Home /News /haryana /

Kisan Aandolan: किसानों का आंदोलन जारी रहेगा, 29 नवंबर को होगा संसद तक ट्रैक्टर मार्च

Kisan Aandolan: किसानों का आंदोलन जारी रहेगा, 29 नवंबर को होगा संसद तक ट्रैक्टर मार्च

जारी रहेगा किसानों का आंदोलन

जारी रहेगा किसानों का आंदोलन

SKM Meeting at Singhu Border:संयुक्त किसान मोर्चा ने एक बयान जारी कर कहा था कि 26 नवंबर को आंदोलन की वर्षगांठ पर विरोध प्रदर्शनों के साथ-साथ दिल्ली को छोड़कर देश के अन्य राज्यों की राजधानियों में ट्रैक्टर और बैलगाड़ी परेड निकाली जाएगी. 29 नवंबर से प्रतिदिन 500 प्रदर्शनकारियों का ट्रैक्टर-ट्रालियों से संसद तक शांतिपूर्ण मार्च योजनानुसार होगा.

अधिक पढ़ें ...

सोनीपत. कृषि सुधार कानूनों को वापस लिए जाने की पीएम नरेंद्र मोदी (PM Narendra Modi) की घोषणा के बाद रविवार को संयुक्त किसान मोर्चा की बैठक हुई. बैठक के बाद संयुक्त किसान मोर्चा के नेता बलबीर सिंह राजेवाल (Balbir Singh Rajewal) ने बताया कि बैठक में कानून वापसी पर चर्चा हुई. बैठक में कुछ फैसले हुए हैं. पहले से तय प्रोग्राम चलते रहेंगे. 27 नवंबर को फिर से संयुक्त किसान मोर्च की बैठक होगी. जो मांगे बाकी रह गई है, उस पर पीएम को ओपन लेटर लिखा जाएगा.

आज सिंघू बॉर्डर पर करीब तीन घंटे SKM की बैठक चली. बैठक की अध्यक्षता कर रहे बलबीर सिंह राजेवाल ने प्रेस कांफ्रेंस करके बैठक में लिए गए फैसलों को सामने रखा. बलबीर सिंह राजेवाल ने कहा कि बैठक में आज पीएम मोदी के कृषि कानून वापस लिए जाने पर चर्चा हुई. एसकेएम ने आगे की रणनीति बनाई है. जिसके तहत हम प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी को एक खुला पत्र लिखेंगे जिसमें MSP, बिजली संशोधन बिल, किसानों पर दर्ज मुक़दमे और किसान आंदोलन पर किसानों की मौत वो क्या फैसले लेंगे ये पूछा जाएगा.

बैठक के बाद राजेवाल ने कहा कि हमने मीटिंग में तय किया है कि जो कार्यक्रम संयुक्त किसान मोर्चा ने पहले तय किए थे वे आगे भी जारी रहेंगे. 27 तारीख को फिर से संयुक्त किसान मोर्चा की मीटिंग होगी. जो मांगे बाकी रह गई है उसके बारे में प्रधानमंत्री को पत्र लिखा जाएगा. उन्होंने कहा कि 29 नवंबर को संसद तक ट्रैक्टर मार्च होगा. वहीं पराली कानून,  बिजली बिल, एमएसपी क़ानून को लेकर सरकार को खुली चिट्ठी लिखेंगे.

बता दें कि कृषि सुधार कानून वापस लिए जाने की प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी की घोषणा के बावजूद किसान संगठन प्रदर्शन जारी रखेंगे. संयुक्त किसान मोर्चा ने रविवार को बैठक कर निर्णय लिया कि आंदोलन के लिए पूर्व में जो कार्यक्रम निर्धारित किए गए थे, वे जारी रहेंगे. 22 नवंबर को लखनऊ में महापंचायत, 26 नवंबर को आंदोलन के एक साल पूरे होने पर सभी मोर्चो पर भीड़ बढ़ाई जाएगी और संसद का शीतकालीन सत्र शुरू होने पर 29 नवंबर को संसद कूच किया जाएगा.

बता दें कि सिंघु बॉर्डर पर संयुक्त किसान मोर्चे की बैठक से पहले योगेंद्र यादव ने आज मीडिया के साथ बातचीत की थी. इसमें उन्होंने बताया था कि एसकेएम की बैठक से पहले हरियाणा स्कीम की एक बैठक हुई है. कृषि कानूनों की वापसी की घोषणा का स्वागत है, लेकिन MSP और किसानों के खिलाफ दर्ज केस पर कोई बात नहीं की गई है. योगेंद्र यादव ने कहा कि एसकेएम की बैठक में इन सभी मुद्दों पर भी चर्चा होगी.

Tags: Farmer Protest, Kisan Aandolan, SKM

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर