Home /News /haryana /

Sonipat: ऑनलाइन एग्जाम का सॉफ्टवेयर हैक कर परीक्षा कराने वाली गैंग का पर्दाफाश, STF ने 6 को पकड़ा

Sonipat: ऑनलाइन एग्जाम का सॉफ्टवेयर हैक कर परीक्षा कराने वाली गैंग का पर्दाफाश, STF ने 6 को पकड़ा

सोनीपत और हरियाणा STF ने संयुक्त कार्रवाई में ऑनलाइन परीक्षा के सॉफ्टवेयर को हैक करने वाले गैंग का पर्दाफाश किया है.

सोनीपत और हरियाणा STF ने संयुक्त कार्रवाई में ऑनलाइन परीक्षा के सॉफ्टवेयर को हैक करने वाले गैंग का पर्दाफाश किया है.

Sonipat News: गैंग करीब 5-6 साल से इस अवैध काम को अंजाम देने मे जुटे थे. गैंग ने विभिन्न स्थानों पर लैब बना रखी हैं, जिनमें से एक पानीपत मे टोल प्लाजा के नजदीक एपीट इंजिनियरिंग कालेज में है.

सोनीपत. सोनीपत STF और गुरुग्राम की टीम ने संयुक्त कार्रवाई करते ऑनलाइन परीक्षा में साॅफ्टवेयर हैक कर परीक्षा कराने वाले गैंग का पर्दाफाश किया है. इस कार्रवाई में IIT सहित अन्य सरकारी ऑनलाइन परीक्षाओं मे कंप्यूटर सॉफ्टवेयर हैक कर परीक्षा पास करवाने वाले गिरोह के 6 सदस्यों को गिरफ्तार किया गया है. आरोपितों की पहचान अशोक उर्फ शोकी, मोनू व आशीष निवासी गोरड सोनीपत, आकाश निवासी जयपुर, गोरी निवासी कोंडला दोसा राजस्थान व आकाश निवासी मोतीनगर जयपुर के रूप मे हुई है.

पानीपत SP शशांक कुमार सावन ने बताया कि ऑनलाइन परीक्षाओं मे कंप्यूटर सॉफ्टवेयर हैक कर परीक्षा पास करवाने वाले गिरोह तक पहुंचने के लिये सोनीपत और गुरुग्राम STF की टीम काफी समय से कोशिश कर रही थी. टीम ने विभिन्न पहलुओं पर छानबीन करते हुए विशेष सूचना मिलने पर गुरूवार को दबिश देकर सोनीपत से आरोपित अशोक उर्फ शोकी पुत्र रणधीर, मोनू पुत्र कर्मबीर व आशीष पुत्र नरेंद्र निवासी गोरड सोनीपत को पकड़ा गया. वहीं गिरोह के तीन सदस्य आकाश निवासी जयपुर, गोरी निवासी कोंडला दोसा राजस्थान व आकाश निवासी मोतीनगर जयपुर को नागपुर से गिरफ्तार किया गया.

पहले से दर्ज हैं IT एक्ट के तहत मुकदमे

गिरोह पर भिवानी और पानीपत मे आईटी एक्ट की धाराओं के तहत एक-एक मुकदमा दर्ज है. उन्होनें बताया आरोपित अशोक उर्फ शोकी पर हरियाणा पुलिस की ओर से भिवानी मे दर्ज एक मुकदमें मे 1 लाख रुपये व मोनू पर 50 हजार रुपये का इनाम घोषित किया गया था. आरोपितों का नेटवर्क हरियाणा, दिल्ली, पंजाब, बिहार व राजस्थान सहित अन्य कई प्रदेशो तक फैला हुआ था. आरोपित लोगों से मोटी रकम लेकर IIT के साथ ही नौकरी की विभिन्न परीक्षाएं पास करवाते थे. आरोपित साफ्टवेयर के जरिये कंप्यूटर को रिमोट पर एक्सेस लेकर पेपर साल्व करते थे. रेलवे क्लर्क, एमटीएस, नीट, एसएससी, सीएचएसएल सहित विभिन्न ऑनलाइन और ऑफलाइन परीक्षाओं में परीक्षार्थियों से मोटे पैसे लेकर उन्हें पास कराया जाता था.

5-6 साल से सक्रिय थी गैंग 

आरोपित पिछले करीब 5-6 साल से इस अवैध कार्य को अंजाम देने मे जुटे थे. गैंग ने विभिन्न स्थानों पर लैब बना रखी हैं, जिनमें से एक पानीपत मे टोल प्लाजा के नजदीक एपीट इंजिनियरिंग कालेज में है. कड़ाई से पूछताछ करने पर अशोक उर्फ शोकी, मोनू व आशीष निवासी गोरड को पानीपत माननीय न्यायालय में पेश कर 8 दिन की पुलिस रिमांड पर लिया गया है. वहीं आरोपित आकाश निवासी जयपुर, गोरी निवासी कोंडला दोसा राजस्थान और आकाश निवासी मोतीनगर जयपुर को नागपुर से गिरफ्तार कर एसटीएफ की टीम लेकर आ रही है. गिरोह में शामिल अन्य सदस्यों को भी जल्द ही गिरफ्तार किया जायेगा.

Tags: Hackers, Haryana police, Online Exams, Online fraud, Sonipat news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर