बिलासपुर: तीन महीने पहले गोद ली थी बेटी, कोरोना ने ली पिता की जान

कोरोना से पिता का निधन.

कोरोना से पिता का निधन.

Corona virus in Himachal: हिमाचल में अब तक सात बच्चों के सिर से कोरोना की वजह से माता-पिता का साया उठ गया है. सीएम ने ऐलान किया है कि सरकार 18 साल तक इन बच्चों को 2500 रुपये प्रति महीना खर्च देगी.

  • Share this:

बिलासपुर. बेटी की चाह में शख्स ने तीन महीने पहले ही एक बच्ची (Child Adoption) को गोद लिया था. लेकिन उसका बेटी के साथ जीने का सपना अधूरा रह गया. कोरोना संक्रमण ने 38 साल के अमन की जान ले ली और परिवार का चैन छीन लिया. मामला हिमाचल प्रदेश के बिलासपुर (Bilaspur) जिले का है. बाड़ी गांव के अमन की कोरोना से मौत हो गई है.

जानकारी के अनुसार, अमन घुमारवीं उपमंडल की पडयालग पंचायत के बाड़ी गांव का रहने वाला था और पिछले कुछ दिनों से कोरोना संक्रमित था. तबीयत ज्यादा खराब होने के कारण अमन को मंडी के नेरचौक स्थित कोविड अस्पताल में भर्ती किया गया था. यहां इलाज के दौरान सोमवार रात करीब ढाई बजे अमन ने दम तोड़ दिया. अमन का एक 12 वर्ष का बेटा है. तीन महीने पहले ही अमन ने एक बच्ची को गोद लिया था. अब उस बेटी के सिर से पिता का साया उठ गया.

पिता की जिम्मेदारी अब मां पर आई

पिता की मौत के बाद दोनों बच्चों की जिम्मेदारी मां पर आ गई है. अमन की पत्नी गृहिणी है, परिवार में सास और अमन के बड़े भाई का परिवार है, लेकिन वो अलग रहते हैं. अब बिना किसी आमदनी के दोनों बच्चों का पालन पोषण अकेले करना अमन की पत्नी के लिए आसान नहीं होगा.
हिमाचल में अब तक सात बच्चे हुए अनाथ

हिमाचल में अब तक सात बच्चों के सिर से कोरोना की वजह से माता-पिता का साया उठ गया है. सीएम ने ऐलान किया है कि सरकार 18 साल तक इन बच्चों को 2500 रुपये प्रति महीना खर्च देगी. सीएम ने कहा कि प्रदेश सरकार किसी अन्य परिवार के साथ रह रहे 18 वर्ष की आयु तक के बच्चों की देखरेख के लिए 2500 रुपये प्रतिमाह प्रदान कर रही है.

अगली ख़बर

फोटो

टॉप स्टोरीज