Home /News /haryana /

यमुनानगर अग्निकांड: बेटी की शादी से पहले उजड़ गया घर, आग से बच नहीं सके 3 बच्चे और पिता

यमुनानगर अग्निकांड: बेटी की शादी से पहले उजड़ गया घर, आग से बच नहीं सके 3 बच्चे और पिता

यमुनागनगर में आगजनी में चार लोगों की मौत हुई है.

यमुनागनगर में आगजनी में चार लोगों की मौत हुई है.

Yamunanagar Godown Fire: कबाड़ के जिस गोदाम में आग लगी, उसमें बने 8 लेबर क्वार्टरों में 22 लोग रहते थे. सभी लोग आग लगने के बाद मची भगदड़ में खुद बाहर निकल गए, लेकिन एक परिवार के 5 लोग लपटों में घिर गए, जिन्हें बचाने के लिए बचाव दल ने स्थानीय लोगों की मदद से गोदाम के साथ लगते घरों की छत पर चढ़कर गोदाम की दीवार तोड़ी और लपटों में फंसे लोगों को बचाने का प्रयास किया, मगर 3 बच्चे और पिता को नहीं बचाया जा सकता. हादसे में गंभीर रूप से जली मां का अस्पताल में इलाज चल रहा है.

अधिक पढ़ें ...

यमुनानगर. हरियाणा के यमुनानगर में एक कबाड़ के गोदाम में लगी भीषण आग में 3 बच्चों सहित उनके पिता की झुलस कर मौत हो गई. यह आग बुधवार देर रात सिटी सेंटर के पास कबाड़ के एक गोदाम में लगी. आग इतनी भयंकर थी कि अगले दिन सुबह तक धुआं उठता रहा और दमकल कर्मी पानी का छिड़काव करते रहे. आग कैसे लगी, यह तो जांच का विषय बताया जा रहा है, लेकिन इसमें एक ही परिवार के तीन बच्चे और पिता की मौत ने सुनने वाले हर शख्स को हिलाकर रख दिया है. बच्चों की मां अभी भी अस्पताल में उपचाराधीन है.

मौके पर पहुंचे बचाव दल ने बताया कि इस गोदाम में बने 8 लेबर क्वार्टरों में 22 लोग रहते थे. सभी लोग आग लगने के बाद मची भगदड़ में खुद बाहर निकल गए, लेकिन एक परिवार के पांच लोग लपटों में घिर गए, जिन्हें बचाने के लिए बचाव दल ने स्थानीय लोगों की मदद से गोदाम के साथ लगते घरों की छत पर चढ़कर गोदाम की दीवार तोड़ी और लपटों में फंसे सभी लोगों को बचाने का प्रयास किया, मगर सिर्फ एक की जान ही बच पाई. इस हादसे में एक गाय की भी मौत होने की जानकारी दी जा रही है.

क्या बोले अस्पताल के डॉक्टर

सीएमओ ने बताया की उनके पास कुल पांच लोग आए, जिनमें से 4 लोगों की पहले से मौत हो चुकी थी, जिनमें एक डेढ़ साल का लड़का, दूसरा 5 साल के लड़का, करीब 10 वर्षीय बच्ची और इनके 35 साल के पिता शामिल है. एक 25 साल की महिला का इलाज चल रहा है.

परिजन बोले-सब खत्म हो गया

मृतक परिवार के परिजन गहरे सदमे में है. उनका कहना था कि कुछ दिनों बाद परिवार में एक बेटी की शादी भी थी, मगर इस हादसे में सब खत्म हो गया. जिसने सबसे पहले आग लगती हुई देखी वह तो इस हादसे में बच गई, मगर अपनों को जिंदा जलते हुए का जो मंजर उसके जेहन में बैठ गया उसे वह ताउम्र भुला नहीं पाएगी.

मेयर ने दिया जांच का आश्वासन

कैसे कबाड़ का गोदाम श्मशान बन गया और एक परिवार जिसने रात को सोते समय यह कल्पना भी नहीं की होगी कि आज रात की नींद उनके लिए कभी ना खुलने वाली मौत की नींद साबित होगी. दिल को झकझोर देने वाले दुःखद और दर्दनाक हादसे की खबर मिलते ही मेयर मदन चौहान भी मौके पर पहुंचे और घटनास्थल का जायजा लिया. उन्होंने इस पूरे मामले की जांच का आश्वासन दिया.

Tags: Fire brigade, Haryana news live, Haryana police

विज्ञापन

राशिभविष्य

मेष

वृषभ

मिथुन

कर्क

सिंह

कन्या

तुला

वृश्चिक

धनु

मकर

कुंभ

मीन

प्रश्न पूछ सकते हैं या अपनी कुंडली बनवा सकते हैं ।
और भी पढ़ें
विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें

अगली ख़बर