खाने में एक रोटी कम देती थी मालकिन, नौकर ने रेत दिया गला!

पुलिस के मुताबिक, आरोपी नौकर राजेश ने बताया कि उसे चार रोटी की भूख रहती थी, लेकिन उसकी मालकिन उसे तीन रोटी ही देती थी, जिसकी वजह से वह भूखा रह जाता था.

Tilak Bhardwaj | News18 Haryana
Updated: May 18, 2019, 1:26 PM IST
Tilak Bhardwaj | News18 Haryana
Updated: May 18, 2019, 1:26 PM IST
हरियाणा के यमुनानगर की न्यू जैन नगर कॉलोनी में एक नौकर ने कथित रूप से एक रोटी के लिए अपनी मालकिन की चाकू से गला रेतकर हत्या कर दी. पुलिस ने शुक्रवार को इस हत्याकांड का खुलासा किया है. पुलिस के मुताबिक, आरोपी नौकर ने बताया कि उसे चार रोटी की भूख रहती थी, लेकिन उसकी मालकिन उसे तीन रोटी ही देती थी, जिसकी वजह से वह भूखा रह जाता था. इस वजह से उसने अपने मालकिन की गला रेतकर हत्या कर दी.

वहीं घटना को अंजाम देने के बाद नौकर ने खुद ही मालिक को फोन किया और रिश्तेदारों को भी लेकर घर पहुंचा. मौत की सूचना पाकर जो लोग घर पर आए उन्हें नौकर पानी भी पिलाता रहा. पुलिस के मुताबिक, जब दबिश देकर उससे पूछताछ की गई तो उसने अपना जुर्म कबूल कर लिया.



आरोपी नौकर का नाम राजेश पासवान है. उसने 26 साल की रोजी की हत्या कर दी. रोजी के पति दीपांशु स्टोन क्रशर संचालक है. शनिवार को आरोपी को कोर्ट में पेश कर पुलिस रिमांड पर भेज दिया गया.

पूछताछ में आरोपी राजेश ने बताया कि मालिक दीपांशु की शादी से पहले वह ही खाना बनाता था. तब जो चाहे खाता था, लेकिन पिछले साल शादी के बाद मालकिन रोजी ने उससे खाना बनवाना बंद कर दिया. वह साफ-सफाई और कपड़े धोने का काम करने लगा. राजेश ने कहा, 'मुझे चार-पांच रोटी की भूख लगती थी, लेकिन मालकिन तीन रोटी से ज्यादा नहीं देती थी. मैंने कई बार उनसे कहा भी कि मेरी भूख नहीं मिटती. मार्च में मेरे पिता का देहांत हो गया. मैं अपने घर बिहार गया था. वहां से आया तो अपने हिस्से से एक रोटी कुत्ते को भी देनी होती थी.'

भूख लगने पर भी नहीं दी रोटी-
आरोपी राजेश के मुताबिक गुरुवार को उसे बहुत तेज भूख लगी थी, लेकिन उसकी मालकिन ने पति दीपांशु के आने तक खाना नहीं बनाने की बात कही. राजेश ने बताया कि इस बात पर मुझे इतना गुस्सा आया कि किचन से चाकू उठाया और उनके बिस्तर पर ही उनका गला रेत दिया. मालकिन ने बचने की कोशिश भी की. मालकिन ने मेरे हाथ को दांत से काटा, लेकिन मैंने छुड़ा लिया. मैं करीब 5 मिनट तक गर्दन पर चाकू चलाता रहा.'

ऐसे बनाया बचने का प्लान-
Loading...

राजेश ने बताया कि उसने हत्या के बाद चाकू को किचन में धोकर छिपा दिया. इसके बाद वह अपने कमरे पर जाने लगा. लेकिन, जब गेट नहीं खुला तो छोटे गेट से कूदकर बाहर गया. वहां जाकर खून से लगे कपड़ों को धोया. इसके बाद दोपहर करीब 1.45 बजे मालिक दीपांशु के मोबाइल फोन कर कहानी बनाई कि मालकिन गेट नहीं खोल रहीं. रोजेश के अनुसार 'मैं डर गया था, लेकिन पता था कि कहीं भागा तो कहीं न कहीं से पकड़ा जाऊंगा. घर पर ही रहूंगा तो शायद कोई शक नहीं करेगा, यही सोचकर नहीं भागा.'

ये भी पढ़ें- 600 ग्राम अफीम के साथ 50 हजार का इनामी बदमाश गिरफ्तार

ये भी पढ़ें- गुरुग्राम: 8 साल की बच्ची से रेप करने वाले पड़ोसी को 20 साल की कैद, 50 हजार जुर्माना
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...