होम /न्यूज /हरियाणा /

हरियाणा: तबादलों के विरोध में सड़कों पर उतरे अध्यापक, पुलिस ने बैरिकेड लगाकर रास्ते में रोका 

हरियाणा: तबादलों के विरोध में सड़कों पर उतरे अध्यापक, पुलिस ने बैरिकेड लगाकर रास्ते में रोका 

शिक्षा मंत्री ने कहा कि हरियाणा में इन सब के बाद लगभग 15000 पद खाली होंगे, जिनमें से 7800 पदों को भरने के लिए हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को लिखा गया है.

शिक्षा मंत्री ने कहा कि हरियाणा में इन सब के बाद लगभग 15000 पद खाली होंगे, जिनमें से 7800 पदों को भरने के लिए हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को लिखा गया है.

Haryana News: शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर का कहना है कि निजीकरण वाली कोई बात नहीं है. उन्होंने कहा कि रेसनेलाइजेसन के बाद कुछ पद खाली होंगे. उन पदों को भरा जाना है. उन्होंने कहा कि साइंस की पोस्ट समाप्त नहीं की जा रही. बल्कि हर क्लस्टर में साइंस के विद्यार्थियों के लिए एक स्कूल निर्धारित किया जाएगा. जिसमें बच्चों की संख्या के हिसाब से टीचर उपलब्ध होंगे. उन्होंने कहा कि अभी रेसनेलाइजेसन होना है. कुछ पद खाली होंगे, उन्हें भरा जाना है.

अधिक पढ़ें ...

यमुनानगर. हरियाणा में टीचरों के तबादलों के लिए खुली ट्रांसफर ड्राइव को लेकर अध्यापकों के विभिन्न संगठन सड़कों पर हैं. अध्यापक नेताओं का कहना है कि सरकार विभाग को निजी करना चाहती है. साइंस के पदों को समाप्त किया जा रहा है. ट्रांसफर ड्राइव में कई तरह की त्रुटियां हैं. कई पोस्ट दबा ली गई हैं. अध्यापक नेताओं का कहना है कि शिक्षा मंत्री ने उनकी बातों को सुना है, लेकिन अधिकारियों की मौजूदगी में मंगलवार को चंडीगढ़ में वार्ता होगी. अगर उसमें भी अध्यापकों की बात नहीं सुनी गई तो आंदोलन को सड़कों पर ले जाया जाएगा. लोगों को साथ लेकर आंदोलन तेज किया जाएगा.

शिक्षा मंत्री कंवर पाल गुर्जर का कहना है कि निजीकरण वाली कोई बात नहीं है. उन्होंने कहा कि रेसनेलाइजेसन के बाद कुछ पद खाली होंगे. उन पदों को भरा जाना है. उन्होंने कहा कि साइंस की पोस्ट समाप्त नहीं की जा रही. बल्कि हर क्लस्टर में साइंस के विद्यार्थियों के लिए एक स्कूल निर्धारित किया जाएगा. जिसमें बच्चों की संख्या के हिसाब से टीचर उपलब्ध होंगे. उन्होंने कहा कि अभी रेसनेलाइजेसन होना है. कुछ पद खाली होंगे, उन्हें भरा जाना है.

जिसके चलते अध्यापकों के सभी पद भरे जा सकेंगे
साथ ही शिक्षा मंत्री ने कहा कि हरियाणा में इन सब के बाद लगभग 15000 पद खाली होंगे, जिनमें से 7800 पदों को भरने के लिए हरियाणा कर्मचारी चयन आयोग को लिखा गया है. जबकि हरियाणा विकास कौशल से भी कुछ वैकेंसी भरी जाएंगी, जिसके चलते अध्यापकों के सभी पद भरे जा सकेंगे.

Tags: Haryana news, Protest, Yamunanagar News

अगली ख़बर