अपना शहर चुनें

States

भारत-पाकिस्तान युद्ध की 54वीं वर्षगांठ पर याद किए गए परमवीर चक्र विजेता अब्दुल हमीद

भारत-पाकिस्तान युद्ध 1965 योद्धाओं को दी गई श्रद्धांजलि
भारत-पाकिस्तान युद्ध 1965 योद्धाओं को दी गई श्रद्धांजलि

भारत-पाकिस्तान-1965 के युद्ध की 54वीं वर्षगांठ पर परमवीर चक्र विजेता अब्दुल हमीद को याद किया गया.

  • Share this:
बिलासपुर. भारत और पाकिस्तान के बीच 1965 (Indo-Pakistani War of 1965) के युद्ध की 54वीं वर्षगांठ पर परमवीर चक्र (Paramveer Chakra) विजते अब्दुल हमीद (Abdul Hamid) को याद किया गया. इस अवसर पर आयोजित राज्य स्तरीय समारोह में कारगिल युद्ध (Kargil War) के हीरो से विख्यात हुए ब्रिगेडियर खुशहाल ठाकुर बतौर मुख्य अतिथि शामिल होकर 1965 के युद्ध में शहादत को प्राप्त सैनिकों को श्रद्धांजलि दी. उन्होंने कहा कि आज हम उन योद्धाओं को, उन रणबाकुरों को को याद कर रहे हैं जिनकी वजह से हम सुरक्षित हैं. ऐसे समय में हम उनके परिवारों को याद करते हैं.

उन्होंने कहा कि हिमाचल (Himachal) को वीरों की भूमि कहा जाता है. हमारी आने वाली पीढ़ी ये जाने कि यहां के करीब 200 योद्धाओं ने अपने जीवन की आहुति दी है. इनमें बिलासपुर के 22 योद्धाओं ने बलिदान दिए. उन्होंने कहा, 'हमारा मकसद है कि हम हर हिमाचलवासी के मन में देश भक्ति की प्रेरणा जगा सकें.'

करगिल के हीरो ब्रिगेडियर खुशहाल ठाकुर ने कहा- हमारा मकसद है कि हम हर हिमाचलवासी के मन में देशभक्ति की प्रेरणा जगा सकें.




चंद महीनों में जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य हो जाएंगे
ब्रिगेडियर खुशहाल ठाकुर ने जम्मू-कश्मीर (Jammu & Kashmir) से धारा-370 हटाए जाने पर कहा कि यह बहुत अच्छी पहल है. सर्जिकल स्ट्राइक के बाद बालाकोट हुआ और अब धारा-370 हटाई गई है. सरकार, प्रशासन और सेना की मदद से जम्मू-कश्मीर में हालात सामान्य होते जा रहे हैं. उन्होंने कहा कि आने वाले चंद महीनों में वहां के हालात सामान्य हो जाएंगे. हमारा हर कश्मीरी भाई देश की मुख्य धारा में शामिल हो जाएगा. साथ ही उन्होंने कहा कि पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर हमेशा से भारत का अटूट हिस्सा रहा है.



ये भी पढ़ें - सेक्स रैकेट: एक और आरोपी गिरफ्तार, शिमला कॉल गर्ल नताशा’ पर होती थी डील

ये भी पढ़ें - सरकार नहीं कर सकी खनिज फंड का 100 करोड़
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज