होम /न्यूज /हिमाचल प्रदेश /हिमाचल चुनाव: कांग्रेस को एक और झटका, पूर्व सांसद सुरेश चंदेल ने छोड़ी पार्टी, भाजपा में हुए शामिल

हिमाचल चुनाव: कांग्रेस को एक और झटका, पूर्व सांसद सुरेश चंदेल ने छोड़ी पार्टी, भाजपा में हुए शामिल

22 अप्रैल 2019 को  पूर्व सांसद सुरेश चंदेल ने भाजपा छोड़कर कांग्रेस का हाथ थाम लिया था। अब फिर से वापस भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं.

22 अप्रैल 2019 को पूर्व सांसद सुरेश चंदेल ने भाजपा छोड़कर कांग्रेस का हाथ थाम लिया था। अब फिर से वापस भाजपा में शामिल होने जा रहे हैं.

Suresh Chandel Left Congress: गौरतलब है कि 22 अप्रैल 2019 को पूर्व सांसद सुरेश चंदेल ने भाजपा छोड़कर कांग्रेस का हाथ थ ...अधिक पढ़ें

बिलासपुर. हिमाचल प्रदेश में कांग्रेस को एक और झटका लगा है. हमीपुर से पूर्व सांसद सुरेश चन्देल भाजपा में शामिल हो गए हैं. मंगलवार को वह दोपहर दो बजे के बाद भाजपा में शामिल हुए हैं. बता दें कि जब वह सांसद बने थे तो भाजपा की तरफ से चुनाव लड़ा था. सुरेश ने अपना इस्तीफा कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी व प्रदेश अध्यक्ष प्रतिभा सिंह को भेज दिया है. सुरेश चंदेल आज भाजपा के राष्ट्रीय अध्यक्ष जगत प्रकाश नड्डा की मौजूदगी में पार्टी में शामिल हुए हैं. सुरेश चंदेल ने कहा कि वह कांग्रेस की कार्यशैली से खुश नहीं है और कहा कि 2019 में भाजपा छोड़कर कांग्रेस में शामिल हुए, लेकिन देह और आत्मा भाजपा में ही थी.

गौरतलब है कि 22 अप्रैल 2019 को  पूर्व सांसद सुरेश चंदेल ने भाजपा छोड़कर कांग्रेस का हाथ थाम लिया था. अब फिर से वापस भाजपा में शामिल हुए हैं. मंगलवार को बिलासपुर में  राष्ट्रीय अध्यक्ष जेपी नड्डा के समक्ष और मुख्यमंत्री जय राम ठाकुर से मुलाकात की और घर वापसी की.

News18 Hindi
सुरेश चंदेल हमीरपुर से तीन बार सांसद रह चुके हैं.

दरअसल, कांग्रेस पार्टी में भी पिछले तीन साल से कोई भी अहम जिम्मेदारी नहीं दिए जाने पर सुरेश चंदेल कांग्रेस पार्टी से अंदरखाते नाराज चल रहे थे. इस बीच चर्चा चली थी कि वह आम आदमी पार्टी में शामिल हो सकते हैं. लेकिन अब सभी चर्चाओं को विराम लगाते हुए सुरेश चंदेल ने घर वापसी की है. अहम बात यह है कि सुरेश चंदेल हमीरपुर से तीन बार सांसद रह चुके हैं. अनुराग ठाकुर से पहले वह इस सीट से चुनाव लड़ते थे. सुरेश चंदेल हिमाचल प्रदेश भाजपा के प्रदेशाध्यक्ष भी रह चुके  हैं.

सवाल के बदले नोट

सुरेश चंदेल के खिलाफ लोकसभा में प्रश्न पूछने के एवज में पैसे लेने के आरोप भी लगे थे. उस समय वह भाजपा की तरफ से हमीरपुर संसदीय सीट से सांसद थे और इन आरोपों के कारण उन्हें संसद से बर्खास्त किया गया था. अब तक मामला अदालत में है और इस मामलें में जल्द फैसला भी आ सकता है.

Tags: Himachal pradesh, Himachal Pradesh Assembly Election, Shimla News

विज्ञापन

टॉप स्टोरीज

अधिक पढ़ें