Home /News /haryana /

Singhu Border Murder: किसान नेता राकेश टिकैत का बयान, बोले- घटना से हमारा कोई मतलब नहीं, कानून अपना काम करेगा

Singhu Border Murder: किसान नेता राकेश टिकैत का बयान, बोले- घटना से हमारा कोई मतलब नहीं, कानून अपना काम करेगा

सिंघु बॉर्डर घटना पर किसान नेता राकेश टिकैत ने बड़ा बयान दिया है.

सिंघु बॉर्डर घटना पर किसान नेता राकेश टिकैत ने बड़ा बयान दिया है.

Singhu Border Murder: केंद्र सरकार के तीन नये कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर पर पिछले 11 महीनों से किसान आंदोलन चल रहा है. इस बीच शुक्रवार सुबह मंच के पास एक युवक का हाथ कटा शव मिलने से एक नया विवाद खड़ा हो गया है. वहीं, संयुक्‍त किसान मोर्चा (Samyukt Kisan Morcha) ने साफ तौर पर कहा कि इस घटना से हमारा कोई लेना देना नहीं है.

अधिक पढ़ें ...

    नई दिल्‍ली. केंद्र सरकार के तीन नये कृषि कानूनों के खिलाफ दिल्ली-हरियाणा के सिंघु बॉर्डर (Singhu Border) पर पिछले 11 महीने से चल रहे किसान आंदोलन के मंच के पास शुक्रवार की सुबह एक युवक का हाथ कटा शव मिलने से हड़कंप मचा हुआ है. वहीं, इस मामले के एक आरोपी ने सोनीपत की कुण्‍डली पुलिस के सामने सरेंडर कर दिया है. जबकि इस मामले को लेकर संयुक्‍त किसान मोर्चा (Samyukt Kisan Morcha) ने कहा है कि हमारा इस घटना से कोई संबंध नहीं हैं.

    भारतीय किसान यूनियन के नेता राकेश टिकैत ने कहा कि मंच के पास युवक का हाथ कटा शव मिलने के मामले में संयुक्त किसान मोर्चा ने अपना बयान जारी कर दिया है. कानून अपना काम करेगा. हमारा इस तरह की घटना से कोई मतलब नहीं है. इससे पहले अखिल भारतीय किसान सभा महासचिव हन्नान मोल्लाह ने कहा था कि पिछले काफी महीने से किसान आंदोलन को बदनाम करने का एक संयोजित प्रयास चल रहा है. संयुक्त किसान मोर्चा से इसका कोई संबंध नहीं है. मोर्चा के बाहर एक ग्रुप वहां बैठा हुआ है, उन्होंने इस घटना को अंजाम दिया है.सरकार और पुलिस को जांच करनी चाहिए.

    सुप्रीम कोर्ट पहुंचा मामला
    वहीं, सिंघु बॉर्डर पर हुई युवक की हत्या का मामला सुप्रीम कोर्ट पहुंच गया है. सुप्रीम कोर्ट के वकील शशांक शेखर झा ने अर्जी दाखिल करते हुए किसान आंदोलन को गैरकानूनी करार देकर सड़कों से हटाने की मांग की है. याचिका में कहा गया है कि अब एक दलित युवक की हत्या कर दी गई है. इससे पहले एक महिला से भी रेप की घटना हुई थी. इसके पहले 26 जनवरी को ट्रैक्टर रैली के दौरान हिंसा हुई. अभिव्यक्ति की आजादी की आड़ में आंदोलन गैरकानूनी तरीके से चल रहा है. सुप्रीम कोर्ट से लंबित याचिका पर जल्द सुनवाई की मांग की गई है.

    जानें पूरा मामला
    दिल्‍ली-सोनीपत के सिंघु बॉर्डर पर किसानों के मंच के पास शुक्रवार सुबह एक शख्स की बेरहमी से हत्या कर शव को बैरिकेड पर लटका दिया था. इस दौरान मृतक युवक के एक हाथ की कलाई को तेजधार हथियार से काटकर बिल्कुल अलग कर दिया गया था. वहीं, उसके शरीर पर गहरी चोट के करीब 10 निशान मिले थे. इस घटना की सूचना मिलने के बाद सोनीपत की कुंडली थाना पुलिस मौके पर पहुंची थी और काफी कड़ी मशक्कत के बाद शव को कब्जे में लिया. इसके बाद शव को पोस्टमार्टम के लिए सोनीपत के नागरिक अस्पताल कराया गया था. जबकि मृतक की पहचान लखबीर सिंह (35 साल) के रूप में हुई है. वह पंजाब के तरनतारण के चीमा खुर्द गांव का रहने वाला है. उसे पंजाब के रहने वाले दर्शन सिंह और उनकी पत्‍नी ने तब गोद लिया था, जब वह छह महीने का था. वह मजदूरी का काम करता था. वहीं, निहंग सरदारों ने युवक पर गुरु ग्रंथ साहिब की बेअदबी का आरोप लगाया था. जबकि इस हत्‍या के मामले में सरबजीत सिंह नाम के निहंग ने पुलिस टीम के सामने सरेंडर किया है.

    Tags: Delhi Singhu Border, Haryana police, Kisan Andolan, Rakesh Tikait, Samyukt Kisan Morcha, Singhu Border, Sonepat news, Supreme Court

    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर