BJP में दूसरे दलों से आने वाले नेताओं का सिलसिला जारी, क्या की गई है टिकट की कमिटमेंट?

कांग्रेस की बात करें तो कांग्रेस की टिकट पर सांसद बनने वाले अरविन्द शर्मा अब भाजपा में शामिल हो चुके हैं. जो फिलहाल रोहतक से भाजपा सांसद भी बन चुके हैं.

News18 Haryana
Updated: July 16, 2019, 5:15 PM IST
BJP में दूसरे दलों से आने वाले नेताओं का सिलसिला जारी, क्या की गई है टिकट की कमिटमेंट?
भाजपा के मानें तो ये सिलसिला रहेगा जारी
News18 Haryana
Updated: July 16, 2019, 5:15 PM IST
विधान सभा चुनाव से पहले भाजपा में दूसरे दलों से आने वाले नेताओं का सिलसिला लगातार जारी है. पिछले चुनाव में 90 विधान सभा सीटों पर उम्मीदवार की कमी से जूझने वाली भाजपा का कुनबा लगातार बढता जा रहा है और हालात ये हैं कि हर विधान सभा सीट पर पार्टी के पास कई संभावित उम्मीदवार टिकट की रेस में हैं. लोकसभा चुनाव से ठीक पहले से लेकर अब तक भाजपा में करीब 46 कद्दावर नेता शामिल हो चुके हैं जिसमें मौजूदा विधायक पूर्व विधायक और राज्य सभा सांसद शामिल हैं.

इसमें इनेलो के 5 विधायक, 1 राज्यसभा सांसद, 7 पूर्व विधायक और मंत्री शामिल हैं जबकि कुछ जिला अध्यक्ष और ज्यादातर लोग ऐसे हैं जो पहले चुनाव लड़ चुके हैं. 46 में से 21 नेता अकेले इनेलो से नाता तोड़कर भाजपा में शामिल हुए हैं. कांग्रेस का कोई मौजूदा विधायक भले ही भाजपा में आया हो लेकिन 46 में से 11 नेता ऐसे भाजपा में शामिल हुए हैं जो या तो कांग्रेस में थे या कभी उनका संबध कांग्रेस से रहा है.

इन विधायकों ने थामा भाजपा का दामन

नलवा से इनेलो विधायक रणबीर गंगवा, हथीन से इनेलो विधायक केहर सिंह रावत, फतेहाबाद से बलवान सिंह दौलतपुरिया, नूंह से विधायक जाकिर हुसैन और जुलाना से विधायक परमिन्द्र ढुल भाजपा में शामिल हो चुके हैं जबकि इनेलो से ही मौजूदा राज्यसभा सांसद रामकुमार कश्यप ने भी भाजपा का दामन थामा है. हाल ही में गुरुग्राम से  इनेलो के कद्दावर नेता और इनेलो सरकार में डिप्टी स्पीकर रह चुके गोपीचंद गहलोत भी भाजपा में शामिल हो चुके हैं.

कांग्रेस के भी नेताओं ने छोड़ा हाथ का साथ

कांग्रेस की बात करें तो कांग्रेस की टिकट पर सांसद बनने वाले अरविन्द शर्मा अब भाजपा में शामिल हो चुके हैं. जो फिलहाल रोहतक से भाजपा सांसद भी बन चुके हैं. युवा कांग्रेस के राष्ट्रीय महासचिव देवेन्द्र कादियान, रमेश बाल्मिकी, कांग्रेस की प्रवक्ता वंदना पोपली, करनाल से दो बार विधायक रह चुके जय प्रकाश गुप्ता, रुबी भगत सिंह जो पूर्व मंत्री लक्ष्मण सिंह की पुत्रवधू, सोनीपत से कांग्रेस की राष्ट्रीय कमेटी के सदस्य रह चुके उमेश शर्मा, रोहतक से जिला महासचिव जगमाल नरवाल, पूर्व मंत्री बच्चन सिंह आर्य,हिसार से सत्येन्द्र सिंह और रोहतक से कांग्रेस की पूर्व मेयर रेणु डाबला भी भाजपा में शामि हो चुके हैं.

भाजपा के मानें तो ये सिलसिला रहेगा जारी
Loading...

भाजपा की मानें तो ये सिलसिला अभी थमा नहीं है और कांग्रेस और इनेलो के तमाम नेता संपर्क में है जो जल्द भाजपा में शामिल होंगे. जन नायक जनता पार्टी से भी 5 नेता भाजपा में शामिल हो चुके हैं जिसमें महेन्द्रगढ भिवानी से जजपा की उम्मीदवार स्वाती यादव, जजपा के राष्ट्रीय महासचिव जगदीश नायर ,इंद्री से सुमेर चंद कंबोज, धर्मपाल मकड़ौली और बलराम मकड़ौली भी भाजपा का दामन थाम चुके हैं. पैरा आोलंपियन दीपा मलिक और पूर्व आईपीएस वी कामराज भी भाजपा में आ चुक हैं.

भाजपा को मिलेगी मजबूती

ये वो नाम हैं जो बड़े नेता हैं इन नेताओं के साथ साथ इनके सैंकड़ों की तादाद में समर्थक भी भाजपा में अपनी आस्था जता चुके हैं. इन नेताओं के आने से भाजपा को ऐसे विधान सभा क्षेत्रों में भी मजबूती मिलेगी जहां पिछले चुनाव में पार्टी बेहतर प्रदर्शन नहीं कर पाई थी. खासकर जाट वोट बाहुल्य सीटों और नूंह में पार्टी को मजबूती मिलेगी.

क्या नेताओं से किया गया टिकट का कमिटमेंट

दूसरे दलों के से टूटकर आने से भाजपा को लाभ होगा इसमें तो कोई दो राय नहीं है, लेकिन इसके साथ पार्टी के सामने नये और पुराने नेताओं के बीच सामजस्य बैठाना एक बड़ी चुनौती साबित हो सकता है. क्योंकि नए नेताओं के आने से ऐसे नेता और कार्यकर्ता जो सालों से भाजपा संगठन में काम कर रहे हैं और टिकट की उम्मीद लगाए बैठे हैं उन्हे अपनी टिकट पर संकट के बादल मंडराते नजर आ रहे हैं. हालांकि पार्टी के बड़े नेता हर मंच से यह कहते आ रहे हैं कि दूसरे दलों से आने वाले नेताओं से कोई कमिटमेंट नहीं किया गया है न तो उन्हे टिकट का आश्वासन दिया गया है न ही उन्हे टिकट देने से मना किया गया है. पार्टी जिताउ उम्मीदवार पर ही दांव खेलेगी.

लोकसभा में भाजपा को मिली जीत है बड़ा कारण

इतनी बड़ी संख्या में भाजपा में दूसरे दलों से नेताओं के आने का बड़ा कारण पार्टी की लोकसभा चुनाव में धमाकेदार जीत हैं जहां विपक्ष का सूपड़ा ही साफ हो गया था. इसके अलावा जींद विधानसभा उपचुनाव और 5 नगर निगमों को चुनाव में भाजपा की जबरदस्त कामयाबी ने भाजपा के लिए प्रदेश में माहौल बनाने का काम किया है. इसीलिए बड़ी तादात में भाजपा में नेताओं का हुजूम उमड़ रहा है.

ये भी पढ़ें- गुरुग्राम में 23 साल की युवती से रेप, अश्लील वीडियो बना ब्लैकमेल कर रहा था आऱोपी

कुल्हाड़ी से काटकर एक शख्स की बेरहमी से हत्या, आरोपी गिरफ्तार
First published: July 16, 2019, 5:08 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...