अपना शहर चुनें

States

यमुनानगर: 9 पुलिसकर्मियों के खिलाफ FIR दर्ज, SP के नाम पर रिश्वत मांगने का आरोप

हरियाणा पुलिसकर्मियों पर गंभीर आरोप लगे हैं
हरियाणा पुलिसकर्मियों पर गंभीर आरोप लगे हैं

यमुनानगर पुलिस में तैनात दो इंस्पेक्टर सहित अलग-अलग महत्वपूर्ण पोस्टों पर कार्यरत कुल 9 पुलिस कर्मचारियों पर कुछ ऐसे संगीन आरोप लगे हैं.

  • Share this:
जब रक्षक ही भक्षक बन जाए तो इंसाफ की उम्मीद किस से लगाई जाए. हरियाणा के यमुनानगर से कुछ ऐसा ही मामला सामने आ रहा है, जिससे हरियाणा पुलिस की भूमिका पर बड़े सवालिया निशान खड़े हो रहे हैं एसपी के नाम पर एक लाख और डीएसपी के नाम पर 50 हज़ार रुपए मांगने व लूट की साजिश रचने के आरोप में एक एसएचओ, सीआइए इंस्पेक्टर, डीएसपी के गनमैन सहित 9 पुलिस कर्मियों पर हरियाणा के डीजीपी के आदेश से एफआईआर दर्ज कर ली गई हैं, जिसके बाद शिकायतकर्ता सरपंच को इंसाफ की उम्मीद जगी हैं, बहराल मामले की जांच एसआईटी करेगी.

यमुनानगर पुलिस में तैनात दो इंस्पेक्टर सहित अलग-अलग महत्वपूर्ण पोस्टों पर कार्यरत कुल 9 पुलिस कर्मचारियों पर कुछ ऐसे संगीन आरोप लगे हैं जिसने पूरी हरियाणा पुलिस का सिर शर्म से झुका दिया हैं. रिश्वत मांगने के आरोप में यमुनानगर पुलिस के एक डीएसपी के गनमैन जयपाल, सीआईए इंचार्ज इंस्पेक्टर महावीर, थाना जठलाना के एसएचओ ओम प्रकाश, गुमथला चौंकी में तैनात राजीव पंजेटा सहित कुल 9 वर्दी धारियों के खिलाफ एफआईआर दर्ज की गई हैं.

गांव गुमथला के सरपंच कृष्ण मेहता ने हरियाणा के डीजीपी को दी अपनी शिकायत में आरोप लगाया हैं कि इनकी डीएसपी के गनमैन जयपाल से जानकारी थी जिसके चलते जयपाल ने इन्हें अपने 10 लाख रुपए ब्याज पर चढ़ाने की बात कही और इसी संदर्भ में 6 जुलाई को उसने इसे 4 लाख रूपए भी दिए. जो गांव गुमथला के पेट्रोल पंप से 200 मीटर पहले अंजान बदमाशों द्वारा इन्हें चाकू मारकर लूट लिए गए.



जब इन्होंने इसकी सूचना पुलिस को दी तो जठलाना एसएचओ इनका मेडिकल करवाने के बहाने इन्हें सीआई स्टाफ ले आए जहां इन्हें सीआईए इंस्पेक्टर महावीर ने खूब डराया व धमकाया. आरोप हैं कि इंस्पेक्टर महावीर ने इन्हें धमकी दी की उनके यहां आने वाला शक्स उनकी इच्छा के बिना वापिस नही जाता या तो वह उनकी बात मान ले वर्ना उसने सरिया गर्म कर रखा हैं जो लाल हो चुका हैं.
आरोप यह भी हैं कि सीआईए में उनके बेटे को भी धमकाया गया कि वह लिखकर दे कि उसका बाप पागल है जो लोगों के पैसे वापिस न लौटाने की नीयत से झूठी शिकायतें देने का आदी है. शिकायतकर्ता की माने तो 6 घण्टे बाद डरा धमकाकर सीआईए इंचार्ज महावीर ने उनके और उनके बेटे के कोरे कागजो पर साइन ले लिए.

एसपी और डीएसपी के नाम से डराया धमकाया

शिकायतकर्ता की माने तो कुछ दिन बाद आरोपी पुलिस कर्मी उनके पास दोबारा आए और एसपी के नाम के एक लाख, और डीएसपी के नाम के पचास हजार रुपए की रिश्वत मांगने लगे. नहीं देने पर वह लगातार इसपर दबाव बढ़ाने लगे. कृष्ण मेहता परेशान हो गए कि एक तो उनके साथ लूट हो गई, दूसरा उन्हीं को प्रताड़ित कर रिश्वत की डिमांड की जा रही हैं, जिसके बाद तंग आकर उन्होंने डीजीपी हरियाणा से इंसाफ की गुहार लगाई.

आरोपी पुलिसकर्मियों के खिलाफ एफआईआऱ दर्ज

डीजीपी के आदेश पर यमुनानगर पुलिस ने सभी वर्दी धारी आरोपियों के खिलाफ लूट की साजिश रचने और रिश्वत मांगने के आरोप में एफआईआर दर्ज कर ली. जिसके बाद शिकायतकर्ता को उम्मीद जगी हैं कि अब उसे इंसाफ जरूर मिलेगा. कृष्ण मेहता ने बताया कि अगर वह कसूरवार हैं तो उसे सजा दी जाए नहीं तो दोषियों को किसी भी कीमत पर बक्शा ना जाए.

क्या एसपी का कहना

इस मामले में जब एसपी यमुनानगर से संपर्क किया गया तो उन्होंने मामला एसआईटी के पास होने की बात कहकर अपना पल्ला झाड़ लिया. एसपी कुलदीप सिंह ने कहा कि इस मामले में एफआईआर दर्ज कर दी गई हैं क्योंकि आरोप बेहद गंभीर है इसलिए एडीजीपी अंबाला रेंज इस मामले में एसआईटी गठित करने जा रहे हैं, और अब एसआईटी पूरे मामले की गंभीरता से जांच करेगी.

यह भी पढ़ें- दुकान से चोरी का लाइव VIDEO सीसीटीवी में कैद, देखिए तीन चोरों का कारनामा

टीचर दंपत्ति के घर दिनदहाड़े ताले तोड़ चोर ने उड़ाए गहने व नगदी, सीसीटीवी में कैद
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज