Assembly Banner 2021

रेप-गर्भवती होने का मामला: गुमनाम पत्र ने किया था खुलासा, अब आरोपी को कोर्ट ने किया बरी

कोर्ट ने आरोपी युवक को किया बरी. (File)

कोर्ट ने आरोपी युवक को किया बरी. (File)

Rape-Pregnant Case: होटल में ले जाकर महिला के साथ रेप करने का लगा आरोप. जब मामला सामने आया तब पीड़िता छह माह की गर्भवती थी. 

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 3, 2021, 10:30 AM IST
  • Share this:
यमुनानगर. हरियाणा के युमानगर (Yamunanagar) जिले में 1 सितंबर 2018 को महिला थाना पुलिस में युवती ने शिकायत की थी कि वह जगाधरी से चंडीगढ़ जाने के लिए जगाधरी बस स्टैंड (Bus Stand) पर खड़ी थी. तभी वहां एक कार रुकी और आरोपी ने उसे जबरदस्ती कार में बैठा लिया. वह कहने लगा कि वह उससे प्यार करता है और शादी करना चाहता है. आरोप था कि आरोपी उसे एक होटल ले गया और उसके साथ रेप किया. पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था. कोर्ट ने सबूतों के अभाव में आरोपी को बरी कर दिया है.

ग़ौरतलब है कि महिला आयोग के पास पहुंचे गुमनाम पत्र ने जिस लड़की से रेप और गर्भवती होने का मामला बेपर्दा किया था, उस केस में आरोप साबित नहीं हुए. मंगलवार को कोर्ट ने आरोपी को बरी कर दिया. सामने आया कि लड़की के गर्भवती होते ही आरोपी ने उससे शादी कर ली थी. शादी के बाद उनसे एक बच्चा हुआ. कोर्ट में पीड़िता ने लड़के के पक्ष में बयान दिए. कोर्ट में आरोप साबित नहीं हुए और कोर्ट ने आरोपी को बरी कर दिया.

आरोपी युवक को कर लिया था गिरफ्तार
महिला आयोग के पास जो गुमनाम पत्र पहुंचा था उसमें लिखा गया था कि छप्पर एरिया के एक गांव की 17 साल 10 महीने की लड़की से युवक एक साल से रेप कर रहा था. इस दौरान नाबालिग गर्भवती हो गई. परिवार के लोग उसका गर्भपात कराने के लिए डॉक्टर्स के पास गए, लेकिन किसी ने गर्भपात नहीं किया. महिला आयोग ने मामले की जांच के लिए एसपी ऑफिस में पत्र भेजा. इसके बाद पुलिस हरकत में आई और लड़की के मां-बाप से संपर्क किया गया. इसके बाद पुलिस ने लड़की के पिता की शिकायत पर केस दर्ज किया. छप्पर पुलिस ने केस दर्ज कर आरोपी को गिरफ्तार कर लिया था.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज