• Home
  • »
  • News
  • »
  • himachal-pradesh
  • »
  • 1993 में सुखराम और वीरभद्र सिंह में मतभेद थे, फिर भी जीती थी कांग्रेस : शिंदे

1993 में सुखराम और वीरभद्र सिंह में मतभेद थे, फिर भी जीती थी कांग्रेस : शिंदे

Sushil Kumar Shinde (File Photo)

Sushil Kumar Shinde (File Photo)

सुशील कुमार शिंदे ने कहा कि इस बार भी मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह सिंह ही चुनाव का नेतृत्व और कमान संभालेंगे. कार्यकर्ताओं में तालमेल बनाने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने भाजपा की नकल कभी न की है और ना ही भविष्य में करेंगे.

  • News18Hindi
  • Last Updated :
  • Share this:
    अनुसूचित विभाग कांग्रेस के राज्य स्तरीय कार्यक्रम में सोलन के सुबाथू में प्रदेश प्रभारी सुशील कुमार शिंदे बतौर मुख्य अतिथि शामिल हुए. कांग्रेस के अनुसूचित जाति विभाग के कार्यक्रम में शिंदे भाजपा पर जमकर बरसे.

    उन्होंने सभी कांग्रेस कार्यकर्ताओं को एकजुट होने का आह्वान किया. उन्होंने कहा कि जब वह साल 1993 में हिमाचल कांग्रेस प्रभारी थे, तब भी सुखराम और वीरभद्र सिंह के बीच काफी विवाद थे. लेकिन बाद में दोनों ही नेताओं ने एकजुटता का परिचय दिया. कांग्रेस को सत्ता में लाया गया था.

    उन्होंने कहा कि अभी भी प्रदेश में उन्हें वही हालात नजर आ रहे हैं, लेकिन उन्हें विश्वास है कि फिर से एकजुटता का परिचय हिमाचल के नेता देंगे. कांग्रेस को फिर से हिमाचल में विजयी बनाएंगे.

    सुशील कुमार शिंदे ने कहा कि इस बार भी मुख्यमंत्री वीरभद्र सिंह सिंह ही चुनाव का नेतृत्व और कमान संभालेंगे. कार्यकर्ताओं में तालमेल बनाने की कोशिश की जा रही है. उन्होंने कहा कि कांग्रेस ने भाजपा की नकल कभी न की है और ना ही भविष्य में करेंगे.

    उन्होंने यह भी कहा कि भविष्य में प्रदेश का मुख्यमंत्री कौन होगा ,यह कांग्रेस हाईकमान ही तय करेगी. मौके पर प्रदेशा अध्यक्ष सुखविन्द्र सिंह सुक्कू, समाजिक न्याय और अधिकारिता मंत्री धनीराम शांडिल्य बी मौजूद थे.

    पढ़ें Hindi News ऑनलाइन और देखें Live TV News18 हिंदी की वेबसाइट पर. जानिए देश-विदेश और अपने प्रदेश, बॉलीवुड, खेल जगत, बिज़नेस से जुड़ी News in Hindi.

    विज्ञापन
    विज्ञापन

    विज्ञापन

    टॉप स्टोरीज