लाइव टीवी

गोहाना: फसल नहीं खरीदने पर नाराज किसानों ने सरकार को दी आत्महत्या करने की चेतावनी

Sunil Jindal | News18 Haryana
Updated: November 1, 2019, 12:29 PM IST
गोहाना: फसल नहीं खरीदने पर नाराज किसानों ने सरकार को दी आत्महत्या करने की चेतावनी
नाराज किसानों ने मंडी में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी की.

गोहाना (सोनीपत) की अनाज मंडी में पिछले कई दिनों से धान की फसल नहीं बिकने से नाराज किसानों (Farmers) ने मंडी में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी की.

  • Share this:
गोहाना (सोनीपत). हरियाणा (Haryana) में गोहाना (सोनीपत) की अनाज मंडी में पिछले कई दिनों से धान की फसल नहीं बिकने से नाराज किसानों (Farmers) ने मंडी में सरकार के खिलाफ प्रदर्शन करते हुए जमकर नारेबाजी की. किसानों का कहना आज इस सरकार में किसानों की अनदेखी (Ignorance) हो रही है. इसी के साथ किसानों ने सरकार को चेतावनी (Warning) दी है कि अगर फसलों को नहीं खरीदा गया, तो किसान आत्महत्या (Suicide) करने पर मजबूर हो जाएंगे.

नई सरकार से किसानों को थी उम्मीदें

किसानों का कहना है कि प्रदेश में नई सरकार बनने से पहले धान जिस रेट में बिक रहा था अब उसी फसल का रेट कम करने पर भी धान की फसल की खरीदी नहीं हो पा रही है. सरकार बनने के बाद किसानों को उम्मीद थी कि धान की फसल का दाम कुछ बढ़ेगा, लेकिन फसल के दाम बढ़ने के बजाए काफी गिर गए हैं. इसकी वजह से किसान ने काफी मायूस और परेशान हैं.

आर्थिक तंगी से गुजर रहे किसान

किसानों का कर्जे पर उठाया हुआ पैसा और  ठेके पर ली हुई जमीन का खर्च भी पूरा नहीं हो हो पा रहा है. आर्थिक तंगी से गुजर रहे किसानों ने चेतावनी दी है कि हालात नहीं सुधरे तो वे आत्महत्या करने को मजबूर हो जाएंगे.

व्यापारी भी किसान की मजबूरी का उठा रहे नाजायज फायदा

किसानों ने कहा कि उनकी हालत बहुत खराब है. पिछले कई दिनों से मंडी में उनकी धान की फसल पड़े हुए हैं, बावजूद इसके उनकी फसल का दाम नहीं मिल रहा है. किसानों ने व्यापारियों पर भी आरोप लगाया है. उनका कहना है कि जानबूझकर व्यापारियों ने एकजुटता के साथ रेट कम कर दिया है. 3-4 दिन तक मंडी में पड़े रहने के बाद किसान अब अपनी फसलों को औने-पौने दाम पर बेचने को मजबूर हो जाएंगे. इसी बात को लेकर व्यापारी नाजायज फायदा उठा रहे हैं.
Loading...

ऐसी परिस्थितियों में किसान निश्चित तौर पर कहीं ना कहीं अपने आप को ठगा महसूस कर रहा है. इसी के चलते उन्होंने चेतावनी भी दी है कि अगर उनकी फसल के रेट नहीं मिले, नहीं तो वे या तो सरकार का घेराव करेंगे या फिर आत्महत्या कर लेंगे. अब देखना होगा कि प्रदेश की सरकार किसानों के हित के लिए क्या कदम उठाती है.

ये भी पढ़ें:- सोनीपत : मंडी में समय पर धान की खरीद नहीं होने से दुखी हैं किसान

ये भी पढ़ें:- जम्मू में मिले पिहोवा के तीन लापता बच्चे, सुरक्षित लाए गए कुरुक्षेत्र...

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए सोनीपत से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 1, 2019, 12:29 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...