कुट्टू का आटा खाने से रादौर और यमुनानगर में कई लोगों की बिगड़ी तबीयत, अस्पताल में भर्ती

कुट्टू का आटा खाने वाले हो जाए सावधान
कुट्टू का आटा खाने वाले हो जाए सावधान

Yamunanagar News: रादौर के गांव बुबका में कुट्टू का आटा खाने से एक ही परिवार के तीन लोगों की तबियत बिगड़ गई.

  • News18Hindi
  • Last Updated: October 20, 2020, 11:52 AM IST
  • Share this:
यमुनानगर. नवरात्रों में उपवास रखने वाले श्रद्धालुओं की सेहत को एक बार फिर से मुनाफाखोरो का लालच घातक जहर बनकर अपना शिकार बना रहा है. चौबीस घंटे के भीतर यमुनानगर (Yamunanagar) और रादौर इलाके में सामने आए करीब आधा दर्जन केसों के बाद प्रशासन हरकत में आ गया है और फूड सेफ्टी अधिकारी द्वारा जिलाभर में कुट्टू के आटे की सैंपलिंग (Sampling) शुरू कर दी गई है.

रादौर में कुट्टू का आटा खाने से युवती हुई बेहोश

रादौर के गांव बुबका में कुट्टू का आटा खाने से एक ही परिवार के तीन लोगों की तबियत बिगड़ गई. जिसके बाद परिजनों द्वारा उन्हें रादौर के सरकारी अस्पताल में भर्ती करवाया गया. जहां डॉक्टरों द्वारा उनका इलाज किया जा रहा है. बुबका निवासी अमन ने बताया कि उनके परिवार के लोग नवरात्रों के उपवास रखते है. बीती रात भी पूरे परिवार द्वारा कुट्टू के आटे से बनी रोटी का सेवन किया गया था. इसके बाद वह कब सो गया उसे पता ही नहीं चला. आधी रात को उसकी बड़ी बहन घर में जग रही अखंड ज्योत में घी डालने के लिए जागी और बेहोश होकर जमीन पर गिर गई. आवाज सुनकर उसकी नींद खुल गई मगर उसे भी चक्कर आ रहे थे. इससे पहले कि कोई कुछ समझ पाता सभी को उल्टी दस्त शुरू हो गए. जिसके बाद वह पूरे परिवार के साथ अस्पताल पहुंच गया.



यमुनानगर के कैम्प इलाके से भी सामने आए चार केस
कैम्प इलाके में भी कुट्टू का आटा खाने से चार लोगों की तबीयत बिगड़ गई. चारों के उल्टी दस्त होने के बाद हाथ पांव कांपने लग गए. बताया जा रहा है कि इन लोगों ने भी कुट्टू के आटे से बनी रोटी का सेवन किया था और आधी रात के करीब चारों की तबीयत बिगड़ गई, जिन्हें यमुनानगर ट्रामा सेंटर में इलाज के लिए भर्ती करवाया गया है.

दुकानदार से  सामग्री खरीदने से पहले अच्छे से पूछताछ करें

रादौर सरकारी अस्पताल की चिकित्सक डॉ शालिनी ने नवरात्रों में उपवास रखने वाले लोगों को सलाह देते हुए कहा कि जब वह मार्किट से उपवास में इस्तेमाल करने वाली सामग्री खरीदने जाएं तो दुकानदार से उस वस्तु के संबंध में अच्छे से पूछताछ कर लें. कई बार सामग्री पुरानी होने के कारण भी इस प्रकार के मामले सामने आते है.

चीफ़ मेडिकल ऑफिसर ने कहा कुट्टू के आटे का विकल्प उपयोग में लाएं

यमुनानगर सीएमओ डॉ विजय दहिया ने बताया कि कुट्टू का आटा खाने से बीमार हुए लोगों के तीन केस रादौर, और चार केस यमुनानगर से आये है. जिसके बाद फूड सेफ्टी ऑफिसर को स्वास्थ्य विभाग की टीम के साथ डायरेक्शन दी गई है, कि त्योहारों के अन्तर्गत जहां भी कुट्टू का आटा बिक रहा है उसकी सैंपलिंग की जाए. सीएमओ ने बताया कि कई बार इस आटे के साथ कुछ जहरीला पदार्थ भी पिस जाता है, और कई बार यह भी देखने को मिला है कि दुकानदारों द्वारा पुराना और दूषित आटा बेचा जाता है. सीएमओ ने उपवास रखने वाले लोगो से अपील करते हुए कहा कि कुट्टू का आटा न खाए इसकी जगह कोई दूसरा विकल्प उपयोग में लाएं.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज