Home /News /haryana /

जिला पशु चिकित्सालय में डॉक्‍टर छलका रहे थे जाम, अचानक पहुंची मीडिया टीम, जानें फिर क्‍या हुआ?

जिला पशु चिकित्सालय में डॉक्‍टर छलका रहे थे जाम, अचानक पहुंची मीडिया टीम, जानें फिर क्‍या हुआ?

वीडियो में सब कुछ कैद होने के बाद भी विभाग जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है. (सांकेतिक फोटो)

वीडियो में सब कुछ कैद होने के बाद भी विभाग जांच रिपोर्ट का इंतजार कर रहा है. (सांकेतिक फोटो)

Yamunanagar News: यमुनानगर का जिला पशु चिकित्सालय (District Veterinary Hospital) इन दिनों सुर्खियों में है. दरअसल जिला पशु चिकित्सालय में कुछ तथाकथित सरकारी डॉक्टर और कर्मचारी कार्यालय में ही शराब पीते हुए कैमरे में कैद हो हुए हैं. यही नहीं, जब पशु पालन व डेयरी विभाग के एसडीओ सुरेंद्र कुमार से उनका पक्ष लिया गया, तो उन्होंने साफ कर दिया कि सरकारी अस्पताल जनता की सेवा और पशुओं के इलाज के लिए खुले हैं. हालांकि उन्‍होंने जांच के बाद कार्रवाई की बात कही है.

अधिक पढ़ें ...

यमुनानगर. क्या हरियाणा के यमुनानगर का जिला पशु चिकित्सालय (District Veterinary Hospital) शाम ढलते ही मयखाना बन जाता है? यह सवाल इसलिए खड़ा हो रहा है क्योंकि बीती रात यमुनानगर के जिला पशु चिकित्सालय में कुछ तथाकथित सरकारी डॉक्टर (Government Doctors) और कर्मचारी कार्यालय में ही शराब पीते हुए कैमरे में कैद हो गए. कैमरों को देख शराब पीने वाले तीनों लोग सकपका गए और शराब की बोतल टेबल के नीचे छिपाकर खड़े हो गए. इस दौरान पहले तो उन्होंने कैमरा चलाने वालों को रोकने का प्रयास किया, लेकिन जब उन्हें अहसास हुआ कि यह मीडिया कैमरे हैं, तो तीनों अपना मुंह छिपाने लग गए. यह पूरा नजारा भी मीडिया टीम के कैमरों में कैद हो गया.

वहीं, जब इन लोगों से पूछा गया कि आप लोग कौन हैं और यहां शराब क्यों पी रहे हैं? तो उन्हें कुछ बोले सूझ नहीं रहा था. बस तीनों लोग कार्यालय से बाहर निकले और अपनी कार में बैठकर चले गए. वहीं, जाते-जाते एक शख्‍स जिला चिकित्सालय का गेट लॉक कर गया.

यही नहीं, जब इस मामले पर पशु पालन व डेयरी विभाग के एसडीओ सुरेंद्र कुमार से उनका पक्ष लिया गया, तो उन्होंने साफ कर दिया कि सरकारी अस्पताल जनता की सेवा और पशुओं के इलाज के लिए खुले हैं. अस्‍पताल में किसी भी कर्मचारी या अधिकारी को शराब पीने या जुआ खेलने का कोई अधिकार नहीं दिया गया है. इस बारे में विभागीय जांच की जाएगी और यह पता लगाया जाएगा कि शराब पीने वाले कौन थे.

वीडियो में सब कुछ कैद, फिर भी जांच रिपोर्ट का इंतजार
सरकारी पशु चिकित्सालय में शराब पीने का यह वीडियो विभागीय कार्यप्रणाली पर भी कई सवाल खड़े कर रहा है. अपने ही कर्मचारियों या डॉक्टरों के खिलाफ जांच करने करने की बात कहने वाले पशु पालन व डायरी विभाग के अधिकारियों की जांच रिपोर्ट कितनी निष्पक्ष होगी यह तो आने वाला समय ही बता सकता है. मगर वीडियो से कुछ चीजें निश्चित रूप से साफ हो रही हैं, जैसे शराब पीने वाले लोगों का मीडिया कर्मियों को देखकर भागने की बजाए बेबाक और निडरता से खड़े रहना यह साफ करता है कि यह कोई बाहरी लोग नहीं हो सकते. अगर यह बाहरी लोग थे भी तो उनके पास सरकारी संस्थान की चाबियां कहां से आईं? इन लोगों के चेहरे भी साफ नजर आ रहे थे और गाड़ी का नंबर भी. फिर भी अगर विभाग को वीडियो देखकर शराब पीने वालों की पहचान नहीं हो पा रही है तो इसका मतलब साफ साफ समझा जा सकता है.

Tags: Haryana Government, Haryana news, Video Viral

विज्ञापन
विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर