'एचआरटीसी प्रबंधन ने पांच करोड़ रुपये की धनराशि का किया गोलमाल'

Arun Chandel | ETV Haryana/HP
Updated: September 16, 2017, 2:24 PM IST
'एचआरटीसी प्रबंधन ने पांच करोड़ रुपये की धनराशि का किया गोलमाल'
बिलासपुर का बस अड्डा
Arun Chandel | ETV Haryana/HP
Updated: September 16, 2017, 2:24 PM IST
हिमाचल प्रदेश मजदूर संघ के प्रदेश अध्यक्ष शंकर सिंह ठाकुर ने बिलासपुर में कहा है कि एचआरटीसी की कमाई निजी बसों के परिवहन मंत्री के चहेते मालिकों की जेब में ही जा रही है. उन्होंने कहा कि प्रदेश के परिवहन मंत्री एचआरटीसी को नुकसान पहुंचा रहे हैं.

शंकर सिंह ठाकुर ने कहा कि अब कहीं जाकर एचआरटीसी पेंशनर संघर्ष समिति ने निगम में भ्रष्टाचार व्याप्त होने की बात मानते हुए एचआरटीसी में वर्ष 2013 के बाद हुए सभी कार्यों की सीबीआई से जांच कराने की मांग की है.

शंकर सिंह ने कहा कि जो पेंशनर्स संघर्ष समिति परिवहन मंत्री जी एस बाली के साथ साये की तरह रहकर मंत्री का गुणगान करती रही व उन्हें सम्मानित करती रही उसी ने अब पहली बार एचआरटीसी में व्याप्त भ्रष्टाचार के खिलाफ हिम्मत दिखाकर 'देर आयद दुरुस्त आयद, की कहावत को चरितार्थ किया जिसका हिमाचल परिवहन मजदूर संघ स्वागत करता है.

उन्होंने कहा कि संघ एचआरटीसी में हुए भ्रष्टाचारों की पहले ही तथ्यों सहित शिकायत राज्य सतर्कता एवं भ्रष्टाचार निरोधक ब्यूरो को कर चुका है. शंकर ने बताया कि एचआरटीसी में वाहन क्रय कमेटी को दरकिनार कर बिना जरूरत के भारी मात्रा में बसों की खरीद हुई हैं.

शंकर सिंह ने कहा कि नीले रंग की 800 बसों में से किसी भी बस की छत पर सामान ले जाने के लिए कैरियर नहीं लगे हैं. उन्होंने कहा कि यहां करीब 5 करोड़ रुपये का गोलमाल हुआ है, वहीं स्पेयर पार्ट्स खरीद में भी भारी गोलमाल हुआ है. उनके अनुसार, भर्तियों, पदोन्नतियों में भी जमकर भ्रष्टाचार हुआ.
First published: September 16, 2017
पूरी ख़बर पढ़ें
अगली ख़बर