Home /News /haryana /

Singhu Border Murder: हत्यारोपी चारों निहंगों को अदालत ने भेजा जेल, दो घंटे तक चली सुनवाई

Singhu Border Murder: हत्यारोपी चारों निहंगों को अदालत ने भेजा जेल, दो घंटे तक चली सुनवाई

लखबीर की हत्या में चारों निहंग भेजे जेल

लखबीर की हत्या में चारों निहंग भेजे जेल

Singhu Border murder Case: सिंघु बार्डर पर कृषि कानून विरोधी प्रदर्शन स्थल पर एक युवक की नृशंस हत्या कर दी गई थी. 15 अक्टूबर को हाथ-पैर काटकर उसका शव चौराहे पर टांग दिया गया था. उसको कई घंटे तक तड़पा-तड़पाकर मारा गया था. मृतक की पहचान पंजाब के तरनतारन जिले के चीमा खुर्द के रहने वाले एससी युवक लखबीर के रूप में हुई थी. इस मामले में पुलिस ने अज्ञात के खिलाफ रिपोर्ट दर्ज किया था. इस हत्याकांड की वीडियो और फोटो वायरल किए गए. लखबीर की हत्या करने का जिम्मा निहंगों ने लिया. उन्होंने लखबीर पर धर्म ग्रंथ की बेअदबी करने का आरोप लगाया.

अधिक पढ़ें ...

सोनीपत. सिंघु बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में लखबीर सिंह (Lakhbir Singh) नाम के एक शख्स की बेरहमी से हत्या मामले में गिरफ्तार निहंग नारायण सिंह, भगवत सिंह, गोविंद प्रीत सिंह और सरबजीत सिंह की सोनीपत कोर्ट में रिमांड (Remand) पूरा होने के बाद पेशी हुई. एसीजीएम अरविंद कुमार की कोर्ट में दो घंटे चली सुनवाई के बाद चारों निहंगों को न्यायिक हिरासत जेल भेज दिया गया. इसके बाद सोनीपत पुलिस क्राइम ब्रांच की टीम के साथ चारों को सोनीपत जेल छोड़ आई.

दशहरे के दिन सोनीपत सिंघु बॉर्डर पर चल रहे किसान आंदोलन में निहंग सरदारों ने बेअदबी का आरोप लगाते हुए पंजाब के तरनतारन के रहने वाले लखबीर सिंह नाम के एक शख्स की बेरहमी से हत्या कर डाली थी. इस पूरे प्रकरण में सोशल मीडिया पर वीडियो भी वायरल हुए, जिसके बाद सोनीपत पुलिस के सामने चार निहंगों ने आत्मसमर्पण किया. चारों को सोनीपत पुलिस ने करीब 9 दिन रिमांड पर लेकर गहनता से पूछताछ की. सोमवार को चारों को सोनीपत के एसीजीएम अरविंद कुमार की कोर्ट में पेश किया गया.

कोर्ट में बचाव पक्ष और सरकारी वकील के बीच में कई घंटे बहस चली और जिसके बाद चारों को 14 दिन के न्यायिक हिरासत जेल भेज दिया गया. अब अगली सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी. बचाव पक्ष के वकील भगवत सिंह सियाल ने मीडिया से बातचीत करते हुए कहा कि आज कोर्ट के अंदर जो दलीलें रखी गई थी उन पर बहस हुई. जिसमें गोविंदपुरी को छोड़कर अन्य तीनों पर से एससी एक्ट की धाराएं हटा दी गई. कोर्ट ने सरकारी वकील को आर्म्स एक्ट क्यों हटाया जाए इसका नोटिफिकेशन 1 नवंबर को दिखाने के लिए कहा है. अगली सुनवाई वीडियो कॉन्फ्रेंसिंग के जरिए होगी.

सोनीपत कोर्ट में निहंगों की पेशी व कोर्ट में सुनवाई के बाद इस मामले की जांच कर रहे डीएसपी राव वीरेंद्र ने बताया कि आज चारों का रिमांड पूरा होने के बाद 14 दिन की न्यायिक हिरासत में भेज दिया है. उन्होंने बताया कि इस पूरे मामले में एक अन्य आरोपी की अभी हमें गिरफ्तारी करनी है, जिसके लिए हम लगातार दबिश दे रहे हैं.

उन्होंने बताया कि इस पूरे मामले में नारायण सिंह भगवत सिंह और सरबजीत पर से एसटी एक्ट हटा दिया गया है जबकि गोविंदप्रीत सिंह एसटी एक्ट लगा है. आर्म्स एक्ट के बारे में सरकारी वकील से राय ली गई है कि क्या सिख तलवार रख सकते हैं.

Tags: Crime News, Haryana police, Singhu Border

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर