रेलवे के हादसे रोकने के लिए बनाई थी मजार, रेलवे लाइन के लिए ही तोड़ी

फर्कपुर क्षेत्र में इस स्‍थान पर कई ट्रेन हादसे हो चुके थे, लिहाजा इन हादसों को रोकने के लिए 80 साल पहले यहां एक पीर की मजार इस विश्‍वास के साथ बनाई गई थी कि इससे हादसे होना रुक जाएंगे.

Tilak Bhardwaj | News18 Haryana
Updated: September 19, 2018, 5:42 PM IST
रेलवे के हादसे रोकने के लिए बनाई थी मजार, रेलवे लाइन के लिए ही तोड़ी
मजार को तोड़ती हुई जेसीबी.
Tilak Bhardwaj | News18 Haryana
Updated: September 19, 2018, 5:42 PM IST
हरियाणा के यमुनानगर जिले में के फर्कपुर स्थित रेलवे लाइनों के साथ लगती पीर की मजार पर मंगलवार को पुलिस की मौजूदगी में प्रशासन ने 'पीला पंजा' चला दिया. इस पीर की मजार को यहां 80 साल पहले इसलिए स्थापित किया गया था, क्योंकि यहां रेल के कई बार हादसे हुए थे. अब नई रेलवे लाइन बिछाने के लिए प्रशासन ने जेसीबी चलाकर इसे ध्वस्त कर दिया.

रेलवे विभाग फर्कपुर में बिछी रेलवे लाइनों के पास नई लाइन बिछा रहा है, लेकिन उसके बीच में यह मजार आ रही थी. फर्कपुर क्षेत्र में इस स्‍थान पर कई ट्रेन हादसे हो चुके थे, लिहाजा इन हादसों को रोकने के लिए 80 साल पहले यहां एक पीर की मजार इस विश्‍वास के साथ बनाई गई थी कि इससे हादसे होना रुक जाएंगे.



मजार तोड़े जाने के दौरान बड़ी संख्‍या में मौजूद पुलिस बल.


नई रेल लाइन बिछाने के लिए प्रशासन ने इस मजार पर भी मंगलवार को 'पीला पंजा' चलवा दिया. प्रशासन ने यहां भारी पुलिस बल को तैनात रखा था. शुरुआत में स्‍थानीय लोगों ने मजार तोड़ने का विरोध किया, लेकिन भारी पुलिस बल के आगे किसी की एक नहीं चली. मजार को तोड़ते समय एक बड़ी दीवार रेलवे लाइनों पर आ गिरी, जिसे समय रहते ही कर्मचारियों ने उठा दिया.

इससे पहले भी एक बार मजार को तोड़ने के लिए भारी पुलिस बल और कई कर्मचारियों का बंदोबस्त किया गया था, लेकिन तब काम बीच में ही रोक दिया था पर मंगलवार को प्रशासन पूरे अमले के साथ आया और तीन जेसीबी की मदद से मजार को ध्वस्त कर दिया. हालांकि इस पर कोई भी खुलकर बोलने को तैयार नहीं था. जो कोई भी इस बाबद बोला, वह एक-दूसरे पर पल्ला झाड़ते हुए ही नजर आया.
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...