Home /News /haryana /

unique initiative of two sisters in panipat raising donations to educate orphans stalls set up at petrol pumps nodsp

दो बहनों की अनूठी पहल: अनाथ बच्चों को पढ़ाने के लिए कुछ ऐसे जुटा रही हैं चंदा, दे रही हैं समाज को प्रेरणा

सोनीपत की दो बहनों ने अनूठी पहल करते हुए अनाथ बच्चों को पढ़ाने के लिए फंड एकत्र कर रही हैं. (News18Hindi)

सोनीपत की दो बहनों ने अनूठी पहल करते हुए अनाथ बच्चों को पढ़ाने के लिए फंड एकत्र कर रही हैं. (News18Hindi)

Haryana Sisters Unique Initiative: हरियाणा के सोनीपत में दो बहनों ने अनूठी पहल की है. अनाथ बच्चों को पढ़ाने के लिए फंड एकत्र कर रही हैं, उसके लिए अपनी पुरानी किताबें दान देने के लिए पेट्रोल पंप पर स्टॉल लगाकर बैठी हैं. वाहन चालकों से चंदा भी एकत्र कर रही हैं. इसमें उनके माता-पिता का भी सहयोग मिल रहा है.

अधिक पढ़ें ...

सोनीपत. बेटियां माता-पिता के लिए बोझ नहीं होतीं ये कहावत सोनीपत की रहने वाली दो बेटियां चरितार्थ कर रही हैं. अनाथ और असहाय बच्चों के लिए 9वीं और 12वीं में पढ़ने वाली दो सगी बहनों ने पेट्रोल पंप पर अपनी पुरानी किताबों का स्टॉल लगाकर वाहन चालकों को अनाथ और असहाय बच्चों के लिए डोनेशन देने के लिए प्रोत्साहित कर रही हैं. पढ़िए न्यूज18 हिंदी की ये खास रिपोर्ट…

तस्वीरों में दिखाई देने वाली यह दोनों सगी बहने सोनीपत की रहने वाली लायशा और कायना हैं. दोनों बहने ऊटी के शेफर्ड स्कूल की छात्राएं हैं, दोनों बहनें करीब पिछले 3 सप्ताह से सोनीपत के बहालगढ़ रोड पर स्थित गुलिया पेट्रोल पंप पर अपनी पुरानी किताबों को लेकर एक स्टाॅल लगा रही हैं और अनाथ व असहाय ही बच्चों के लिए डोनेशन इकट्ठा कर रही हैं.

पढ़ाई से वंचित अनाथ और असहाय बच्चों के लिए जुटा रही हैं फंड
इन दोनों बहनों की अनूठी पहल की चर्चा पूरे सोनीपत में है और आने जाने वाले वाहन चालकों को यह दोनों बेटियां पढ़ाई से वंचित अनाथ और असहाय बच्चों के लिए डोनेशन देने के लिए प्रोत्साहित कर रही हैं, और जो लोग बच्चों से किताबें नहीं खरीद रहे हैं वो बच्चियों को डोनेशन दे कर जा रहे हैं. वहीं दोनों बच्चियां अपने आस-पड़ोस के बच्चों को भी इस तरह काम के लिए प्रेरित कर रही हैं.

इस नेक काम में माता-पिता हैं प्रेरणा
लायशा और कायना ने बताया कि वे अनाथ औऱ असहाय बच्चों के लिए डोनेशन इकट्ठा करने के लिए इस तरह का कदम उठा रही हैं और उन्हें यह प्रेरणा अपने माता पिता से मिली है, क्योंकि उनके माता-पिता सेफ इंडिया फाउंडेशन से जुड़े हैं, जोकि समाज में अच्छे कामों के लिए बनी है. यह फाउंडेशन बच्चों की पढ़ाई के लिए काम कर रही है. उन्होंने बताया कि वह अपने माता-पिता के दोस्तों और अपने परिवार और आस-पड़ोस से भी किताबें लाकर यहां पर रख रही हैं, ताकि वाहन चालक आएं और किताब लेकर उन्हें डोनेशन दें. अगर कोई वाहन चालक किताब नहीं लेकर जाता तो वह डोनेशन देकर जाता हैं.

वही दोनों छात्रों की माता सुमन व वाहन चालक रविंदर में दोनों बेटियों के इस कदम को सराहा है और उन्होंने कहा कि दोनों बेटियां अनाथ और पढ़ाई से वंचित रहने वाले बच्चों के लिए इस तरह का कदम उठा रहे हैं जोकि सराहनीय है और हम अन्य समर्थ बच्चों से भी अपील करते हैं कि वह इस तरह के कार्य जरूर करें।

Tags: Haryana news, Sonipat news

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर