Bilaspur News: आटे में रेत की मिलावट, फूड इंस्पेक्टर ने मौके पर ही बनवाई चपाती, मिल मालिक का खाने से इनकार

बिलासपुर जिले की एक फ्लोर मिल से मिलावटी आटा सप्लाई किया जा रहा था. (सांकेतिक तस्वीर)

बिलासपुर जिले की एक फ्लोर मिल से मिलावटी आटा सप्लाई किया जा रहा था. (सांकेतिक तस्वीर)

Adulteration in Flour: मिलावटी आटे की सरकारी डिपो में सप्लाई होनी थी. समय रहते फूड इंस्‍पेक्‍टर ने इस गोरखधंधे का खुलासा कर दिया.

  • News18Hindi
  • Last Updated: March 25, 2021, 2:39 PM IST
  • Share this:
बिलासपुर. आटे में रेत मिलाकर उसे बेचा जा रहा था. जब फूंड इंस्पेक्टर ने मामला पकड़ा तो मालिक आनाकानी करने लगा. मौके पर ही आटे की रोटी बनवाई तो मालिक ने खाने से इनकार कर दिया. मामला हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर (Bilaspur) जिले का है.

बिलासपुर जिले की एक फ्लोर मिल से मिलावटी आटा सप्लाई किया जा रहा था. आटे में रेत मिलाई जाती थी. शिकायत के बाद सिविल सप्लाई के फूड इंस्पेक्टर ने मौके पर जांच की. यही नहीं, चपाती बनवाकर मिल के मालिक को खाने को कहा, तो उसने खाने से इनकार कर दिया. बाद में उन्होंने अपनी गलती मान ली.

फ्लोर मिल पर दबिश दी

जानकारी के अनुसार, घुमारवीं में सिविल सप्लाई विभाग के इंस्पेक्टर विनोद कपिल ने बिलासपुर की एक फ्लोर मिल के गोदाम में बुधवार को दबिश दी थी. वहां पर मिलावटी आटा मिला और जांच में रेत मिलाने का शक जताया गया. मौके पर ही आटे की चपाती बनवाई और मिल के मालिक को खाने के लिए कहा तो मिल मालिक ने खाने से इनकार कर दिया.
सप्लाई को वापस भेजा

दरअसल, बिलासपुर फ्लोर मिल से 90 क्विंटल आटे की सप्लाई एक ट्रक में सिविल सप्लाई घुमारवीं के गोदाम में की गई थी. जैसे ही गाड़ी गोदाम में पहुंची सिविल सप्लाई के फूड इंस्पेक्टर विनोद कपिल मौके पर पहुंच गए. इस आटे की सरकारी डिपो में सप्लाई होनी थी. मीडिया रिपोर्ट के अनुसार, सिविल सप्लाई के फूड इंस्पेक्टर विनोद कपिल ने मामले की पुष्टि की है और बताया कि काफी दिन से मिलावट की शिकायत आ रही थी. मौके पर चपाती बनवाकर टेस्ट किया तो इसमें रेत की मिलावट पाई गई. गाड़ी 90 क्विंटल आटे की सप्लाई लेकर आई थी और गाड़ी को वापस भेज दिया गया है. फिलहाल सप्लाई बंद रहेगी.
अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज