान (Wrestler) निशा और उसके भाई सूरज की हत्या मामले में पुलिस ने हत्या आरोपियों पर 1 लाख रुपये का ईनाम रखा है. पुलिस ने मामले में कुछ लोगों को हिरासत में भी लिया है. सोनीपत पुलिस (Sonipat Police) ने पंचायत में यह जानकारी दी है. सोनीपत पुलिस की चार क्राइम ब्रांच की टीमें लगातार हत्या आरोपियों की तलाश में छापेमारी कर रही हैं.

जानकारी के अनुसार, गुरुवार सुबह कुश्ती कोच और उसके साथियों की गिरफ्तारी के लिए गांव में पंचायत बुलाई गई थी. पंचायत में फैसला लिया गया कि जब तक आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होगी, तब तक वह अपने शवों का दाह संस्कार नहीं करेंगे और हत्या आरोपियों पर पुलिस 5 लाख का इनाम भी रखे. निशा और सूरज के पिता दयानंद सीआरपी में तैनात है और हाल फिलहाल जम्मू कश्मीर के सोपोर जिले में तैनात हैं.

गांव में हुई पंचायत

इस हत्याकांड के बाद गांव में दहिया खाप के प्रतिनिधियों और ग्रामीणों ने एक पंचायत बुलाई जिसमें यह फैसला लिया गया कि जब तक हत्या आरोपियों की गिरफ्तारी नहीं होगी, तब तक वह अपने बच्चों का दाह संस्कार नहीं करेंगे. मामले की जांच कर रहे सब इंस्पेक्टर रमेश चंद ने घायल मां का दिल्ली के एक निजी अस्पताल में इलाज चल रहा है. मां के बयान पर हत्या का मुकदमा दर्ज कर आगामी कार्यवाही की जा रही है. मां ने बताया है कि पवन कोच ने अपने साथियों के साथ मिलकर इस वारदात को अंजाम दिया है.

छेड़छाड़ से जुड़ा है मामला

शुरुआती जांच में निशा की मां ने बताया कि पवन उसकी बेटी के साथ छेड़खानी करता था, जिसका विरोध वह कर रहे थे. अपने बेटे और बेटी को खो चुके सेना के जवान दयानंद ने बताया कि वह जम्मू कश्मीर में सोपोर जिले में कम्युनिकेशन इंचार्ज के पद पर तैनात है. निशा करीब 3 साल से कुश्ती एकेडमी में खेल रही थी और पवन उसे बहला-फुसलाकर नेशनल वर्ड नेशनल तक खिलाने का झांसा दे रहा था. ब्रेन वाश करके उसको वहां खिला रहा था. पैसे ऐंठने के लिए अपनी दुकान चला रहा था. इस तरह का काम कर रहा था, उसने मेरी बेटी का भविष्य ताले के अंदर बंद कर दिया था. मैंने कई बार अपनी बेटी को सोनीपत भी भेजने की कोशिश की, लेकिन वह मानती नहीं थी. पवन एक अपराधिक प्रवृत्ति का आदमी था. मैंने उसको समझाया था कि वह ऐसा ना करें, अन्यथा वह पुलिस ने उसकी शिकायत कर देंगे, लेकिन इसके बावजूद वह उसकी बेटी को झांसे में रखे हुए था.

Tags: Brutal Murder, Haryana Border, Sonipat police

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर