Kisan Andolan: जब सोनीपत सिंघु बॉर्डर पर 'झोटा कर्ण' को देखने उमड़ पड़े किसान, जानें पूरा मामला

झोटा कर्ण की कीमत डेढ़ करोड़ रुपये है.

केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों के खिलाफ हरियाणा के सोनीपत सिंघु बॉर्डर (Sonepat Singhu Border) पर आंदोलन चल रहा है. हालांकि आंदोलन में इस समय डेढ़ करोड़ का झोटा कर्ण (बैल) चर्चा में है.

  • Share this:
सोनीपत. केंद्र सरकार के तीन कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर किसानों का प्रदर्शन पिछले 67 दिन से जारी है और किसान आंदोलन (Kisan Andolan) की अलग-अलग तस्वीरें भी सामने आ रही हैं. इस बीच सोनीपत सिंघु बॉर्डर (Sonepat Singhu Border) पर नांगल कला का रहने वाला एक किसान जोगिंदर अपने डेढ़ करोड़ के झोटे के साथ किसानों को समर्थन देने पहुंचा है. जबकि वह किसानों के बीच आकर्षण का केंद्र बना हुआ है.

किसान आंदोलन का समर्थन करने पहुंचे जोगिंदर ने बताया कि इस झोटे (बैल) की कीमत लगभग डेढ़ करोड़ आकी गई है, लेकिन मैं इसे किसी भी कीमत पर नहीं बेचूंगा क्योंकि यह मेरे बच्चे की तरह है.



झोटे की खुराक का किसान ने किया खुलासा
किसान जोगिंदर अपने डेढ़ करोड़ के झोटे की खुराक को लेकर कहा कि यह हर रोज 5 किलो बिनौले, 5 किलो दूध और 5 किलो खल के साथ-साथ आधा किलो घी खा जाता है. वहीं उन्‍होंने किसान आंदोलन के बाबत कहा कि जब तक सरकार हमारी मांगे नहीं मानेगी तब तक हम यहीं बैठे रहेंगे. हम आपको बता दें कि जोगिंदर और उसका डेढ़ करोड़ का झोटा कर्ण किसानों के आकर्षण का केंद्र बना हुआ है. यही नहीं, हर किसान इस झोटे को न सिर्फ छूकर देख रहा है बल्कि फोटो भी ले रहा है.

बहरहाल, किसान आंदोलन के समर्थन में मलिका खाप की पंचायत हुई. 6 गांवों ने पंचायत कर निर्णय लिया कि गांवों से किसान दिल्ली के सिंघु बॉर्डर पर पहुंचेंगे. रविवार को एक के बाद एक करके सैंकड़ों की संख्या में ट्रैक्टर ट्रॉलियों में किसान सिंघु बॉर्डर की ओर कूच कर गए. इन किसानों में काफी संख्या में महिलाएं भी मौजूद हैं और इन महिलाओं का हौसला भी देखते बन रहा है. पंचायत में फैसला लिया गया था कि रविवार को 30 से 35 ट्रैक्टर-ट्रॉली से 300 से अधिक किसान धरने में शामिल होने सिंघु बॉर्डर जाएंगे. 6 गांवों की पंचायत के प्रधान राजकुमार मलिक ने कहा कि यह किसी एक जाति की लड़ाई नहीं है. यह सभी जाति के किसानों की लड़ाई है.किसान के लिए सरकार ने बिल बनाया है, लेकिन किसान बिल नहीं चाहते हैं तो वापस लेने में क्या हर्ज हो रही है.

पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.