हमीरपुर-शिमला NH : 4 माह पूर्व बनी सड़क जगह-जगह टूटने लगी, लोगों ने लगाया भ्रष्टाचार का आरोप

शिमला राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर जिला बिलासपुर के ब्रम्हपुखर से लेकर नम्होल राजघाटी तक सड़क कई जगहों पर टूट गई है. करीब चार माह पूर्व ही इस राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर डामरीकरण का कार्य एनएचआई ने एक निजी फर्म से करवाया था.

Arun Chandel | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 14, 2019, 2:52 PM IST
हमीरपुर-शिमला NH : 4 माह पूर्व बनी सड़क जगह-जगह टूटने लगी, लोगों ने लगाया भ्रष्टाचार का आरोप
मात्र चार माह में हमीरपुर-शिमला राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर जिला बिलासपुर के ब्रम्हपुखर से लेकर नम्होल राजघाटी तक टूटने लगी सड़क
Arun Chandel | News18 Himachal Pradesh
Updated: August 14, 2019, 2:52 PM IST
हमीरपुर-शिमला राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर जिला बिलासपुर के ब्रम्हपुखर से लेकर नम्होल राजघाटी तक सड़क कई जगहों पर टूट गई है. करीब चार माह पूर्व ही इस राष्ट्रीय उच्च मार्ग पर डामरीकरण का कार्य एनएचएआई ने एक निजी फर्म से करवाया था. डामरीकरण का कार्य समाप्त होने के कुछ दिनों बाद ही सड़क पर से तारकोल उखड़ने लग गई. इस कारण सड़क पर कई जगह गड्ढे पड़ गए हैं. इसके चलते स्थानीय जनता के आलावा शिमला से मनाली व धर्मशाला की ओर आवागमन करने वाले पर्यटकों को भारी परेशानियों का सामना करना पड़ रहा है. सड़क की खराब स्थिति के चलते नम्होल व ब्रम्हपुखर आदि स्थानों पर सड़क से धूल उड़ने के कारण अपने घरों व दुकानों में लोगों का बैठना मुश्किल हो गया है. इसके अलावा सड़क की खराब दशा के चलते कई दुर्घटनाएं भी घटित हो चुकी हैं. लेकिन शासन-प्रशासन इसकी सुध लेता नजर नहीं आ रहा है.

एनएचएआई के अधिकारियों ने गुणवत्ता का ध्यान नहीं रखा

स्थानीय लोग सड़क डामरीकरण के कार्य में भ्रष्टाचार का आरोप लगा रहे हैं.


स्थानीय जनता जानना चाहती है कि जब इस राजमार्ग पर डामरीकरण का कार्य हुआ था तब संबंधित विभाग एनएचएआई के जिम्मेदार उच्च अधिकारियों ने गुणवत्ता का ध्यान क्यों नहीं रखा. आम जनता पूछ रही है कि जब डामरीकरण करने के कुछ समय के बाद ही सड़क उखड़ने लग गई तो ऐसी स्थिति में इस कार्य के लिए अधिकृत निजी फर्म को करोड़ों रुपए की धनराशि की आदायगी किस आधार पर की गई. ऐसे में लोग सड़क डामरीकरण के कार्य में भ्रष्टाचार का आरोप लगाने लगे हैं.

ब्रम्हपुखर से लेकर नम्होल राजघाटी की स्थानीय जनता ने मुख्यमंत्री जयराम ठाकुर से आग्रह किया है कि शीघ्र ही इस महत्वपूर्ण राजमार्ग की दशा सुधारी जाए ताकि स्थानीय जनता व इस राजमार्ग से आवागमन करने वाले पर्यटकों को और परशानियों का सामना नहीं करना पड़े. इस समय इस सड़क पर वाहन चालकों के लिए वाहन चलाना मुसीबत बन गई है. आए दिन दुर्घटनाएं घट रही हैं.

ये भी पढ़ें - क्या उपचुनाव से हिमाचल विधानसभा में फिर एंट्री करेंगे धूमल?

ये भी पढ़ें - हिमाचल: 15 वर्ष में नहीं बन पाई शहीद के नाम पर 1100 मी. सड़क
First published: August 14, 2019, 2:52 PM IST
Loading...
पूरी ख़बर पढ़ें अगली ख़बर
Loading...