होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /हिमाचल चुनाव परिणाम में कांग्रेस को गड़बड़ी की आशंका, बार-बार बिजली कटने और इंटरनेट चालू रहने के आरोप

हिमाचल चुनाव परिणाम में कांग्रेस को गड़बड़ी की आशंका, बार-बार बिजली कटने और इंटरनेट चालू रहने के आरोप

उपायुक्त को ज्ञापन सौंपते हुए बिलासपुर सदर से कांग्रेस प्रत्याशी बंबर ठाकुर के प्रभारी अधिकृत एजेंट अनिल मिंटू.

उपायुक्त को ज्ञापन सौंपते हुए बिलासपुर सदर से कांग्रेस प्रत्याशी बंबर ठाकुर के प्रभारी अधिकृत एजेंट अनिल मिंटू.

Himachal Pradesh Election: हिमाचल प्रदेश चुनाव में जीत के प्रति आशान्वित कांग्रेस प्रत्याशियों को ईवीएम में गड़बड़ी किए ...अधिक पढ़ें

हाइलाइट्स

हिमाचल प्रदेश चुनाव में कांग्रेस पार्टी को जीत का भरोका, पर ईवीएम में गड़बड़ी की आशंका.
बिलासपुर सदर प्रत्याशी ने बिजली कटने और इंटरनेट कनेक्शन चालू रहने का लगाया आरोप.
कांग्रेस प्रत्याशी बंबर ठाकुर के प्रभारी अधिकृत एजेंट अनिल मिंटू ने उपायुक्त को सौंपा ज्ञापन.

बिलासपुर. हिमाचल प्रदेश में 12 नवंबर को विधान सभा चुनाव संपन्न होने के बाद से ही कांग्रेस पार्टी के कार्यकर्ता लगातार ईवीएम की सुरक्षा में लगे हैं. इसी क्रम में कई बार सत्तारूढ़ दल पर गड़बड़ी करने का अंदेशा भी जाहिर करते हैं. पहले मंडी जिले से, फिर सोलन से कांग्रेस प्रत्याशी ने इसी तरह का अंदेशा जाहिर किया था. अब बिलासपुर सदर से कांग्रेस प्रत्याशी बंबर ठाकुर के प्रभारी इलेक्शन एजेंट अनिल मिंटू ने उपायुक्त से आग्रह किया है कि बिलासपुर के स्ट्रॉंग रूम में रखी गई ईवीएम की सुरक्षा की ओर ध्यान दिया जाए. उन्होंने उपायुक्त से मांग की है कि उस क्षेत्र में जैमर की व्यवस्था की जाए ताकि इंटरनेट न चल सके. कांग्रेस प्रत्याशी ने ये मांग इसलिए की है कि इंटरनेट के माध्यम से ईवीएम के सॉफ्टवेयर में किसी प्रकार की कोई छेड़छाड़ न हो सके.

उपायुक्त को लिखे गए पत्र में उन्होंने कहा कि अभी तक इस प्रकार की कोई व्यवस्था नहीं की गई है. कांग्रेस पार्टी के अधिकृत एजेंट को भी चुनाव अधिकारी द्वारा अधिकृत किए जाने के बावजूद भी वहां तैनात पुलिस अंदर बैठने नहीं दे रही है. यहां तक कि मोबाइल फोन भी नहीं ले जाने दिया जा रहा है, जबकि पुलिस प्रशासन के पास स्वयं मोबाइल फोन हैं. उन्होंने उपायुक्त से आग्रह किया है कि इस बारे में भी स्पष्ट आदेश जारी किए जाएं कि क्या केवल यह कांग्रेस पार्टी के एजेंट को ही रोके जाने की साजिश है.

कांग्रेस प्रत्याशी ने कहा कि स्ट्रॉंग रूम में बिजली की वैकल्पिक व्यवस्था भी नहीं की जा रही है. शुक्रवार को भी सुबह बिजली चली गई और उस दौरान लगभग 15 मिनट तक जो सीसीटीवी के माध्यम से कंट्रोल रूम में स्क्रीन पर गतिविधि देखी जा रही थी, वह बंद रही. उन्होंने कहा कि कंट्रोल रूम कॉलेज के अधीक्षक के कमरे में बनाया गया है, जबकि उस कमरे से उनकी अपनी कार्यप्रणाली भी चल रही है. इसलिए इस कंट्रोल रूम को किसी अन्य कमरे में स्थानांतरित किया जाए.

Tags: Assembly election 2022, Bilaspur news, Himachal election

टॉप स्टोरीज
अधिक पढ़ें