सोनीपत: कोरोना से हालात हो रहे बेकाबू, रोजाना 30 कोविड मृतकों का हो रहा अंतिम संस्कार

सोनीपत में कोविड प्रोटोकोल को तहत रोजाना 30 शवों का हो रहा अंतिम संस्कार. (File Photo)

सोनीपत में कोविड प्रोटोकोल को तहत रोजाना 30 शवों का हो रहा अंतिम संस्कार. (File Photo)

सोनीपत (Sonipat) में अप्रैल से लेकर अभी तक करीब 300 के आस-पास शवों (Dead Bodies) का कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत संस्कार किया जा चुका है.

  • Share this:

सोनीपत. देश में कोरोना वायरस (Corona Virus) लगातार तांडव मचा रहा है और ऐसा ही हाल कुछ सोनीपत जिले का है. सोनीपत (Sonipat) जिले में हर रोज कोरोना वायरस से संक्रमित मरीजों का आंकड़ा जिला प्रशासन की नींद उड़ा रहा है. तो दूसरी तरफ सोनीपत के सेक्टर 15 स्थित श्मशान घाट में हर रोज करीब 30 के आसपास शवों का दाह संस्कार कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत हो रहा है. श्मशान घाट में अप्रैल माह से लेकर अभी तक करीब 300 शवों का दाह संस्कार कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत हुआ है.

वहीं 40 के आसपास अस्थियां अभी अपनों का इंतजार कर रही हैं कि कब उनके परिजन आएंगे और वह गंगा में प्रवाहित करके उनको मुक्ति देंगे. सेक्टर 15 स्थित श्मशान घाट के संचालक डॉ अश्वनी मल्होत्रा ने कहा कि अप्रैल से लेकर अभी तक करीब 300 के आस-पास शवों का कोविड-19 प्रोटोकॉल के तहत संस्कार किया जा चुका है. 40 के आसपास अस्थियां यहां पर ऐसी हैं जो कि अपनों का इंतजार कर रही हैं.

वहीं श्मशान घाट में कोविड प्रोटोकॉल के तहत शवों का दाह संस्कार करने वाले कर्मचारियों ने प्रशासन पर अनदेखी का आरोप लगाते हुए कहा कि हमें ना पीपीई किट दी जा रही है और ना ही अन्य उपकरण. हम अपनी जान हथेली पर रखकर कोविड-19 संस्कार करवा रहे हैं.

वहीं इस पूरे मामले में सोनीपत उपायुक्त श्याम लाल पुनिया ने कहा कि यह सभी जगह से देखा जा रहा है कि कोविड 19 से दाह संस्कार का आंकड़ा चिंताजनक आ रहा है. लेकिन ऐसा नहीं है जिला प्रशासन कोई भी आंकड़ा छुपा रहा ह दाह संस्कार प्रोटोकॉल के तहत किया जा रहा है चाहे हॉस्पिटल में किसी की भी मौत हुई हो. सोनीपत के निजी हॉस्पिटल में बाहर के मरीज भी एडमिट है और उनकी जान भी जा रही है. वह मरीज भी सोनीपत श्मशान घाट में ही दाह संस्कार करवाए जा रहे हैं. कोविड-19 के तहत जो भी नियम बनाए गए हैं उनके तहत आंकड़े तैयार किए जा रहे हैं.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज