यमुनानगर: बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए हरियाणा पुलिस के जवान तैनात

मॉनसून के मौसम के दौरान संभावित बाढ़ की स्थिति के कारण किसी भी घटना और अन्य चुनौतियों का सामना करने के लिए ये जवान प्रशिक्षित हैं.

News18 Haryana
Updated: July 5, 2019, 3:06 PM IST
यमुनानगर: बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए हरियाणा पुलिस के जवान तैनात
बाढ़ से निपटने के लिए पुलिस जवान तैनात
News18 Haryana
Updated: July 5, 2019, 3:06 PM IST
हरियाणा पुलिस ने बाढ़ की स्थिति से निपटने के लिए अपने जवानों को पहले से ही तैनात कर दिया है. ये जवान हरियाणा के जिला यमुनानगर में तैनात किए गए है. मॉनसून के मौसम के दौरान संभावित बाढ़ की स्थिति के कारण किसी भी घटना और अन्य चुनौतियों का सामना करने के लिए ये जवान प्रशिक्षित हैं.



बता दें कि मॉनसून सीजन की पहली जमकर हुई बरसात से यमुना नदी के कैचमेंट एरिया हिमाचल व उत्तराखंड की पहाड़ियों पर हुई बारिश से नदी के जल बहाव में बढ़ोतरी दर्ज की गई है. पांवटा में जलबहाव बढ़कर 19 फुट तक पहुंच गया है. हथनीकुंड बैराज पर जलस्तर 5500 क्यूसिक से बढ़कर 8664 क्यूसिक हो गया है. शिवालिक की पहाड़ियों से निकलने वाली सोमनदी, बोली नदी व नागल ड्रेन में बाढ़ का पानी बढ़ रहा है.

हिमाचल, उत्तराखंड व हरियाणा के शिवालिक एरिया में गुरुवार सुबह अच्छी बरसात हुई. बीते 15 दिनों से बरसात के इंतजार में किसान आसमान की ओर ताक रहे थे. हथनीकुंड बैराज कंट्रोल रूम से मिली जानकारी के मुताबिक सुबह पांच बजे नदी का जलबहाव 55 सौ क्यूसिक के आसपास बना हुआ था. पहाड़ों पर हुई बरसात ने नदी का जलस्तर बढ़कर 8 हजार 664 क्यूसिक तक पहुंच गया. पानी के और बढ़ने के आसार हैं.
Loading...

बता दें कि पिछले साल भी जुलाई महीने में हुई बरसात ने यमुनानगर के 20 गांव जलमग्न हो गए. इस बार दोबारा ऐसी स्थिति न हो इसके लिए हरियाणा पुलिस ने पहले से ही अपने जवान तैनात कर दिए हैं.

ये भी पढ़ें-लोकसभा चुनाव में मिली हार के बाद मुंह दिखाने लायक नहीं रही कांग्रेस: विज

इनेलो को लगा एक और झटका, सतीश नांदल BJP में हुए शामिल
First published: July 5, 2019, 2:54 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...