अपना शहर चुनें

States

गली में खेल रहे दो बच्चे खुले गटर में गिरे, दोनों की मौत

गटर में गिरने से दो बच्चों की मौत
गटर में गिरने से दो बच्चों की मौत

दोनों बच्चे सड़क से गुजर रहे थे तभी अचानक गटर धंस गया जिसके चलते दोनों बच्चे गटर में जा गिरे.

  • Share this:
यमुनानगर के चिट्टा मंदिर इलाके में देर रात गली में खेलते खेलते दो मासूम गटर के बीच जा गिरे. दस फिट गहरे गटर लंबे समय से फोल्डिंग की पट्टियों से कवर कर रखा था. लेकिन जब तक इन मासूमों के बारे में लोगो को पता चलता तब तक दोनों बच्चे अपनी जिंदगी से हाथ धो चुके थे. फिल्हाल लोगो में गुस्सा था और लोग सिविल अस्पताल से बिना पोस्टमार्टम करवाए ही दोनों शवों को उठाकर घर ले गए.

डॉक्टरों ने दोनों बच्चों को मृत घोषित किया

गटर में गिरे मासूमों की आवाज भी किसी के कानों तक नहीं पहुंची. मासूम गंदे पानी के बीच में डूब कर मौत की नींद सो गए. लेकिन जब परिजनों की नजर इस गटर पर पड़ी तो पहले उन्हें महज एक ही मासूम नजर आया लेकिन बाद में जब डंडे के सहारे इसे खंगाला गया तो दूसरे का भी पता चल गया. परिजनों को उम्मीद थी कि शायद कहीं बच्चो में कोई सांस बच गई हो लेकिन जब अस्पताल में ले जाया गया तो डॉक्टरों ने दोनों को मृत घोषित कर दिया.



मौके पर नहीं पहुंचा कोई प्रशासनिक अधिकारी
दोनों बच्चो की मौत के बाद भी जब कोई प्रशासनिक अधिकारी मौके पर नही पहुंचा तो परिजनों का गुस्सा भी देखने को था. ऐसे में परिजनों ने रात को ही हंगामा कर करीब दो बजे दोनों शवों को जबरन उठाकर घर ले आए. लेकिन हैरानी इस बात की थी कि लापरवाही की भेंट चढे दो मासूमो के परिजनों को संतावना देने के लिए कोई भी नेता व प्रशासनिक अधिकारी उनके घर तक नहीं पहुंचा. फिलहाल दोनों के शव घर में पड़े हैं और परिवार के लोगो का रो रो कर बुरा हाल हो रहा है.

ये भी पढ़ें:- 'भाजपा को 75 पार नहीं, हरियाणा से बाहर करेगी प्रदेश की जनता'

ये भी पढ़ें:- होटल में फंदे से लटका मिला प्रॉपर्टी डीलर का शव
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज