VIDEO: हरियाणा की इस पंचायत ने 21 साल की बेटी को चुना सरपंच
Sonipat News in Hindi

  • Share this:
  • fb
  • twitter
  • linkedin
हरियाणा में पंचायत चुनाव के पहले चरण में चौंकाने वाले नतीजे आए हैं. फतेहाबाद में ग्राम पंचायत सालमखेड़ा से अलग होकर नई पंचायत बनी चबलामौरी ने देश में इतिहास कायम किया है.

प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की 'बेटी पढ़ाओ, बेटी बचाओ' योजना को यहां के लोगों ने सार्थक कर दिखाया है. पंचायत चुनाव में ग्रामीणों ने इस बार 21 साल की बेटी को सरपंच चुना है.

बर्गर बेचती हैं रेखा
रेखा रानी ने अपनी प्रतिद्वंद्वी निर्मल कौर को 219 वोटों से हराया. रेखा रानी 12वीं तक पढ़ी है और चंडीगढ़ में बर्गर बेचने का काम करती हैं. रेखा ने बताया कि वह इस जीत से बेहद खुश है. वहीं, रेखा के पिता बंसीलाल ने बताया कि उन्हें अपनी बेटी की इस उपलब्धि पर गर्व है.



'सेल्फी विद डॉटर' का आइडिया देने वाले सुनील की पत्‍नी हारीं


इधर, हरियाणा में रविवार को हुए पहले चरण के पंचायत चुनाव के नतीतों में बड़ा उलटफेर देखने को भी मिला. 'सेल्फी विद डॉटर' अभियान के लिए सुर्खियों में रहे जींद जिला के बीबीपुर गांव के निवर्तमान सरपंच सुनील जागलान की पत्नी चुनाव हार गईं.

गांव में सरपंच का पद महिला के लिए आरक्षित होने के कारण उन्होंने अपनी पत्नी दीपा को चुनाव में उतारा था. दीपा को विरोधी उम्मीदवार दीपिका साहू ने 85 मतों से हराया. बीबीपुर के सरपंच पद के चुनाव में दीपिका साहू को 1555, दीपा जागलान को 1470 और कमलेश को 25 वोट मिले.

दरअसल, पीएम नरेंद्र मोदी के 'मन की बात' कार्यक्रम में 'सेल्फी विद डॉटर' अभियान का आइडिया देने वाले सुनील जागलान ने खूब वाहवाही बटोरी थी.
First published: January 11, 2016, 1:41 PM IST
अगली ख़बर

फोटो

corona virus btn
corona virus btn
Loading