रोहतक में मिले नरकंकाल की गुत्थी सुलझी, दोस्तों ने की थी हत्या

ETV Haryana/HP
Updated: November 15, 2017, 3:14 PM IST
रोहतक में मिले नरकंकाल की गुत्थी सुलझी, दोस्तों ने की थी हत्या
पुलिस ने सुलझाई मर्डर की गुत्थी
ETV Haryana/HP
Updated: November 15, 2017, 3:14 PM IST
रोहतक की किलोई नहर के पास एक सप्ताह पहले मिले कंकाल मामले की गुत्थी को पुलिस ने सुलझा लिया है. यह कंकाल किलोई गांव से करीब तीन माह पहले गायब हुए नवीन का था जिसकी उसी के गांव के संदीप ने अपने दो साथियों के साथ मिलकर हत्या कर दी थी. संदीप ने अपने भाई की मौत के बदले नवीन की जान ले ली. रोहतक पुलिस ने तीनों आरोपियों को गिरफ्तार कर लिया है.

बताते चलें कि किलोई गांव निवासी मोनू की 26 जुलाई 2017 को ऑटो पलटने से मौत हो गई थी. ऑटो में मोनू के साथ किलोई गांव के ही नवीन, कृष्ण और राहुल थे, जबकि ऑटो को चालक पवन चला रहा था. मृतक मोनू के भाई संदीप ने इसे हादसे न मानकर हत्या माना.

इसी बात की रंजिश रखते हुए उसने आटो में सवार चारों की हत्या करने की ठान ली. इसके बाद उसने किलोई गांव के संदीप उर्फ बच्ची और सोनू के साथ मिलकर नवीन की हत्या की योजना बनाई. 23 अगस्त को मोनू के भाई संदीप के साथी नवीन को घर से बुलाकर ले गए. सभी ने धामड़ पुल पर बैठकर शराब पी. फिर धान के खेतों में पानी में डुबोकर नवीन की हत्या कर दी. हत्या के बाद नवीन के शव को मोटरसाइकिल पर नहर की पटरी पर ले गए, जहां नवीन के कपड़े निकालकर शव को नहर की पटरी के साथ फेंक कर फरार हो गए.

रोहतक के एसपी पंकज नैन ने बुधवार को प्रेस कांफ्रेंस में बताया कि नवीन के परिजनों ने एक सितंबर को रोहतक पुलिस में शिकायत दर्ज कराई जिसमें साफ तौर पर 5 युवकों के खिलाफ नामजद केस दर्ज हुआ. इस मामले में पुलिस को कोई सफलता हासिल नहीं हुई तो अपराध जांच शाखा को जांच का जिम्मा सौंपा गया.

इस बीच 9 नवंबर को पुलिस को किलोई नहर के पास एक मानव कंकाल की सूचना मिली. पोस्टमार्टम के बाद डीएनए जांच के लिए भेज दिया गया. यह कंकाल किलोई से गायब हुए नवीन का होने के बारे में शक हुआ. इस मामले की गहराई से जांच की गई तो पूरी गुत्थी सुलझ गई. पुलिस ने किलोई निवासी संदीप, संदीप उर्फ बच्ची और सोनू को नवीन की हत्या के आरोप में गिरफ्तार कर लिया.
First published: November 15, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर