लाइव टीवी

बिलासपुर के किसानों को अब नहीं सता पाएंगे जानवर, सोलर फेंसिंग से सुरक्षित हुए खेत

Arun Chandel | News18 Himachal Pradesh
Updated: December 13, 2019, 5:48 PM IST
बिलासपुर के किसानों को अब नहीं सता पाएंगे जानवर, सोलर फेंसिंग से सुरक्षित हुए खेत
सोलर फेंसिंग को तोड़कर कोई भी जानवर खेतों में प्रवेश नहीं कर सकेगा.

सोलर फेंसिंग (Solar Fencing) से जानवरों को करंट का हल्का सा झटका (Animal receive current shock) मात्र लगता है, उन्हें कोई नुकसान नहीं होता है. करंट के इस एक झटके के बाद ही जानवर खेतों में दोबारा घुसने की कोशिश नहीं करते हैं.

  • Share this:
बिलासपुर. सोलर फेंसिंग (Solar fencing) के जरिए अब किसान (Farmer) अपनी फसलों को जंगली जानवरों (Animals) से बचा सकेंगे. अब जंगली जानवर किसानों की खेती को नष्ट (No damage to Crop) नहीं कर पाएंगे. बता दें कि सोलर फेंसिंग से जानवरों को करंट का हल्का सा झटका (Animal receive current shock) मात्र लगता है, उन्हें कोई नुकसान नहीं होता है. करंट के इस एक झटके के बाद ही जानवर खेतों में दोबारा घुसने की कोशिश नहीं करते हैं. सोलर फेंसिंग ने कृषि (Agriculture) के क्षेत्र में नई राह दिखाने के अलावा किसानों में नई उम्मीदें पैदा की है.

फसल नष्ट कर देते थे जानवर

इससे पहले किसान खेतों की रखवाली के लिए खेतों के चारों तरफ कटीली झाड़ियों की बाड़ लगाया करते थे, लेकिन इसे जंगली जानवर तोड़कर खेतों में प्रवेश कर जाया करते थे और फसलें नष्ट कर देते थे. इसके बाद किसानों ने लकड़ी के पोल और फेंसिंग तार का इस्तेमाल किया, लेकिन जंगली जानवर इन्हें भी तोड़कर खेतों में प्रवेश करने लगे. इसके बाद ही किसानों को एक नई विधि सोलर फेंसिंग का पता चला. कृषि विभाग द्वारा चलाई गई इस योजना में सोलर फेंसिंग के लिए किसानों को 20 प्रतिशत पैसे खर्चे करने होते हैं जबकि 80 प्रतिशत पैसे कृषि विभाग अनुदान के रूप में देता है. इस योजना के तहत किसानों ने सोलर फेंसिंग का इस्तेमाल किया और उन्हें लाभ मिलने लगा.

'सोलर फेंसिंग' से लगता है करंट का हल्का झटका

सोलर फेंसिंग को तोड़कर कोई भी जानवर खेतों में प्रवेश नहीं कर सकता है. इस 'सोलर फेंसिंग' की ऊंचाई 10 फीट हुआ करती है और इसमें लगी सभी 11 तारों में 24 घंटे करंट रहता है. जब भी कोई जानवर फेंसिंग तोड़कर खेत के अंदर जाने की कोशिश करता है उसे करंट का हल्का झटका लगता है. इससे जानवर को किसी भी प्रकार का नुकसान नहीं पहुंचता है और फिर वह जानवर इस ओर रुख नहीं करता है.

सोलर फेंसिंग उपलब्ध कराने वाली कंपनी ने फेंसिंग की तारों से दूर रहने के निर्देश बोर्ड लगाए हैं.


बिलासपुर के किसान कमल देव ने बताया कि सोलर फेंसिंग करने से उनकी फसलें बच गई. उन्होंने कहा कि अब वह अपने खेतों में सब्जियां उगा रहे हैं और उन्हें लाभ हो रहा है. उन्होंने कहा कि सरकार सोलर फेंसिंग के लिए सब्सिडी भी दे रही है. इसका लाभ हर किसान उठा सकता है. उन्होंने कहा कि सोलर फेंसिंग की तारों से सटने पर इंसान को भी बस करंट का हल्का सा झटका महसूस होता है, उसे कोई नुकसान नहीं होता है. फिर भी सोलर फेंसिंग उपलब्ध कराने वाली कंपनी ने फेंसिंग की तारों से दूर रहने के निर्देश बोर्ड लगाए हैं.

ये भी पढ़ें - हिमाचल विधानसभा का शीत सत्र: 5 सत्रों में चौथी बार कांग्रेस ने किया वॉकआउट

ये भी पढ़ें - सौर सिंचाई योजना किसानों के लिए बना वरदान, बचने लगा बिजली बिल व डीजल का खर्च

News18 Hindi पर सबसे पहले Hindi News पढ़ने के लिए हमें यूट्यूब, फेसबुक और ट्विटर पर फॉलो करें. देखिए बिलासपुर (हिमाचल) से जुड़ी लेटेस्ट खबरें.

First published: December 13, 2019, 5:32 PM IST
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर