Home /News /haryana /

यमुनानगर में कुट्टू का आटा खाने से 150 लोग बीमार, अस्पताल में भर्ती

यमुनानगर में कुट्टू का आटा खाने से 150 लोग बीमार, अस्पताल में भर्ती

कुट्टू का आटा खाने से 150 लोग बीमार

कुट्टू का आटा खाने से 150 लोग बीमार

लोगों ने बताया कि जैसे ही उन्होंने कुट्टू का आटा (Flour) खाया उसके बाद उन्हें उल्टी दस्त व पेट दर्द (Stomach Pain) की शिकायत हुई, जिसके बाद वो इलाज के लिए अस्पताल पहुंचे.

    यमुनानगर. जिले में उस वक्त हड़कंप मच गया जब कुट्टू का आटा (Flour) खाने से करीब 150 लोगों की तबीयत बिगड़ गई. सभी को अस्पताल (Hospital) में भर्ती करवाया गया है. जगाधरी सिविल अस्पताल में देर रात 126 मरीज़ इलाज करवाने पहुंचे. वहीं यमुनानगर ट्रामा में भी दर्जन से अधिक मरीज़ इलाज के लिए पहुंचे हैं. ये सभी लोग कुट्टू का आटा खाने से बीमार हुए हैं. लोगों ने बताया की जैसे ही उन्होंने कुट्टू का आटा खाया उसके बाद उन्हें उल्टी दस्त व पेट दर्द की शिकायत हुई, जिसके बाद वो इलाज के लिए अस्पताल पहुंचे.

    फिलहाल फूड प्वाइजनिंग होने की बात सामने आई है. बुधवार को नवरात्र का पहला दिन था. व्रत रखने वाले कुट्टू के आटे का प्रयोग करते हैं. शाम को सिविल अस्पताल में कई लोग फूड प्वाइजनिंग के पहुंचे. पुलिस लाइन निवासी प्रवेश कुमार, उनकी पत्‍नी बिंदू व बेटे दिवांश, गंगानगर कॉलोनी से कृष्णा, अनिता, राजा वाली गली निवासी ललित, उनकी पत्‍नी निशा, बेटी प्रियांशी व बेटे रिषि को अस्पताल में दाखिल कराया गया.

    दुकानों का पता लगा रहा विभाग

    स्वास्‍थ्‍य विभाग के डॉक्‍टरों की टीम इन मरीजों का चेकअप कर रही है. वहीं एक अन्य टीम उन दुकानों का पता लगा रही है, जहां से इन्होंने आटा खरीदा है. दर्शन ने बूडिया रोड पर किरयाने की दुकान से कुट्टू का आटा खरीदा था, जबकि राजा वाली गली निवासी ललित ने सिविल लाइन की एक दुकार से आटा खरीदा था.

    ये भी पढ़ें- Coronavirus: सांसद किरण खेर ने वेंटिलेटर खरीदने के लिए दिए एक करोड़ रुपये

    ये भी पढ़ें- सोनीपत में मिला पहला Corona पॉजिटिव, चार दिन पहले इंग्लैंड से लौटी है छात्रा

    Tags: Department of Health and Medicine, Haryana news

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    राशिभविष्य

    मेष

    वृषभ

    मिथुन

    कर्क

    सिंह

    कन्या

    तुला

    वृश्चिक

    धनु

    मकर

    कुंभ

    मीन

    प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
    और भी पढ़ें
    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज

    अधिक पढ़ें

    अगली ख़बर