लाइव टीवी

हिमाचल का पहला स्कूल, जहां बायोमीट्रिक मशीन से लग रही बच्चों की हाजिरी

Arun Chandel | News18 Himachal Pradesh
Updated: November 18, 2019, 12:17 PM IST
हिमाचल का पहला स्कूल, जहां बायोमीट्रिक मशीन से लग रही बच्चों की हाजिरी
बिलासपुर का कोठीपूरा स्कूल.

Bio-metric attendance in Himachal's Schools: शिक्षा विभाग ने जहां शिक्षकों के लिए स्कूलों में बायोमीट्रिक मशीनें लगाने का अभियान शुरू किया है, जिसका कई शिक्षक विरोध कर रहे हैं. वहीं राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कोठीपुरा में विद्यार्थियों के लिए बायोमीट्रिक हाजिरी योजना शुरू की.

  • Share this:
बिलासपुर. हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर (Bilaspur) जिले का कोठीपुरा (Kothipura) सरकारी स्कूल प्रदेश का ऐसा पहला विद्यालय बन गया है, जहां विद्यार्थियों की अब बायोमीट्रिक मशीन (Bio-metric Machine ) से हाजिरी (Attendence) लग रही है. 11वीं और 12वीं के बच्चों की ही बायोमीट्रिक हाजिरी शुरू की गई है और अगले सत्र से सभी कक्षाओं के बच्चों को भी सुविधा से जोड़ा जाएगा. स्कूल प्रबंधन का तर्क है कि इससे बच्चों में अनुशासन की भावना आएगी.

अभी केवल दो कक्षाओं की हाजिरी
अभिभावक भी स्कूल की इस पहल की सराहना कर रहे हैं. योजना का शुभारंभ प्रधानाचार्य अरुण गौतम ने किया. प्रधानाचार्य अरुण गौत्तम ने बताया कि हाजिरी बायोमीट्रिक मशीन पर हाथ के अंगूठे या अंगुलियों के निशान से लगेगी. इस वर्ष ट्रायल के तौर पर जमा एक और जमा दो के विद्यार्थियों की
बायोमीट्रिक हाजिरी लगेगी.

अगले सत्र में पूरा स्कूल दायरे में आएगा
सत्र 2020-21 से सभी विद्यार्थियों के लिए यह सुविधा होगी. स्कूल प्रबंधन समिति के अध्यक्ष जोगिंदर सिंह व समस्त कार्यकारिणी ने इसका स्वागत किया है. प्रधानाचार्य अरुण गौतम ने बताया कि विद्यार्थियों में अनुशासन की भावना तथा समय का महत्व समझाने के उद्देश्य से यह प्रणाली सार्थक सिद्ध होगी.

प्रधानाचार्य अरुण गौतम
प्रधानाचार्य अरुण गौतम.

Loading...

टीचरों की बायोमीट्रिक हाजिरी का विरोध
शिक्षा विभाग ने जहां शिक्षकों के लिए स्कूलों में बायोमीट्रिक मशीनें लगाने का अभियान शुरू किया है, जिसका कई शिक्षक विरोध कर रहे हैं. वहीं राजकीय वरिष्ठ माध्यमिक पाठशाला कोठीपुरा में विद्यार्थियों के लिए बायोमीट्रिक हाजिरी योजना शुरू की.

शिक्षकों का तर्क
शिक्षकों ने बायोमीट्रिक हाजिरी का विरोध जताया और तर्क दिया है कि वह अपने नाम पर सिम कॉर्ड नहीं खरीदेंगे. दरअसल शिक्षकों के लेट स्कूल आने और समय से पहले चले जाने की शिकायतें अक्सर सामने आती थी. इसी को लेकर विभाग ने बायोमीट्रिक अटेंडेंस लगाने की पहल की थी, जिसका फिलहाल विरोध हो रहा है.

ये भी पढ़ें: कार हादसा: हाथों की मेहंदी भी नहीं उतरी, लव मैरिज के 5 दिन बाद उज़ड़ा सुहाग

IGMC में हुआ हिमाचल का तीसरा किडनी ट्रांसप्लांट, पत्नी ने पति को दी किडनी

हिमाचल: जबरन धर्म परिवर्तन का आरोप, कार्यक्रम में हंगामा, पुलिस जांच में जुटी

VIDEO: रोड़ रेज के चलते हाईवे-21 पर वाहन चालकों की दबंगई, चले लात-घुसे

हिमाचल: सुंदरनगर के बाद सरकाघाट में फेसबुक ID हैककर ठगी की कोशिश

22 साल के जालसाज ने डुप्लीकेट सिम कार्ड से खाते से उड़ाए थे 33 लाख, गिरफ्तार

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बिलासपुर (हिमाचल) से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: November 18, 2019, 11:38 AM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...