Kisan Andolan: कल सुबह 8 बजे तक पलवल एक्सप्रेस-वे जाम, सोनीपत KMP टोल पर किसानों का भारी जमावड़ा

किसानों ने पलवल एक्सप्रेस-वे रविवार सुबह कर किया जाम.

किसानों ने पलवल एक्सप्रेस-वे रविवार सुबह कर किया जाम.

Haryana News: हरियाणा में एक बार फिर किसान (Farmers Protest in Haryana) केंद्र सरकार को कड़ी ललकार दे रहे हैं. अपनी मांगों पर अड़े किसानों ने रविवार सुबह 8 बजे तक गाजियाबाद पलवल (Ghaziabad Palwal Expressway) और कुंडली मानेसर पलवल एक्सप्रेसवे (Kundali Manesar Palwal Expressway) को जाम कर दिया है. 

  • Share this:
सोनीपत. केंद्र सरकार के नए कृषि कानूनों (Farm Law) के खिलाफ दिल्ली (Delhi)  की सीमाओं पर किसानों का आंदोलन लगातार जारी है. सरकार किसानों की मांगें मानने को तैयार नहीं है. इसके चलते संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किसानों ने आज 24 घंटे के लिए खुली गाजियाबाद पलवल (Ghaziabad Palwal Expressway) और कुंडली मानेसर पलवल एक्सप्रेसवे (Kundali Manesar Palwal Expressway) जाम कर दिया है. अब यह जाम कल सुबह 8:00 बजे किसान खोलेंगे. इसके साथ ही केएमपी टोल पर किसानों का भारी जमावड़ा है.






संयुक्त किसान मोर्चा के आह्वान पर किसानों ने शनिवार सुबह 8 बजे से कल सुबह 8 बजे तक तीन कृषि कानूनों के विरोध में केजीपी और केएमपी को जाम कर दिया है. किसान आंदोलन को दिल्ली की सीमाओं पर आज 135 दिन हो चुके हैं. सरकार के साथ 12 दौर की बातचीत के बाद डेडलॉक लग गया है. अब किसान सरकार को झुकाने के लिए अलग-अलग रणनीति बना रहे हैं ताकि ये कृषि कानून वापिस हो सकें.



कानून हटने तक नहीं होगी घर वापसी: किसान नेता






किसान नेता बलदेव सिंह सिरसा ने कहा कि जब तक ये तीनों कृषि कानून वापिस नहीं होंगे हम आंदोलन को और तेज करेंगे. उन्होंने कहा कि आज हम संयकुत किसान मोर्चा के आह्वान पर केजीपी और केएमपी को जाम करेंगे. ये जाम 24 घंटे के लिए होगा. कल सुबह 8 बजे खुलेगा. किसान नेता ने दावा किया कि आगे कि रणनीति भी हम बना रहे है ताकि सरकार को झुकाया जा सकें. वहीं अन्य किसानों ने भी बलदेव सिरसा के बयान के साथ सुर से सुर मिलाए और कहा कि जब तक कृषि कानून वापिस नहीं तब तक घर वापसी नहीं.




फिर दिल्ली कूच की तैयारी में किसान

केंद्र सरकार के कृषि कानूनों को वापस लेने की मांग को लेकर दिल्ली के तीन तरफ बॉर्डर पर बैठे किसान अब एक बार फिर दिल्ली कूच करने की तैयारी में हैं. किसान महासभा के रामपाल जाट ने गुरुवार को नई दिल्ली डीसीपी ऑफिस में दिल्ली के जंतर मंतर पर कृषि कानूनों की वापसी की मांग को लेकर प्रस्तावित अनिश्चितकालीन धरने की इजाजत लेने के लिए आवेदन किया है. रामपाल जाट ने कहा कि हमारा उद्देश्य किसी से बैर लेना नहीं, बल्कि किसानों की भलाई के लिए इन कानूनों में बड़े संशोधन या इनकी वापसी की मांग के लिए सकारात्मक लड़ाई लड़ना है.

ये भी पढ़ें: Farmers Protest: फिर दिल्ली कूच की तैयारी में किसान, 13 अप्रैल से जंतर मंतर में अनशन की मांगी इजाजत 

रामपाल जाट ने कहा कि इसके लिए हमने 13 अप्रैल से दिल्ली के जंतर मंतर पर धरने क्रमिक अनशन उपवास को लेकर नई दिल्ली डीसीपी ऑफिस में अनुमति के लिए आवेदन किया है. इस संबंध में दिल्ली पुलिस की ओर से चाही गई सभी औपचारिकताएं पूरी कर दी गई है. हमें पूरी उम्मीद है कि इस धरने के लिए हमें इजाजत मिल जाएगी.


अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज