हरि‍याणा की जेलों में बंद होगी अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही ये प्रथा

हरियाणा की जेलों में अब कैदी के नाम के साथ उसके पिता का नहीं बल्कि गांव या शहर का नाम पुकारा जाएगा. कैदी के नाम के साथ पिता का नाम पुकारने की परंपरा अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही है.

Sunil Jindal | ETV Haryana/HP
Updated: February 14, 2018, 11:13 PM IST
हरि‍याणा की जेलों में बंद होगी अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही ये प्रथा
गोहाना में मीडिया से चर्चा करते हुए मंत्री कृष्‍ण पंवार.
Sunil Jindal | ETV Haryana/HP
Updated: February 14, 2018, 11:13 PM IST
हरियाणा सरकार सूबे की जेलों में अंग्रेजों के जमाने से चली आ रही एक प्रथा को बंद करने जा रही है. प्रदेश की जेलों में अंग्रेजों के समय की भाषा में कैदी के नाम के साथ उसके पिता का नाम पुकारा जाता है, लेकिन अब ऐसा नहीं होगा. अब कैदी के नाम के साथ उसके गांव या शहर का नाम पुकारा जाएगा.

यह जानकारी हरियाणा के परिवहन और जेल मंत्री कृष्ण पंवार ने दी. वे 15 फरवरी को जींद में होने वाली बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की रैली के सिलसिले में मंडल अध्यक्षों और पार्टी कार्यकर्ताओं की मीटिंग लेने सोनीपत जिले के गोहाना पहुंचे थे. मीडिया से चर्चा में उन्‍होंने बताया कि अब प्रदेश की जेलों में अंग्रेजों के समय की भाषा में कैदी के पिता का नाम नहीं बल्कि गांव का नाम पुकारा जाएगा.

उन्‍होंने बताया कि प्रदेश के पानीपत, रेवाड़ी, पलवल और फतेहाबाद जिले में नई जेलें खोली जाएंगी. प्रदेश की जेलों में 68 करोड़ की लागत से 4जी के जैमर लगाए जाएंगे. इसके लिए सरकार से राशि मंजूर हो चुकी है. जैमर लगने से जेलों में मोबाइल काम नहीं करेंगे, जिससे चोरी छिपे मोबाइल ले जाने वाले लोगों पर लगाम कसी जाएगी.

स्‍टैंड पर बस न ले जाने वाले ड्रायवर-कंडक्‍टर पर जुर्माना

मंत्री कृष्ण पंवार ने कहा की अक्‍सर यह शिकायत मिलती है कि हरियाणा रोडवेज की बसों को बस स्‍टैंड के अंदर नहीं ले जाया जाता. ड्रायवर-कंटक्‍र बसों को बायपास या ओवर ब्रिज से निकाल ले जाते हैं. उन्‍होंने कहा कि ऐसा करने वाले ड्रायवर-कंडक्‍टर पर अब एक हजार रुपए का जुर्माना लगाया जाएगा.
उसके बाद भी अगर ड्रायवर-कंडक्टर अपनी मनमानी करते हैं तो दूसरी बार उन पर दो हजार का जुर्माना लगेगा. इसके बाद भी नहीं मानते हैं तो उनके खिलाफ विभागीय कार्रवाई की जाएगी.

विपक्ष जनता के बीच जाकर काम करे
15 फरवरी को जींद में होने वाली बीजेपी के राष्ट्रीय अध्यक्ष अमित शाह की बाइक रैली को लेकर विपक्ष वार करते हुए उन्‍होंने कहा कि विपक्ष को जनता के बीच जाकर काम करके अपनी ताकत दिखानी चाहिए न कि किसी को काले झंडे दिखाकर विरोध जताना चाहिए. उन्‍होंने कहा कि जींद की बाइक रैली को लेकर युवाओं में जो जोश दिखाई दे रहा है, उससे लगता है कि अब रैली में एक लाख नहीं बल्कि अनलिमिटेड बाइकों पर युवा कार्यकर्ता जींद पहुंचेंगे.
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर